आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021/UP Rojgar Abhiyan: ऑनलाइन आवेदन, रजिस्ट्रेशन फॉर्म

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान की रजिस्ट्रेशन | Aatmnirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan Apply Online Registration Form | Aatmnirbhar UP Rojgar Abhiyan | आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान,

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सुबह 11 बजे लॉन्च कर दिया गया। यूपी स्वरोजगार अभियान 2021 की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिये उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी और अन्य सम्बंधित विभाग के मंत्रियो की मौजूदगी में की गयी है।

इस वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रदेश के सभी जिलों के ग्रामीण कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखते हुए कॉमन सर्विस सेंटरों और कृषि विज्ञान केंद्रों के माध्यम से शामिल हुए। आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021 के ज़रिये 1 करोड़ लोगों को राज्य सरकार द्वारा रोजगार के अवसर प्रदान किये जाने का प्रावधान किया है।

Aatmnirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan 2021/उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान

हम जानते हैं कि कोरोना वायरस के कारण हुए लॉक-डाउन की वजह से लगभग 30 लाख प्रवासी कामगार वापस आये हैं। राज्य के 31 जिलों में वापस लौटने वाले श्रमिकों-कामगारों की संख्या 25000 से अधिक रही है। राज्य में वापस लौटे इस श्रमिक-कामगारों को रोजगार प्रदान करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021 की शुरुआत की है।

इस योजना के तहत एक साथ 1 करोड़ लोगो को रोजगार प्रदान करने वाला पहला देश का राज्य होगा।जो भी इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो उन्हें इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना होगा। इस योजना के तहत अलग-अलग  राज्यों से घर लौटे प्रवासी श्रमिक और कामगार के साथ साथ स्थानीय लोगो को भी इस योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा।

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021/UP Rojgar Abhiyan

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

यूपी आत्मनिर्भर रोजगार अभियान का उद्देश्य

हम जानते हैं कि पूरा देश कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रहा है, जिससे देश के लोग कोरोना वायरस की वजह से डरे हुए हैं। इस संक्रमण को काम करने के लिए पुरे देश में हुए लॉक-डाउन की वजह से अपने घर वापस आ गए हैं। परन्तु घर वापस आकर उनके करने के लिए कोई रोजगार नहीं है। जिससे कि लोगो को जीवन-यापन करने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

राज्य सरकार द्वारा शुरू की गयी आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021 का उद्देश्य अलग-अलग राज्य से वापस आये श्रमिकों को रोजगार प्रदान करना है। जिससे की वे अपने परिवार का पालन पोषण सही तरीके से कर पाएं। इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा लगभग 1 करोड़ लोगो को रोजगार प्रदान किया जायेगा, जिसमे रोजगार का लाभ उठाने के लिए स्थानीय लोग भी शामिल हैं।

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021/UP Rojgar Abhiyan

पीएम किसान FPO योजना 2021

Highlights of UP Rojgar Abhiyan

योजना का नामआत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान
आरम्भ की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा
लाभार्थीराज्य के प्रवासी मजदूर
आवेदन की प्रक्रियाऑफलाइन /ऑनलाइन
उद्देश्यश्रमिकों को रोजगार के अवसर प्रदान करना
श्रेणीउत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटजल्द ही

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021 का प्रमुख विवरण

  • प्रधानमंत्री जी के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंस में शुरू की गयी इस योजना के दौरान कहा कि अभियान के तहत 25 तरह के कार्यों को चिह्नित किया गया है, जिनमें प्रवासियों को शामिल किया जाएगा।
  • इसके लिए 1 दर्जन विभागों को जिम्मेदारी दी गई है। इनमें ग्राम्य विकास, पंचायती राज, सकड़ परिवहन, खनन, रेलवे, पेयजल व स्वच्छता, पर्यावरण व वन, पेट्रोलियम व नेचुरल गैस, वैकल्पिक ऊर्जा, रक्षा, टेली कम्युनिकेशन और कृषि विभाग शामिल हैं।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना

  • इस योजना के ज़रिये केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार दोनों ही आपस में समन्वय कर 31 जिलों में रोजगार अभियानों को महत्ता देने वाले हैं।
  • केंद्र के गरीब रोजगार कल्याण अभियान के साथ ही गरीब कल्याण पैकेज के तहत एमएसएमई इकाइयों को 9100 करोड़ रुपये का कर्ज  भी दिया जाएगा।
  • स्किल मैपिंग में चिह्नित किए गए कामगारों में से 1.25 लाख को कपंनियां औपचारिक नियुक्ति पत्र प्रदान  करेंगी।
  • जो प्रवासी मजदूर अपने घर लोट कर  आये है उन्हें योगी सरकार द्वारा मनरेगा, एमएसएमई, ओडीओपी, निर्माण परियोजनाओं व ग्राम्य विकास से जुड़े विभिन्न कार्यक्रमों को केंद्रित कर 1.25 करोड़ लोगों को रोजगार प्रदान किये जायेंगे।
  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि राज्य में लौटे प्रवासी मजदूरों में से 18 वर्ष से काम बच्चों को छोड़कर लगभग 30 लाख मजदूरों की स्किल मैपिंग की गई है। इससे इन मजदूरों को रोजगार देने में आसानी होगी।

अभियान में शामिल 31 जिलों की सूची

अब तक यूपी के 31 जिलों की 32,300 ग्राम पंचायते इस आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021 में शामिल किये गए है। इन शामिल जिलों के नाम कुछ इस प्रकार है:

  • सिद्धार्थनगर
  • प्रयागराज
  • गोंडा
  • महराजगंज
  • बहराइच
  • बलरामपुर
  • जौनपुर
  • हरदोई
  • आजमगढ़
  • बस्ती
  • गोरखपुर
  • सुलतानपुर
  • कुशीनगर
  • संतकबीरनगर
  • बांदा
  • अम्बेडकरनगर
  • सीतापुर
  • वाराणसी
  • गाजीपुर
  • प्रतापगढ़
  • रायबरेली
  • अयोध्या
  • देवरिया
  • अमेठी
  • लखीमपुर खीरी
  • उन्नाव
  • श्रावस्ती
  • फतेहपुर
  • मीरजापुर
  • जालौन
  • कौशाम्बी

अभियान के अंतर्गत आने वाले विभाग

अब तक Aatmnirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan के तहत, प्रवासियों को समायोजित करने के लिए 25 प्रकार के कार्यों की पहचान की गई है। इसकी जिम्मेदारी 1 दर्जन विभागों को दी गई है। अभियान के अंतर्गत आने वाले विभागों की सूचि इस प्रकार है:

  • ग्रामीण विकास
  • पंचायती राज
  • सकड़ परिवहन
  • खनन
  • रेलवे
  • पेयजल और स्वच्छता
  • पर्यावरण और वन
  • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस
  • वैकल्पिक ऊर्जा
  • रक्षा
  • टेली संचार
  • कृषि विभाग

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान के लाभ

  • उत्तर प्रदेश के 1 करोड़ लोगो को रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। जिसमे अन्य राज्यों से घर लौटे प्रवासी श्रमिक  के साथ साथ स्थानीय लोग लाभान्वित किया जायेगा।
  • इस योजना के अनुसार उत्तर प्रदेश में रोजगार को बढ़ावा दिया जायेगा।  जिससे सभी प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिलने की सम्भावना पूरी-पूरी जताई जा रही है।
  • यूपी रोजगार अभियान  2021 के तहत 25 अलग-अलग योजनाओं को एक जगह समाहित किया गया है, जिससे कि मजदूरों को काम उपलब्ध कराया जायेगा।
  • इस योजना के अनुसार राज्य के 31 जिलों में वापस लौटने वाले श्रमिकों-कामगारों की संख्या 25,000 से अधिक रही। इन सभी प्रवासी  मजदूरों ,श्रमिकों  को रोजगार प्रदान करने की योजना बनाई है।

अन्य कार्यक्रम

  • लगभग 1.25 करोड़ कामगारों के नियोजन की शुरुआत की गयी है।
  • इस योजना के अनुसार 2.40 लाख इकाइयों को आत्मनिर्भर भारत के तहत रु. 5900 करोड़ के कर्ज का वितरण भी किया जायेगा।
  • राज्य सरकार के अनुसार 1.11 लाख नई इकाइयों को रु. 3226 करोड़ का ऋण वितरण किया जायेगा।
  • राज्य के 1.25 लाख कामगारों को निजी निर्माण कंपनियों से नियुक्ति पत्र दिया जायेगा।
  • उत्तर प्रदेश के 5000 कारीगरों को विश्वकर्मा श्रम सम्मान व ओडीओपी के तहत किट का वितरण भी किया जायेगा।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवासी प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021 में ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

उत्तर प्रदेश राज्य के जो प्रवासी श्रमिक इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा रोजगार प्राप्त करने के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें अभी इंतज़ार करना होगा। क्योंकि इस योजना की घोषणा आज ही 26 जून को सुबह 11 बजे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की मौजूदगी में शुरू किया गया है।

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021 के तहत अभी आवेदन की प्रक्रिया को आरम्भ नहीं किया है।  जैसे ही इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा आवेदन प्रक्रिया को शुरू कर दी जायेगी तो हम आपको अपने इस वेबसाइट के माध्यम से बता दिया जायेगा। आवेदन प्रक्रिया शुरू होने के बाद अन्य राज्यों से आये  प्रवासी मजदूर रोजगार पाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।

हम उम्मीद करते हैं की आपको आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान 2021 से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *