Pilot Kaise Bane – पायलट कैसे बने पूरी जानकारी।


Pilot Kaise Bane: हम सभी अपने जीवन में सपनों के पंख लगा कर सफलता की ऊँचाइयों को छूना चाहते है। कुछ लोग आसमान में उड़ने का ख़्वाब देखते है तो कुछ लोगों का सपना पायलट बन कर उड़ान भरने का होता है।

Pilot Kaise Bane Information in Hindi: पायलट बनना एक ऐसा Profession है जिसमे आपको काफी अच्छी सैलरी मिलती है, दुनिया के अलग-अलग कोनों में घूमने का मौका मिलता है और हर रोज़ आकाश में उड़ने का अनोखा अनुभव मिलता है। इसी कारण पायलट बनना Best Profession माना जाता है।

ज़्यादातर लोगों को नहीं पता होता कि Pilot Banne Ke Liye Kya Kare, पायलट कैसे बनते हैं, Pilot Banne KE Liye Konsi Degree Chahiye या पायलट बनने के लिए कितना खर्च आएगा।

विषयों की सूची

इस लेख में हम जानेंगे की पायलट कैसे बने (How to Become Pilot in Hindi) और Pilot Information in Hindi जैसे Eligibility (पायलट के लिए शैक्षिक योग्यता), Pilot Banne KE Liye Age Limit, Physical Requirements, पायलट बनने के लिए कितनी हाइट चाहिए, Course, Exam Details & Process, etc. आगे पायलट बनने की पूरी जानकारी हिंदी में जानने के लिए कृपया इस लेख को अंत तक ज़रूर पढ़ें।

Pilot Banne KE Liye Qualification (पायलट बनने के लिए योग्यता)

Eligibility Criteria वह अनिवार्य योग्यता है जिसे आपको Compulsory Fulfill करना ही पड़ता है, तभी आप एक पायलट बन सकते है। पायलट कई तरह के होते है, जिन्हे मुख्यता दो भागो में वर्गीकृत किया है – एयर फ़ोर्स पायलट (Air Force Pilot) तथा कमर्शियल पायलट (Commercial Pilot), दोनों बनने के लिए योग्यता लगभग समान ही होती है।

पायलट बनने के योग्यता मानदंड (Pilot KE Liye Qualification) निम्न है –

  • Candidate भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • पायलट के लिए शैक्षिक योग्यता: इंटरमीडिएट PCM (Physics, Chemistry & Maths) से न्यूनतम 50% अंकों से पास होना चाहिए।
  • कमर्शियल पायलट बनने की आयु 18-32 साल होनी चाहिए।
  • Pilot Banne KE Liye Age Limit: एयर फ़ोर्स पायलट बनने के लिए आयु सीमा 16.5-19 वर्ष तथा 20-24 वर्ष चाहिए।
  • ऑय विज़न (Eye Vision) 6/6 होना ज़रूरी है। Candidate को Colour Blind नहीं होना चाहिए।
  • Fluent English बोलना आना चाहिए।
  • Height कम से कम 5 फ़ीट होनी चाहिए।Pilot Kaise Bane

Pilot Kaise Bane (पायलट कैसे बने पूरी जानकारी)

पायलट बनना कई युवाओं की Dream Job है। पायलट प्रोफेशन में सही जानकारी तथा मार्गदर्शन न मिल पाने के कारण छात्र इस कैरियर को अपना नहीं पाते। पायलट बनने की प्रक्रिया में हम जानेंगे कि Pilot Ki Tayari Kaise Kare, पायलट कौन बन सकते है, पायलट बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट ले।

आप दो तरह से पायलट बन सकते है। मिलिट्री के अंतर्गत एयर फ़ोर्स पायलट (Air Force Pilot) बनकर या इंडिगो, एयर इंडिया, स्पाइसजेट जैसी एयरलाइंस कंपनी में कमर्शियल पायलट (Commercial Pilot) बनकर।

बहुत से छात्रों को नहीं पता होता की Pilot Banne Ke Liye Kya Kare यह लेख आपके लिए Full Guide For Become A Pilot साबित होगा। आप नीचे दिए गए मार्गदर्शन के अनुसार पायलट बनने की चरणबद्ध तैयारी करें और प्रत्येक स्तर पर श्रेष्ठ प्रदर्शन कर अपने उद्देश्य को प्राप्त करें।

1. दसवीं की परीक्षा दें।

दसवीं के बाद पायलट बनने के लिए छात्र विज्ञान शाखा में भौतिकी, रसायन विज्ञान और Maths से इंटरमीडिएट करें। English पर ख़ास ध्यान दें, पायलट बनने के लिये अंग्रेजी बोलना महत्त्वपूर्ण है।

2. बारहवीं की परीक्षा के साथ प्रवेश की तैयारी करें।

एयरफोर्स पायलट बनने के लिए बारहवीं के बाद NDA (राष्ट्रीय रक्षा अकादमी) Join की जा सकती है।

Commercial Pilot Kaise Bane: कमर्शियल पायलट बनने के लिए Flying School में एडमिशन लिया जा सकता है। एडमिशन प्रवेश परीक्षा और मेडिकल फिटनेस से होता है, इसलिए शैक्षिक प्रवीणता के साथ-साथ बॉडी फिटनेस का भी ध्यान रखना चाहिए।

जो बच्चे बारहवीं के बाद पायलट बनना चाहते है उन्हें सही मार्गदर्शन (Guidance) मिलना बहुत ज़रूरी है क्योंकि बारहवीं के बाद कुछ आवश्यक योग्यताएं पूरी करनी होती है, जिसकी तैयारी बारहवीं कक्षा में ही शुरू कर दी जाती है।

3. प्रवेश परीक्षा पास करें।

बारहवीं पास करने पर छात्रों को पायलट बनने के लिए कोर्स का चुनाव करना चाहिए और इस तथ्य से अवगत रहना चाहिए कि Pilot का कोर्स कितने साल का है। पायलट बनने के लिए एडमिशन प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होता है। यह प्रक्रिया तीन Steps में होती है।

  1. Entrance Exam प्रथम चरण है। एंट्रेंस एग्जाम पास किए बिना आपको पायलट बनने के लिए प्रवेश नहीं मिलेगा।
  2. द्वितीय चरण में मेडिकल टेस्ट (क्लास 1 तथा 2) पास करना होगा।
  3. तृतीय चरण में Interview निकलना होगा।

4. पायलट बनने के लिए एडमिशन लें।

ज़्यादातर छात्र कमर्शियल पायलट बनना चाहते है, इसलिए पहले हम कमर्शियल पायलट बनने के बारे में बात करेंगे । फ्लाइंग स्कूल से Commercial Pilot Ka Course 18-24 महीने की प्रक्रिया होती है। एंट्रेंस एग्जाम में पास होने के बाद कमर्शियल पायलट बनने के दो तरीके है।

  1. पहला तरीका Flying School में एडमिशन लेना है।
  2. दूसरा तरीका Cadet Pilot Programme से पायलट बनना है।

5. स्टूडेंट पायलट लाइसेंस के लिए आवेदन करें।

DGCA (Director General Of Civil Aviation) Approved फ्लाइंग स्कूल में Admission लेने पर सबसे पहले आपको SPL (Student Pilot License) दिया जाएगा। यह Government of India के अंतर्गत आता है। इस लाइसेंस के मिलने के बाद आप एक विद्यार्थी या Learner के तौर पर प्लेन उड़ाने की ट्रेनिंग ले सकते है।

6. प्राइवेट पायलट लाइसेंस के लिए आवेदन करें।

SPL का न्यूनतम Criteria 60 घंटों का है। जैसे ही आप अपनी समयाविधि की ट्रेनिंग पूरी करते है आप PPL (Private Pilot License) के लिए आवेदन करने योग्य हो जाते है। यह पायलट बनने का दूसरा स्टेप है।

यह SPL की तुलना में थोड़ा कठिन होता है। SPL तथा PPL की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद 210 घंटे की उड़ान पूरी करने पर अब आप कमर्शियल पायलट लाइसेंस के लिए Apply कर सकते है।

7. कमर्शियल पायलट लाइसेंस के लिए आवेदन करें।

CPL (Commercial Pilot License) के लिए भी आपके कुछ टेस्ट लिए जाते है और आपको Exams देने होते है, जिसे Qualify करने के बाद आप कमर्शियल पायलट कहलाते है। इसमें आपको CPL मिलता है जो किसी भी प्लेन को उड़ाने के लिए Compulsory License है।

कमर्शियल पायलट बनने का दूसरा तरीका Cadet Pilot Programme Join करना है। यह एयरलाइंस के द्वारा कराया जाता है। अलग-अलग एयरलाइंस का कैडेट पायलट प्रोग्राम अलग-अलग होता है। इसमें भी एंट्रेंस एग्जाम, इंटरव्यू और मेडिकल टेस्ट के तीन चरण पूरे करने के बाद आप किसी विशिष्ट एयरलाइंस का Cadet Pilot Programme Join कर सकते है।

कैडेट पायलट प्रोग्राम में आपको TRT अलग से ज़रूरत नहीं पड़ती साथ ही उस एयरलाइंस के साथ कुछ समय के लिए Compulsory Job Contract होता है, जिससे आपको ट्रेनिंग के बाद तुरंत जॉब तलाशने की ज़रूरत भी नहीं पड़ती। Cadet Pilot Programme के ट्रेनिंग की समयाविधि 18 महीने की है।

8. टाइप रेटिंग ट्रेनिंग पूरी करें।

प्लेन अलग-अलग तरह के होते है, Flying School के प्लेन और कार्यस्थल के प्लेन में पर्याप्त अंतर होता है। इसलिए कार्यस्थल के प्लेन उड़ाने का तरीका पूरी तरह से सीखने के बाद ही Candidate अपनी Responsibility को संभालने लायक समझा जाता है।

जॉब लगने के बाद आपक Work Place पर प्लेन उड़ाने की Basic Training दी जाती है। इसे Type Rating Training कहते है, जो 5-6 हफ्ते की होती है। ये एक अनिवार्य ट्रेनिंग है तथा सभी Candidate जो फ्लाइंग स्कूल से आते है, उन्हें ये ट्रेनिंग दी जाती है।

9. पायलट जॉब के लिए आवेदन करें।

ऊपर बताये गए सभी Steps पूरा करते ही आपको CPL यानि Commercial Pilot License मिल जाता है और अब आप किसी भी एयरलाइंस में जॉब के लिए आवेदन कर सकते है।

Airforce Pilot Banne Ki Prakriya

एयरफोर्स पायलट बनना कई युवाओं का सपना होता है। एक एयरफोर्स पायलट को काफी जटिल ट्रेनिंग से गुज़रना होता है। इन्हे Fighter Jet के साथ आक्रमण के लिए ट्रेनिंग भी दी जाती है। Air Force पायलट बनने के लिए योग्यता कमर्शियल पायलट के सामान ही होती है।

इंडियन एयरफोर्स में पायलट बनने के चार तरीके है।

अन्य कोर्स Graduation Ke Baad Pilot बनने के लिए है। इसमें भी प्रवेश पाने के लिए प्रवेश परीक्षा पास करना ज़रूरी है यह एक कठिन परीक्षा होती है जो UPSC द्वारा आयोजित कराई जाती है। इसकी ट्रेनिंग 3 वर्ष की होती है ट्रेनिंग के पश्चात उम्मीदवार Permanent Commission Officer के रूप में Indian Airforce Station में पायलट के तौर पर नियुक्ति पाता है।

पायलट कोर्स की फीस

पायलट की फ़ीस कितनी होती है यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस Institute से ट्रेनिंग ले रहे है या कौन सी Airlines Join कर रहे है। Flying School की फ़ीस 30-40 लाख रूपए तक होती है। CPL मिलने के बाद आप किसी भी एयरलाइंस में जॉब के लिए आवेदन कर सकते है।

प्लेन अलग-अलग तरह के होते है, Flying School के प्लेन और कार्यस्थल के प्लेन में पर्याप्त अंतर होता है। इसलिए कार्यस्थल के प्लेन उड़ाने का तरीका पूरी तरह से सीखने के बाद ही Candidate अपनी Responsibility को संभालने लायक समझा जाता है।

जॉब लगने के बाद आपको Work Place पर प्लेन उड़ाने की Basic Training दी जाती है इसे Type Rating Training कहते है, जो 5-6 हफ्ते की होती है। ये एक अनिवार्य ट्रेनिंग है तथा सभी Candidate जो फ्लाइंग स्कूल से आते है, उन्हें ये ट्रेनिंग दी जाती है। इसकी कीमत 30-40 लाख रूपए तक हो सकती है।

ये कीमत ज़्यादा होती है क्योंकि ट्रेनिंग में हर बार प्लेन उड़ाने पर आपको निर्धारित मानक के अनुसार शुल्क देना पड़ता है, तो अगर आप पायलट बनने की सोच रहे है तो Total Cost 60-80 लाख के बीच आ सकती है। CPP की फ़ीस 80 लाख से 1 करोड़ रूपए तक होती है। इसमें अलग से Type Rating Training की जरुरत नहीं पड़ती।

पायलट की सैलरी

6th वेतन आयोग के अनुसार पायलट का वेतन इंडियन एयरफोर्स में 86,110 रूपए प्रति माह होती है। सर्विस में अनुभव होने के बाद या प्रोन्नति होने के बाद 1.5 लाख सैलरी मिलती है।

कमर्शियल पायलट की जॉब भारत में अधिकतम वेतन पाने वाली नौकरी में से एक है। साथ ही Travelling से जुड़े अन्य लाभ भी मिलते है। पायलट बनने की प्रक्रिया में मेहनत के साथ-साथ Money की ज़रूरत भी होती है, लेकिन अगर आप कमर्शियल पायलट बन जाते है तो आपकी सैलरी कुछ इस प्रकार होगी।

कामप्रति माह वेतन
कप्तान₹ 6,00,000 – ₹ 12,00,000
वरिष्ठ प्रथम अधिकारी,000 3,50,000
प्रथम अधिकारी₹ 2,00,000
जूनियर प्रथम अधिकारी₹ 50,000 – ₹ 1,00,000

अब आप समझ चुके होंगे कि पायलट कैसे बना जाता है और पायलट के कोर्स, जैसे Pilot की फ़ीस Kitni Hoti Hai, Qualifications to Become a Pilot, पायलट की सैलरी कितनी होती है, से संबंधित जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

निष्कर्ष

एक पायलट का जीवन रोमांच से भरपूर होता है; आसमान की ऊँचाइयों को छूना, अलग-अलग देशों में घूमना पायलट का प्रतिदिन का काम है पर यह आकर्षक Job होने के साथ-साथ उत्तरदायित्व पूर्ण नौकरी है। प्लेन में सफर कर रहे यात्रियों का जीवन पायलट के कुशलता पर निर्भर करता है।

पायलट बनने का सफर जितना चुनौतीपूर्ण है, उसकी मंज़िल आपको कहीं ज़्यादा गौरवान्वित, प्रतिष्ठित और सम्मानित महसूस कराती है।

दोस्तों, ये थी जानकारी Pilot Kaise Bante Hain उम्मीद है, आपको ये लेख पायलट कैसे बने अच्छा लगा होगा और इस लेख से Pilot Kaise Bane Information in Hindi मिली होंगी। आप इसे अपने परिवार और दोस्तों से शेयर कर सकते है। साथ ही किसी भी प्रकार के सुझाव या सवाल के लिए हमे कमेंट करें। हमारे लेख Pilot Kaise Bane को अंत तक पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े:

NDA Kya Hai? – जानिए एनडीए से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में।

Bhartiya Vayu Sena Me Kaise Jaye? – इंडियन एयरफोर्स भर्ती 2019-20 में शामिल होने के लिए योग्यता व परीक्षा!

योगदान देने वाला

क्या आपको एडिटोरियल टीम के आर्टिकल पसंद आयें? अभी फॉलो करें सोशल मीडिया पर!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *