NGO Kya Hai? NGO Full Form – जानिए NGO Kaise Banaye पूरी जानकारी।


NGO Kya Hai: देश में आज ऐसे बहुत से गरीब और बेसहारा लोग है जो गरीबी और उत्पीड़न का शिकार है वहीं आज के ऐसे दौर में जहाँ इंसानियत शायद ही बची होगी उन्हीं में से NGO Organization किसी फ़रिश्ते से कम नहीं है जो अपने लाभ के बारे में बिना सोचे इन लोगों की मदद करते है।

क्या आप भी इन लोगो की मदद के लिए अपने हाथ आगे बढ़ाना चाहते है जिसके लिए आपको NGO Ki Jankari पूरी तरह से होना चाहिए।

तो आइये जानते है…

अगर आप अपना NGO चलाना चाहते है तो पहले आपको NGO की पूरी जानकारी होना चाहिए की NGO Kya Hota Hai?…

विषयों की सूची

NGO Kya Hai

NGO एक Private Organization होता है। NGO के द्वारा लोगों की मदद करके सामाजिक काम किया जाता है जिसमें कई तरह के काम किये जाते है जैसे- विधवा महिलाओ के लिए आवास, गरीब अनाथ बच्चों को पढाना, महिलाओ की सुरक्षा आदि। इस संगठन में सरकार की कोई भूमिका नही होती है।

गैर सरकारी संगठन

समाज का कल्याण करना ही NGO Ke Uddeshya है। यह ऐसा संगठन है जिसे कोई भी व्यक्ति चला सकता है। NGO का विकास अमेरिका में किया गया था क्योंकि America में ऐसे बहुत से सामाजिक कार्य किये जाते है जो सरकार के अलावा इन संगठनों के द्वारा किये जाते है।

NGO Ka Matlab तो आप समझ गए अब जानते है की NGO के काम करने का तरीका क्या है।

एनजीओ फुल फॉर्म

NGO Ka Full Form – “Non Governmental Organization” होता है। NGO Full Form in Hindi – “गैर सरकारी संगठन” है।

NGO Kaise Kam Karta Hai

क्या आपके मन में भी यह बात आ रही है की NGO को कोई भी व्यक्ति चला सकता है?

अगर आप यह सोच रहे है तो ऐसा नहीं है क्योंकि…

NGO को किसी एक व्यक्ति के द्वारा नही चलाया जा सकता। NGO में 7 या इससे ज्यादा व्यक्ति शामिल होते है। NGO का मकसद लाभ प्राप्त करना नहीं होता है बल्कि इसे दुसरो का भला करने के लिए चलाया जाता है।

यदि किसी व्यक्तियों का समूह सामाजिक कार्य या सामाजिक सुधार का काम करना चाहता है तो वह Registered या बिना Register किये NGO द्वारा इन कार्य को कर सकता है, लेकिन Registered NGO होने पर यह फायदा मिलता है की आप सामाजिक कल्याण के लिए जो कार्य कर रहे है उसके लिए आप सरकार से आर्थिक सहायता प्राप्त कर सकते है।

यदि कोई समाज सेवक सामाजिक कल्याण का काम सरकार की सहायता के बिना करना चाहता है तो वह Registered किए बिना Ngo भी चला सकता है। India में लगभग 1 से 2 लाख तक NGO होने का अनुमान है। भारत के सभी NGO Central Societies Act के अंतर्गत आते है जबकि राजस्थान में Rajasthan Societies Act बना है।

तो इस तरह NGO काम करता है और अपना एक समूह बनाकर लोगों की सहायता करता है।

NGO द्वारा क्या कार्य किये जाते है जानते है आगे।

NGO Ke Kaam (NGO क्या काम करता है)

NGO के बारे में इतना जानने के बाद आप ज़रुर जानना चाह रहे होंगे की यह Organization क्या कार्य करती है।

ngo सेवाएं

एनजीओ के कार्य: NGO द्वारा ऐसे कार्य किये जाते है जिससे गरीब – बेसहारा लोगों की ज़रूरतों को पूरा किया जा सके और सिर्फ गरीब और बेसहारा ही नहीं बल्कि ऐसे और भी कार्य है जो NGO के द्वारा किये जाते है।

क्या आपको NGO Ke Karya के बारे में जानकारी नहीं है की इस संगठन में क्या कार्य किये जाते है ? तो आगे जाने यह संगठन क्या करती है।

दुनिया भर में NGO विभिन्न प्रकार के समाज कल्याण और मानव कल्याण के उद्देश्य से कार्य करते है। यह संगठन निरंतर विकास की दिशा में काम करते है और समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाते है।

NGO का कार्य जरुरतमंद लोगों की सहायता करना है। यह गरीब बेसहारा लोगों के दुःख – दर्द को समझते है वह ऐसे कई सारे लोगों को ढूंढ ही लेते है जो इनके साथ-साथ गरीब लोगों की मदद कर सके। NGO का काम पैसा कमाना नही होता यह लोगों की मदद करने का काम करती है। यही NGO Ki Visheshta होती है।

वैसे तो NGO द्वारा कई तरह के कार्य किये जाते है लेकिन इसका मुख्य उद्देश्य सामाजिक कारणों पर कार्य करना होता है।

एनजीओ का उद्देश्य

  • गरीब अनाथ बच्चों को शिक्षा देना।
  • School में बच्चों को अच्छा भोजन दिलवाना।
  • बच्चों को Books Provide करना।
  • महिलाओं को आवास देना।
  • जल संवर्धन के कार्य।
  • आदिवासी समाज की समस्या हल करना।
  • समाज में किसी तरह की बीमारी से झुझ रहे लोगों की मदद करना।
  • वृद्ध लोगों की मदद करना।

तो यह है NGO Ke Kaam इन सब कामों में Ngo Ki Bhumika होती है।

Types Of NGOs (NGO के प्रकार)

आपने NGO शुरू करने के बारे में तो सोच लिया है लेकिन क्या आप जानते है NGO कितने प्रकार के होते है।

प्रकार के ngo

  • बिंगो – बिजनेस फ्रेंडली इंटरनेशनल एनजीओ

यह Business Friendly International Ngo के लिए Use की जाने वाली एक Short Term है।

  • एंजो – पर्यावरण एनजीओ

यह Global 2000 के जैसे Environmental Ngo का छोटा रूप है।

  • गोंगो – सरकार द्वारा आयोजित गैर-सरकारी संगठन

यह सरकार द्वारा Operate किये गए Ngo को Refer करता है।

  • इंगो – अंतर्राष्ट्रीय एनजीओ

Ingo Oxfam की तरह International Ngo का एक छोटा रूप है।

  • क्वांगो – क्वासी-स्वायत्त एनजीओ

यह ISO NGO जैसे Quasi Autonomous NGO को Refer करता है, जैसे International Organization For Standardization (ISO)

यह है NGO के प्रकार जिनके काम भी अलग-अलग तरह के होते है।

क्या आप भी यह समाज सेवी कार्य करना चाहते है और अपना Ngo बनाना चाहते है तो जानिए…

NGO Kaise Banaye (NGO Starting Process in Hindi)

अगर आप NGO बनाना चाह रहे है तो उसके लिए पहले आपको NGO संस्था बनाने के नियम को समझना होगा। क्योंकि यह नियम राज्य के हिसाब से अलग-अलग होते है। इन नियमों को Follow करके ही आप NGO बना सकते है।

तो जानते है NGO Kaise Banta Hai

NGO में काम करने के लिए आपको NGO का सदस्य बनना होगा। आप NGO के Registration के समय ही इसके सदस्य बन सकते है। NGO के गठन के लिए कम से कम 7 सदस्य होना जरुरी है।

ngo नींव

NGO के गठन के लिए आपको इसके लक्ष्य, उद्देश्य को तय करने के साथ ही इसके अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष, सलाहकार सदस्य आदि सदस्य तय करने होते है। इन सबसे मिलकर ही एन.जी.ओ की संरचना बनती है।

NGO शुरू करने से पहले आपको लोगों की Problem को पहचानना होगा। उसके हिसाब से अपने NGO के उद्देश्य और मिशन को पहचाने और समाज के अंदर लोगों को क्या Problem है उसके अनुसार NGO में कार्य किया जाता है।

बहुत से लोग अपनी समस्या के लिए आवाज़ नहीं उठा पाते है। उनकी समस्या कोई नहीं सुनता, इसलिए किसी भी NGO का यही उद्देश्य होना चाहिए की वह लोगों की परेशानी को सुने, समझे और उसके हिसाब से अपने NGO को शुरू करे तभी एनजीओ का सकारात्मक प्रभाव दिखाई देता है।

गैर सरकारी संगठन को स्थापित करने के लिए ऐसे लोगों का समूह बनाये जो सभी कार्यों को एक सही Strategy से जिसमें Financial Management, Human Resources, और Networking जैसे सभी तरह के कार्यो को कर सके और उन निर्णयों को लेने के लिए पूरी तरह से Responsible भी हो।

तो ऊपर आपने जाना की NGO Kaise Banaya Jata Hai

दोस्तों चाहे कोई सा भी Organization हो उसमें Register करने के लिए कुछ आवश्यक Documents ज़रुर लगते है।

इसी तरह NGO चलाने के लिए भी कुछ Imporatnt Documents की आवश्यकता होती है।

NGO Ke Liye Documents

यदि आप NGO में Register कर रहे है तो आपके पास कुछ जरुरी Documents होने चाहिए जैसे…

डॉक्टर की आवश्यकता

  • ट्रस्ट डीड / मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन
  • नियम और विनियमन / ज्ञापन
  • एसोसिएशन विनियमन के लेख
  • राष्ट्रपति से शपथ पत्र
  • आईडी प्रमाण (वोटर आईडी / आधार कार्ड)
  • निवास प्रमाण
  • पंजीकृत कार्यालय पता प्रमाण
  • पासपोर्ट (अनिवार्य)

NGO Ki Sthapna करने के लिए आपको इन Documents की जरुरत होगी।

अगर आप NGO शुरू करने जा रहे है तो आपको NGO के नाम से अलग बैंक Account खुलवाना होगा इसके लिए आपके पास Pan Card होना चाहिए क्योंकि इसकी Help से आप बैंक Account खुलवा पाएंगे Bank Account इसलिए Open करवाया जाता है क्योंकि यदि कोई Donation देता है तो वह NGO के Account में ही जाता है।

तो इन Documents को अपने साथ ज़रुर रखे यह NGO Register के समय आपके बहुत काम आएँगे।

चलिए अब जानते है NGO कैसे Register किया जाता है।

NGO Kaise Register Kare (संस्था का रजिस्ट्रेशन कैसे करे)

क्या आपको भी गरीब – ज़रूरतमंद लोगों की मदद करना पसंद है। जिसके लिए आप भी NGO में Register करने के बारे में सोच रहे है तो आगे बताई गई जानकारी से आपको Help मिलेगी।ngo पंजीकरण

India में अगर आप NGO बनाना चाहते है तो इसके लिए 3 तरह की Process होती है या आप एनजीओ का रजिस्ट्रेशन इन 3 Act में से किसी एक Act में कर सकते है।

चलिए जानते है इन 3 Act के बारे में।

Trust Act भारत के अलग-अलग राज्यों में होता है लेकिन किसी राज्य में कोई Trust अधिनियम नही है तो उस राज्य में 1882 Trust Act लागू होता है। इस अधिनियम के अंतर्गत कम से कम दो Trustees होना जरुरी है।

अगर इस अधिनियम में NGO का Registration करना है तो आपको Charity Commissioner या Registrar के Office में आवेदन देना होगा। Trust Act के अंतर्गत NGO Register करने के लिए आपको Deed Document लगाना होगा।

इस Act में NGO को Society के रूप में Register किया जाता है। लेकिन कुछ राज्यों में जैसे- महाराष्ट्र राज्य में Society Act के तहत NGO को Trustee के तौर पर भी Registered किया जा सकता है।

Society Act में Registration के लिए Memorandum Of Association And Rules And Regulation Document लगाया जाता है। इस Document को बनाने के लिए कम से कम 7 सदस्यों की आवश्यकता होती है ना की Stamp Paper की आवश्यकता पड़ती है।

Companies Act के अंतर्गत NGO का Registration करने के लिए Memorandum And Articles Of Association And Regulation Document की आवश्यकता होती है।

इस Document को बनाने के लिए किसी भी प्रकार के Stamp Paper की जरुरत नही होती है और Document बनाने के लिए कम से कम तीन सदस्यों का होना जरूरी है।

इन 3 Act के Through आप NGO में Register कर सकते है।

India में बने NGO ने लोगों की मदद करके उनकी तक़दीर ही बदल दी है और उन्हें ऐसी सुविधाएँ प्रदान की जिससे उन्हें एक नया जीवन मिला।

आइये जानते है इन NGO के बारे में।

NGO in India (समाजसेवी संस्थाओं के नाम)

भारत में Top 5 NGO ऐसे है जिन्होंने NGO के रूप में बहुत ही अच्छा काम किया है और ज़रूरतमंद लोगों की मदद कर सराहना प्राप्त की। उनके काम को सभी लोगों ने पसंद किया।भारत ngo

तो कौन से है वह NGO जानिए उन NGO Ke Naam –

  • स्माइल फाउंडेशन
  • Nanhi Kali
  • इंडिया फाउंडेशन
  • गूंज
  • हेल्पेज इंडिया

यह है वो NGO Ke Naam जो भारत में बहुत ही अच्छा काम कर रहे है और लोगों की सहायता कर रहे है।

NGO Ko Fund Kaise Milta Hai

क्या आप भी NGO चलाने की शुरुआत कर रहे है?… लेकिन इस बात से परेशान है की NGO Ke Liye Funding कहाँ से और कैसे प्राप्त करे।

ngo फण्ड

तो आगे जानिए NGO के लिए Fund जमा करने के लिए Promote कैसे करे।

यदि आप NGO शुरू करने जा रहे है तो आप अपने NGO की Website ज़रुर बनाये और उस पर अपने NGO की पूरी जानकारी दे की आपके NGO का मुख्य उद्देश्य क्या है?.. आप उसमें क्या-क्या करने वाले है?.. इससे लोगों के बीच आपके NGO की पहचान बनेगी और वह आपके NGO को आर्थिक सहायता भी देंगे। आप अपनी Website पर Donation Account भी बना सकते है इससे होगा यह की Donation Direct आपके NGO Account में आ जायेगा।

आप चाहे तो NGO Program भी रख सकते है। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग आपके NGO के बारे में जानेंगे। प्रोग्राम ऐसा रखे की लोग आपको आर्थिक सहायता देने के लिए प्रेरित हो। आप अपने कार्यक्रम में किसी नेता, समाज सेवी, डॉक्टर, सेलिब्रिटी को भी बुला सकते है जिससे वह लोग आपके NGO के लिए वित्तीय सहायता दे सके।

यदि आप Registered NGO चला रहे है तो आप सरकार से आर्थिक सहायता भी ले सकते है। इसके लिए आपको कुछ Rules और Regulation को Follow करना होगा।

  • निजी कंपनियों से संपर्क करें

कई बड़ी-बड़ी Company अपने समाज सेवी कार्य को पूरा करने के लिए छोटे-छोटे NGO को Donation देती है। आप Private Company को Contact और Mail करके भी Donation करने के लिए प्रेरित कर सकते है। इसके लिए आपको Online आवेदन करना होगा जिससे आपको आगे बहुत सारे काम मिल सकते है।

इस तरह से किसी NGO को Fund मिलता है जिससे की वह अपना कार्य करते है।

निष्कर्ष

तो दोस्तों अब आप भी अपना NGO बना सकते है और उन लोगों की मदद कर सकते है जिन्हें सहारे की बहुत ही ज्यादा जरूरत होती है।

इस Post में आपने जाना…

  • NGO क्या है और यह कैसे काम करता है।
  • NGO के कार्य क्या है और NGO में Register कैसे करे।
  • इसके साथ ही आपने यह भी जाना की NGO को Fund किस तरह से मिलता है।

कैसी लगी दोस्तों आपको यह जानकारी Comment Box में Comment करके ज़रुर बताए। तो आप कब से अपना NGO शुरू कर रहे है यह भी बताए।

इस Post को अपने दोस्तों के साथ भी ज़रुर Share करे। जिसके लिए आप Instagram, Whatsapp, और Facebook का Use कर सकते है।

जी शुक्रिया।

योगदान देने वाला

क्या आपको एडिटोरियल टीम के आर्टिकल पसंद आयें? अभी फॉलो करें सोशल मीडिया पर!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *