MKSY कन्या सुमंगला योजना (mksy.up.gov.in) आधिकारिक वेबसाइट


MKSY Kanya Sumangla Yojana, mksy.up.gov.in लॉगिन, UP Kanyan Suamgla Yojana सहायता राशि की श्रेणियाँ, MKSY Apply Online Application Form, कन्या सुमंगला योजना 2020 पात्रता मानदंड एवं आवश्यक दस्तावेजों की जानकारी आपको इस लेख में प्रदान की जाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सहयोग से MKSY Official Portal को लांच कर दिया है। आप (mksy.up.gov.in) आधिकारिक पोर्टल की सहायता से महत्वकांशी कन्या सुमंगला योजना ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भर सकते है।

कन्या सुमंगला योजना आधिकारिक पोर्टल नागरिको को ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा प्रदान करना है। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की शुरुआत बिहार की कन्या उत्थान योजना की तर्ज पर की गयी है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कन्या सुमंगला योजना के तहत परिवार में बिटिया के जन्म के समय से उनके बड़े होने तक शिक्षा का पूरा खर्च वहन किया जाता है। यहां इस लेख में हम आपको MKSY की आधिकारिक वेबसाइट (mksy.up.gov.in) के द्वारा ऑनलाइन पंजीकरण, सहायता राशि, किश्तों की जानकारी तथा अन्य महत्वपूर्ण पहलुओं पर विचार किया जायेगा।

MKSY | Official Webiste of Kanya Sumangala | mksy.up.gov.in

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में नागरिकों को कन्या सुमंगला योजना के ऑफलाइन आवेदन में आने वाली परिशानियों को देखते हुए mksy.up.gov.in पोर्टल को लांच किया गया है। अब प्रदेश का कोई भी नागरिक अपनी बच्ची के बेहतर भविष्य के लिए MKSY Official Website की सहायता से पंजीकरण करा सकता है।

इस पोर्टल की शुरुआत के बाद राज्य में किसी व्यक्ति द्वारा ऑफलाइन आवेदन करते समय किसी प्रकार की कठिनाई होने की स्थिति में वह कन्या सुमंगला आधिकारिक वेबसाइट (mksy.up.gov.in) का प्रयोग कर सकेगा। यह योजना प्रदेश में बिटिया के बेहतर भविष्य के लिए नए मार्गो को खोलेगी।

कन्या कन्या सुमंगला योजना के प्रमुख तथ्य

योजना का नामकन्या कन्या सुमंगला योजना
आरम्भ की गईउत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
वर्ष2021
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के स्थायी निवासी
पंजीकरण प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यबालिकाओं को उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए आर्थिक मदद
लाभबिटिया के जन्म से लेकर उसकी शादी तक आर्थिक मदद
आर्थिक सहायता राशि₹15000
श्रेणीउत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttps://mksy.up.gov.in/women_welfare/index.php

कन्या सुमंगला योजना के तहत जागरूकता अभियान

कन्या सुमंगला योजना, उत्तर प्रदेश में जन्म लेने वाली बेटियों के लिए  शुरू की गई है। योजना के तहत, तीन लाख से कम वार्षिक आय वाले परिवारों को, सरकार बेटियों के जन्म और शिक्षा के लिए  वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। इस योजना की शुरुआत राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संयुक्त रूप से की है । इस योजना में  हर उस परिवार, जिसमे एक बालिका जन्म लेती है, को 15000 रुपये का कोष प्रदान करेगी । परिवार को राशि को चरणबद्ध तरीके से दी जाएगी|

इस योजना में कोरोना से पहले, 2214 लड़कियों को योजना से लाभान्वित किया गया है। उम्मीद है कि जल्द ही बजट जारी किया जाएगा और शेष पात्र लड़कियों को भी लाभ दिया जाएगा। कन्या सुमंगला योजना के तहत धनराशि विभिन्न किश्तों में जारी की जाएगी, जैसे  बालिका जन्म होने पर, टीकाकरण करने के समय में , कक्षा 1, 5, 9 में प्रवेश करने के समय और स्नातक पास करने पर| आवेदन करने के लिए उम्मीदवार, आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड कर सकते है। जहा पात्रता मानदंड और आवेदन प्रक्रिया और अन्य सभी  जानकारी भी अच्छे से दी जाएगी।

कन्या सुमंगला योजना जनवरी अपडेट

जैसा कि आप जानते हैं कन्या सुमंगला योजना छात्राओं को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई है। इस योजना के तहत कक्षा 1 में दाखिला लेने वाले छात्राओं को ₹2000 और कक्षा 6 में दाखिला लेने वाले छात्रों को ₹2000 की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। वहीं यदि कोई छात्रा इस योजना के अंतर्गत कक्षा 9 में दाखिला ले रही होती है तो उसे ₹3000 और इसके बाद कक्षा 10वीं और 12वीं को पास करने के बाद भी उन्हें ₹3000 की राशि प्रदान की जाती है। यदि 12वीं के बाद कोई छात्रा स्नातक या 2 वर्षीय या इससे अधिक समय अवधि के डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन लेती है तो उन्हें ₹5000 की वित्तीय सहायता दी जाती है।इस बार सरकार द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि इस योजना का लाभ लखनऊ की प्राइमरी अप्पर प्राइमरी माध्यमिक तथा उच्च शिक्षा की पढ़ाई करने वाली 15000 छात्राओं को प्रदान किया जाएगा। सरकार ने इसके लिए चयन प्रक्रिया भी शुरू कर दी है जो कि स्कूलों के माध्यम से की जाएगी।

  • कन्या सुमंगला योजना स्कूल में शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्राओं को आर्थिक सहायता प्रदान करके शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई है।
  • जिला अधिकारी इस योजना के सफल कार्य बंधन के लिए प्रयास करेंगे इस समय सरकार अपर प्राइमरी एवं प्राइमरी की छात्राओं को चिन्हित कर रही है और सभी संस्थानों को इसकी जानकारी प्रदान करने के लिए निर्देश भी भेज रही है। जब चयन प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी तो सभी चयनित छात्राओं की जानकारी ऑनलाइन पोर्टल पर दर्ज कर दी जाएगी।
  • सरकार का उद्देश्य फरवरी 2021 तक 15000 छात्राओं का चयन करना है। 15000 में से 8000 प्राइमरी एवं 5000 छात्राएं माध्यमिक शिक्षा की होंगी। अन्य दो हजार छात्राएं उच्च शिक्षा प्राप्त कर रही छात्राएं होंगी।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश | MKSY Official Website

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में शुरू की गयी कन्या सुमंगला योजना के प्रावधानों के अनुसार उत्तर प्रदेश सरकार राज्य में बिटिया के जन्म से उसकी शिक्षा के पूर्ण होने तक छः चरणों में सहायता राशि प्रदान करेगी। कन्या सुमंगला योजना के माध्यम से बिटिया को स्नातक स्तर की पढ़ाई तक कुल  15,000 {पंद्रह हजार रूपये} की सहायता राशि प्रदान करेगी।

इसके अअतिरिक्त प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा में होने वाले अन्य खर्चो के लिउ भी आवश्यकता के अनुसार ऋण की भी व्यवस्था कराई जाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गयी Kanya Sumangala Yojana के माध्यम से बिटिया के उज्जवल भविष्य के लिए प्रत्येक कदम पर प्रोत्साहन प्रदान किया जायेगा जिससे बिटिया की शिक्षा सुचारु रूप से चल सके। 

उत्तर प्रदेश जाति SC/ST/OBC प्रमाण पत्र

16000 बेटियों को मिलेगा कन्या सुमंगला योजना का लाभ

आप जानते हैं कन्या सुमंगला योजना के तहत पात्र लाभार्थियों को बेटियों के जन्म पर बेटी के जन्म से लेकर उसकी स्नातक तक की शिक्षा को पूरी करने तक ₹15000 की वित्तीय राशि दी जाती है। यह राशि कुल 6 किस्तों में दी जाती है। इस बार सरकार ने इस योजना के तहत लगभग 16000 बेटियों को लाभ प्रदान करने का लक्ष्य रखा है। अभी योजना के सत्यापन का कार्य चल रहा है और सत्यापन के बाद जल्द से जल्द है प्रोत्साहन राशि लाभार्थियों के खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी। अब तक कुल 27000 लोगों ने कन्या सुमंगला योजना के तहत आवेदन भरे हैं। इन 27000 आवेदनों में से कुल 7000 आवेदकों को अब तक योजना का लाभ दिया जा चुका है। बाकी के आवेदनों में से 2100 से अधिक आवेदन अभी योजना के अंतर्गत लंबित है।कन्या सुमंगला योजना के तहत वर्ष 2019-20 में 7000 बेटियों को लाभ प्रदान किया गया था। अब वर्ष 2020-21 में 16000 बेटियों को इस योजना के तहत लाभ प्रदान किया जाएगा।

योजना के तहत अब तक आए 27000 आवेदनों में से 11000 आवेदन पत्र होने के कारण अस्वीकार कर दिए गए हैं और 21 सौ आवेदन अभी अलग-अलग विभागों में लंबित पड़े हैं। सरकार ने यह निर्देश दिया है कि इन लंबित आवेदनों को जल्द से जल्द निस्तारित कर दिया जाए। एसडीएम औरई के यहां 352, भदोही में 376, ज्ञानपुर में 704, डीआईओएस कार्यालय में 345, बीएसए कार्यालय में 16, प्रोबेशन कार्यालय में 14, ब्लॉक अभोली में 235, औराई में 612, भदोही में 224, ज्ञानपुर में 207 तथा डीघ में 316 आवेदन लंबित है।

योजना के तहत डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर बेनिफिट

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश की बालिकाओं को उच्च शिक्षा प्रदान करने और उनके उज्जवल भविष्य के लिए कन्या सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत बालिकाओं को ₹15000 की वित्तीय सहायता सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। यह रितीय सहायता प्रदान करने के लिए सरकार ने 12 सौ करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया है। इस योजना का उद्देश्य बेटियों को लेकर अभिभावकों की नकारात्मक सोच को दूर करना है और उन्हें शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना है। योजना के तहत लाभ की राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से प्रदान की जाती है ताकि अभिभावक यहां कोई भी और व्यक्ति इस धन का दुरुपयोग ना कर सके।

Objective of Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana

उत्तर
प्रदेश सरकार द्वारा
राज्य में लड़कियों
को उनकी शिक्षा
के लिए आर्थिक
सहायता पहुंचाने के
उद्देश्य से कन्या
सुमंगला योजना को
शुरुआत की है।
MKSY को लागु करना
का मुख्य उद्देश्य
लड़कियों को धिक से अधिक
लड़कियों को शिक्षा
के पथ पर अग्रसर करना
है जिससे वह
देश के विकास
में अपना योगदान
दे सके।

कन्या सुमंगला योजना के तहत लाभरयही बिटिया को छः चरणों में 15 हजार रूपये आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जा रही है। यह योजना समाज में भ्रूण हत्या को रोकने और उत्तर प्रदेश के लोगो की लड़कियों के प्रति नकारात्मक सोच को बदलने का कार्य करेगी। Kanya Sumangala Scheme 2020 का मुख्य उद्देश्य लड़कियों को शिक्षा के माध्यम से सशक्त तथा आत्मनिर्भर बनाना है।

कन्या सुमंगला योजना के तहत सहायता राशि की श्रेणियाँ

उत्तर
प्रदेश मुख्यमंत्री कन्या
सुमंगला योजना के
तहत चाह चरणों
में सहायता राशि
वितरित की जाएगी।
यहाँ हम आपको सभी श्रेणियों
के तहत दी जाने वाली
सहायता राशि के बारे में
जानकारी प्रदान करेंगे।

प्रथम
श्रेणी
:- प्रदेश में जिस बिटिया
का जन्म 1 अप्रैल 2019 के बाद हुआ है वह प्रथम चरण में 2000 रूपये आर्थिक सहायता प्राप्त
कर सकेंगे।

दूसरा
श्रेणी
:- इसके बाद बिटिया के
1 वर्ष के होने तथा सभी टीकाकरण पूर्ण किये जाने की स्थिति में 1000 रूपये आर्थिक सहायता
राशि प्रदान की जाएगी।

तीसरी
श्रेणी
:-  बिटिया द्वारा चालू शैक्षिक वर्ष में प्रथम कक्षा
में प्रवेश लेने पर 2000 रूपये आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

चौथी
श्रेणी
:- बिटिया द्वारा चालू
शैक्षिक वर्ष में छठी कक्षा में प्रवेश लेने पर 2000 रूपये आर्थिक सहायता राशि प्रदान
की जाएगी।

पांचवी
श्रेणी
:- बिटिया द्वारा चालू
शैक्षिक वर्ष में नोवी कक्षा में प्रवेश लेने की स्थिति में उसे 3000 रूपये की आर्थिक
सहायता राशि से लाभान्वित किया जायेगा।

छठी
श्रेणी
:- इस श्रेणी में बालिका
के 10 /12 वी उत्तीर्ण करने के बाद स्नातक /डिग्री या कम से कम डिप्लोमा के लिए प्रवेश
लेने पर उन्हें 5000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री शिशिक्षु प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

किश्त दी जाने
वाली धनराशि
बिटिया
के जन्म पर
बालिका
के जन्म होने
पर रु 2000 एक
मुश्त
टीकाकरण
पूर्ण होने पर
बालिका
के एक वर्ष
तक के पूर्ण
टीकाकरण के उपरान्त
रू 1000 की एक
मुश्त राशि
प्रथम
कक्षा में प्रवेश
पर
2,000 रुपये
की एकमुश्त सहायता
राशि
कक्षा
6 में प्रवेश पर
3,000 रुपये
की आर्थिक सहायता
कक्षा
8 के प्रवेश पर
3 हजार
रूपये एकमुश्त
नौवीं
कक्षा में
5 हजार
रुपये शिक्षा सहायता
के रूप में
10वी/12वी पास
होने पर स्नातक
अथवा डिप्लोमा स्तर
की कक्षा में
प्रवेश पर
5,000 रुपये
एकमुश्त सहायता राशि
बिटिया
के 21 वर्ष की
आयु पूरी करने
पर
2 लाख
रुपये एकमुश्त सहायता
प्रदान की जाएगी

यूपी कन्या सुमंगला योजना के लाभ

  • प्रदेश सरकार में वित्त मंत्री रहते हुए राजेश अग्रवाल द्वारा 07/02/2019 को वार्षिक बजट पेश करते हुए उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना की शुरुआत की गई थी।
  • इस योजना के अंतर्गत प्रदेश सरकार सभी पंजीकृत लड़कियों को 15000 रूपये आर्थिक प्रोत्साहन राशि प्रदान करेगी।
  • मुख्यमंत्री द्वारा कन्या सुमंगला योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए 1200 करोड़ रुपए की राशि आवंटित की गयी है।
  • इस योजना के माध्यम से प्रदेश सरकार राज्य में समाज में बिटिया के जन्म को लेकर बनी विचारधाराओ को बदलने का प्रयास करेगी।
  • यदि बिटिया का विवाह 18 वर्ष की आयु में हो जाता है तो बिटिया को 21 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर 2 लाख रूपये की एकमुश्त सहायता राशि प्रदान नहीं की जाएगी।

कन्या सुमंगला योजना पात्रता मानदंड

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट (mksy.up.gov.in) कन्या सुमंगला योजना के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए कुछ पात्रता मानदंड निर्धारित किये है। यहाँ हम आपको विभाग द्वारा जारी समस्त पात्रता मानदंडों की जानकारी प्रदान करेंगे।

  • मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (MKSY) का लाभ केवल उत्तर प्रदेश के स्थायी निवासियों द्वारा ही लिया जा सकता है। यदि बिटिया के माता-पिता प्रदेश के स्थायी निवासी हैं तभी वह आवेदन के लिए पात्र हैं।
  • इस योजना के लिए प्रदेश की प्रत्येक परिवार की दो बेटिया को आवेदन के लिए पात्र बनाया गया हैं। एक परिवार की तीसरी बिटिया इस योजना का लाभ नहीं ले सकती है।
  • यदि आवेदक बिटिया के परिवार की वार्षिक आय 3 लाख रूपये से अधिक है तो वह कन्या सुमंगला योजना आवेदन के लिए पात्र नहीं है।
  • उत्तर प्रदेश की प्रत्येक महिला को दूसरे प्रसव पर जुड़वाँ बच्चे पैदा होने की स्थिति में तीसरी संतान के रूप में लड़की को भी लाभ अनुमन्य होगा।
  • यदि किसी परिवार ने किसी अनाथ बच्ची को गोद लिया है तो अनाथ बच्ची समेत केवल परिवार की एक बालिका योजना में आवेदन हेतु पात्र है।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार
    कार्ड (Aadhar Card)
  • बिटिया
    का फोटो
  • अभिभावक
    का निवास प्रमाण
    पत्र
  • आय
    प्रमाण पत्र
  • बैंक
    पासबुक
  • शपथ
    पत्र (Self Certified Income
    Certificate)
  • गोद
    लिए बच्चे का
    प्रमाणपत्र (यदि कोई
    हो)
  • अभिभावक
    का पैन कार्ड
  • वोटर
    आईडी कार्ड (Voter ID Card)

MKSY Kanya Sumangala Yojana Registration @mksy.up.gov.in

आपके
द्वारा ऊपर दिए गए पात्रता
मानदंडों को पूरा
किये जाने किये
जाने की स्थिति
में आप दिए गए चरणों
के द्वारा कन्या
सुमंगला योजना के
लिए रजिस्ट्रेशन करा
सकेंगे।

  • सबसे पहले आपको महिला एवं बाल विकास मंत्रालय (MKSY Official Website) की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको बाई और मेन्यू में Citizen Service Portal लिंक पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।
  • नए पेज पर आपसे योजना के नियम एवं शर्तो के लिए सहमति मांगी जाएगी। यहाँ आपको नीचे “I Agree” के लिंक पर क्लिक करना होगा।
mksy.up.gov.in
  • अब आपके सामने एक नए पेज पर MKSY पोर्टल के लिए रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा। इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी जानकारी जैसे नाम ,आधार नंबर ,मोबाइल नंबर और OTP डालकर सत्यापित करना होगा।
  • आपके द्वारा दर्ज OTP के सत्यापित होने पर आपका पंजीकरण पूरा हो जायेगा। इसके बाद आपको आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर की सहायता से लॉगिन आईडी और पासवर्ड प्राप्त होगा।
mksy.up.gov.in
  • आपको अपने मोबाइल पर प्राप्त लॉगिन आईडी और पासवर्ड की सहायता से (mksy.up.gov.in) आधिकारिक वेबसाइट पर लॉगिन करना है। अब आपके सामने आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर कन्या सुमंगला योजना पंजीकरण फॉर्म खुल जायेगा।
  • आपको इस फॉर्म में सभी जानकारियों को दर्ज करके समस्त आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करना होगा। इसके बाद आप रजिस्ट्रेशन प्रकिया पूर्ण करने के लिए “Send SMS OTP” के लिंक पर क्लिक कर दे।

इस
प्रकार आपका ऑनलाइन
रजिस्ट्रेशन पुआ हो
जायेगा जिसके बाद
आपकी बिटिया कन्या
सुमंगला योजना (MKSY) का
लाभ लेने के लिए पात्र
हो गयी है।

यह भी पढ़े – राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म | पात्रता एवं आवेदन की स्थिति जांचे

हम
उम्मीद करते हैं की आपको MKSY Official Website (mksy.up.gov.in) से सम्बंधित जानकारी
जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के
जवाब देने की कोशिश की है।

यदि
अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते
हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *