Internet क्या है?

दोस्तों हम सभी जानते हैं कि Internet Information Technology की सबसे आधुनिक प्रणाली है।
इसे Network का महाजाल भी कहा जाता है।. यहाँ पर सभी Networks एक दुसरे के साथ जुड़े हुए होते हैं।.
आज के समय में हम बिना Internet के अपने जीवन की कल्पना भी नही कर सकते हैं।
लगभग सभी चीज़ों के लिए हमें Internet का इस्तेमाल करना पड़ता है।
जैसे किसी भी Information को पहुँचाना हो या फिर Information को Store करना इत्यादि।
दोस्तों जिस चीज़ का हम इतना इस्तेमाल करते हैं उसके बारे में हमें सम्पुर्ण जानकारी होनी ही चाहिए चाहे उसका इतिहास हो या अविष्कार हमें सब जानकारी होनी चाहिए।
आज के समय में जिसको देखो वही Mobile में लगे रहता है।
और युवाओं की तो बात ही क्या उनका Mobile वो भी बिना Internet के हो ही नहीं सकता है।
चाहे Social Networking Sites हो या Online Marketing , E – Banking ,
हर एक जगह पर Internet ने अपनी पैंठ बना ली है।

Internet का Full Form..??

दोस्तों Internet के बारे में आगे बढ़ने से पहले हमारा ये जानना बहुत जरूरी है कि ये
Internet है क्या और इसका Full Form क्या है। ..??
सबसे पहले आपको इसका Full Form बताते है।
Internet का Full Form
“Interconnected Network” होता है।
दोस्तों आज की आधुनिक दुनिया Internet की दुनिया है जो हमारी जीवनशैली का एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है।
जिसकी पहुंच दुनिया के हर कोने तक है।
ये Information का Technology का एक ऐसा समुद्र है जिसमें हर तरह की जानकारी समाहित है।
अगर सीधा और आसान शब्दों में कहें तो Internet दो वर्ड से मिलकर बना है।
Inter + Net. = Internet
जहां Inter का मतलब होता है एक दुसरे से जुड़ा हुआ वही Net का मतलब होता है जाल।
ये एक ऐसा Global Network होता है। जिसके द्वारा बहुत सारे Computers अलग अलग जगहों अलग अलग समय पर एक दुसरे से Data Exchange करने के लिए Connect होते हैं।
ये Router एवं Server के माध्यम से दुनिया के किसी भी Computer को आपस में जोड़ता है।
Information को आदान-प्रदान करने के लिए TCP/IP PROTOCOL के माध्यम से दो Computers के बीच स्थापित Connection को Internet कहा जाता हैं।

Internet की परिभाषा..

A Global Computer Providing A Variety Of Information And Communication Facilities, Consisting Of Interconnected Networks Using Standardized Communication Protocols.

Internet की परिभाषा हिंदी में –

Internet का इतिहास

इंटरनेट दुनिया का बहुत ही बड़ा नेटवर्क का जाल है यह एक ग्लोबल कंप्यूटर नेटवर्क होता है जो की बहुत से प्रकार के Information और Communication Facilities प्रदान करता है।.


Internet को किसी एक आदमी की खोज नहीं किया ज्ञहै। , इसे Develop करने के लिए बहुत सारे Computer , Sciencetis , Engineers , Professors , और Companies लगे हैं। इन्टरनेट की शुरुआत सन् 1957 में COLD WAR के समय , अमेरिका ने Advanced Research Projects Agency (ARPA) की स्थापना की जिसका उद्देश्य एक ऐसी Technology को बनाना था , जिससे की एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर से जोड़ा जा सके।

समय के साथ साथ इसके नाम में भी परिवर्तन हुआ और 1980 तक आते-आते उसका नाम Internet हो गया Vinton Cerf और Robert Kahn ने TCP/IP Protocol को सन् 1970s Invent किया।

Internet में भी सबसे पहले Email Network को Introduce किया गया था जिसे
1972 में , Ray Tomlinson ने किया था।
उन्होंने ही ये पहला E-Mail संदेश भेजा और जैसे जैसे E-Mail के जरिये Information भेजने के फायदों का पता चलता गया इसका प्रयोग भी बढता गया और इस तरह यह Network लोकप्रिय हो गया।

सन् 1979 में British डाकघर में पहली बार Internet का प्रयोग Technology के रूप में किया गया। 

जब 1 January , 1983 में ARPANET ने TCP/IP को Adopt किया उसी समय
January 1 , 1983 में Internet
की शुरुआत  से हुई।

1984 में इस Network से लगभग 1000 से ज्‍यादा Computer जुड गये थे। धीरे धीरे दूसरे क्षेत्रों में भी Information को Share करने के लिये इस Network का प्रयोग किया जाने लगा और यह Network बडा रूप धारण करने लगा।

सन् 1986 में इसे एन0एस0एफ0नेट का नाम दिया गया और धीरे धीरे सारी दुनिया को इण्‍टरनेट ने अपने कब्‍जे में कर लिया।

Internet की शुरुआत भारत में

Internet की शुरुआत भारत में –

दोस्तों अब हम बात करते हैं कि भारत में Internet की शुरुआत कब कहां और कैसे हुई Internet की शुरुआत से पहले भारत ने इस क्षेत्र में कई उतार-चढ़ाव को देखा है आइए जानते हैं कि वो क्या थे –

भारत में Internet की स्थापना सन् 1986 में हुई थी।
Department Of Electronics (DOE)
ने सरकार की सहायता से Educational Research Network (ERNET) की स्थापना की थी। जिसका मुख्य उद्देश्य शोध के लिए छात्रों को जरूरी जानकारी उपलब्ध करवाना था।

शुरुआत में IISC ( Indian Institute Of Science) जो कि बेंगलुरु में स्थित है।
उसके बाद पांच IIT’s (Indian Institute Of Technology) जो की दिल्ली मुंबई कानपुर खड़कपुर और मद्रास जैसे बड़े बड़े संस्थानों को इससे जोड़ा गया था।

भारत में इसकी शुरुआत Publicly 14 August 1995 में हुई वो भी State-Owned Videsh Sanchar Nigam Limited (VSNL) के द्वारा जो कि उस समय की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी थी।
उसने Internet को आम लोगों के लिए लांच किया था।

बड़े-बड़े शहर जैसे Delhi Mumbai Kolkata Chennai Bangalore जैसे शहरों के लोग
Dial Up Connection के जरिए Internet Access करते थे।

VSNL ने Internet Launch होने के कुछ महीनों के अंदर ही 10,000 Subscriber जुड़ चुके थे। हालांकि शुरुआत में कई तरह के Hardware और Network Issues का भी सामना करना पढ़ा था।

इसके साथ ही 1 October 2000 को BSNL
की भी स्थापना हुई थी।

उसके बाद भारत में पहली बार 10 April 2012 को Airtel ने 4G Service Launch कर दी उसके बाद लगभग सभी Companies ने यही कर दिया।

5 September 2016 को Mukesh Ambani ने Reliance Jio को Launch करके देशभर में Internet की क्षेत्र में एक Digital क्रांति ला दिया।

Reliance jio ने 2G 3G छोड़कर सिर्फ अपने 4G Package पर ध्यान दिया जिसका रिजल्ट आप सबके सामने हैं Reliance jio के खास 4G Package ने तहलका ही मचा दिया है।

आज भारत Internet Use का प्रयोग करने वाला दूसरा सबसे बड़ा देश बन गया है।

Internet काम कैसे करता है।..??

Internet में Computer आपस में जुडे होते है। , यह ठीक उसी तरह है जैसे हमारे टेलिफोन आपस में जुडे होते है। , हमें अपने कम्प्युटर को Internet से जोडने के लिए ‘Internet Service Provider‘ (इंटरनेट सेवा प्रदाता) से Internet Connection लेना पडता है।
जब हमे यह कनेक्शन मिल जाता है तो हम अपने Computer को Modem, Broadband , या 3G , 4G Network
के जरिए Internet से जोड सकते है।.
Internet से जुडे जुए प्रत्येक Computer की एक अलग पहचान होती हैं जिसे IP Address कहा जाता है।
IP Address को Domain Name Server यानि DNS द्वारा एक नाम दिया जाता हैं जो उस IP Address को Represent करता हैं।

Internet की उपयोगिता..??

दोस्तों पहले के समय में जब लोग के पास Internet की सुविधा नही थी , तो  उन्हें कई प्रकार के सामान्य कार्यों के लिये भी कई घंटों तक लाइनों में लगे रहमा पड़ता था जैसे Railway Tickets , Electricity Bill , Admission Application , Money Transition करने जैसे कार्यों के लिए काफी दिकक्तों का सामना करना पड़ता था।
आज Internet की वजह से हम घर बैठे बैठे ये सारे काम बड़ी ही आसानी से कर लेते हैं।
जिससे हमारे समय की बहुत बचत होती है उन समय में हम अन्य कई काम कर सकते हैं।
जहां लोग दूर होने के कारण सालों साल एक दूसरे को देख नहीं पाते थे इसकी मदद से अब लोग Online Chatting , Video Conferencing के द्वारा दुनिया के किसी भी कोने में रहकर भी अपनों से बात कर पाते हैं उन्हें देख पाते हैं।
Internet के हमारे जीवन में आने के साथ ही , हमारी दुनिया बड़े पैमाने पर बदल गई है इसके द्वारा हमारे जीवन में कुछ Positive तो कुछ Negative बदलाव हुए हैं।
आधुनिक समय में , पूरी दुनिया में Internet एक बहुत ही शक्तिशाली और दिलचस्प माध्यम बनता जा रहा है।
दोस्तों अब तो आप समझ ही गए होंगे कि हमारे जीवन में Internet का कितना महत्व है।

 

Internet का नुक़सान..??

दोस्तों वो कहते हैं ना
“अति किसी भी चीज की अच्छी नहीं होती है उसका परिणाम बुरा ही भोगना पड़ता है।”
ठीक इसी तरह आज के समय में Internet को अत्यधिक इस्तेमाल करने की अति उसका दुष्परिणाम हमारे लिए हमारे Health के लिए हमारे Mental Level के लिए अत्यंत घातक
सिद्ध हो रहा है।

1. Internet के अधिक इस्तेमाल हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यंत हानिकारक है इसके इस्तेमाल से
हमारी आंखों , दिमाग एवं पुरे स्वास्थ्य पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ रहा है।

2. Internet के अधिक इस्तेमाल से ज्यादातर युवा कई चीजो की Addiction लग चुकी है।. बच्चे कई – कई घंटे Online Games व Video देखने मे समय बर्बाद कर देते है।.
आज Internet Addiction , Time Waste , Money Waste और Distraction का कारण बन रहा है।

3. Internet का उपयोग Online Banking , Marketing , Social Networking Sites या अन्य किसी Site का प्रयोग करते है तो आपका Personal Information जैसे- नाम , पता , मोबाइल नंबर इत्यादि का गलत उपयोग हो सकता है।

4. Internet का सबसे बड़ा नुकसान Pornography Sites से है , इस तरह के Site पर ढेरों अश्लील Photo और Vide6 रहते है। इसको देखकर बच्चों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है।

5. Internet के अधिक उपयोग से आपके Computer में Virus का खतरा बढ़ जाता हैं।

6. आज के वक्त झूठी खबरें (Fake News) बहुत तेजी से फैलती हैं और इस का जिम्मेदार कोई और नहीं Internet ही हैं।.

Internet के कुछ मुख्य तथ्य..??

Internet के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य –

बड़े बड़े सहरों में NET को पहुचाया गया।

सन् 1996 में Redifmail नाम की Email Site की हुई भारत में।

भारत मे पहला साइबर कैफ़े सन् 1996 में मुंबई में खुला।

1997 Noukri.com जैसी साईट भारत में बनी, आज हर कोई इसे जनता है।

1999 Hindiportal “webdunia” की सुरुवात हुई‌।

सन् 2000 के दशक तक Technology Act 2000 भारत में लागु हुआ था।

Yahoo इंडिया और MSN इंडिया की भी शुरुआत सन् 2000 के दशक में हुई थी‌।

सन् 2001 Online Train Website irctc.in की शुरुआत हुई थी।


दोस्तों आज की Post में मैंने आपको बताया Internet क्या है और उसके इतिहास के बारे में आपको मेरा ये पोस्ट कैसा लगा मुझें जरुर बताएं।
साथ ही अगर आपके पास Internet से जुड़ा कोई सवाल या जिज्ञासा है तो आप वो भी हमें बता सकते हैं।


Read Our Other Articles

SEO क्या होता है?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *