CT Scan Kya Hai? जानिए CT Scan in Hindi और MRI और CT स्कैन में क्या अंतर है!


सीटी स्कैन हिंदी में: हैलो दोस्तों Hindi Sahayta में आपका स्वागत है। आज की पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे है CT Scan Kya Hai यदि आप जानना चाहते है तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे है इसके साथ ही CT Scan Kya Hota Hai, CT Scan Cost की पूरी जानकारी भी हम आपको देंगे।

MRI Scan Kya Hota Hai यह भी आज आप इस पोस्ट के माध्यम से जान पाएंगे। और हम आपको बिल्कुल सरल भाषा में इसके बारे में पूरी जानकारी देंगे। आशा करते है की आपको हमारी सभी पोस्ट पसंद आ रही होगी और इसी तरह आगे भी हमारे ब्लॉग पर आने वाली पोस्ट को पसंद करते रहे।

दोस्तों आपने सिटी स्कैन के बारे में तो सुना ही होगा आज हम इस पोस्ट में इसी विषय पर चर्चा करेंगे और यह भी बतायंगे की सिटी स्कैन क्या होता है यह क्यों करवाया जाता है और किन परिस्थितियों में करवाया जाता है ऐसी ही कई सारी जानकारी आज हम आपको इस माध्यम से देंगे।

विषयों की सूची

आप सभी यह तो जानते ही होंगे की आज के समय में हमारे शहर में बीमारियां कितनी तेज़ी से फ़ैल रही है अब आप हमारे आस पास ही या घर के किसी भी सदस्य को देख लो कोई ना कोई बीमारी निकल ही जाएगी तो उन सारी बिमारियों के लिए भी कई सारे टेस्ट और स्कैन होते है इन्ही से सम्बंधित एक टेस्ट सिटी स्कैन भी होता है इसमें कम्प्युटर के द्वारा मनुष्य के शरीर से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण अंगो की जाँच करके बीमारी का पता लगाया जा सकता है।

तो दोस्तों आइये जानते है CT Scan Kaise Hota Hai अगर आप इसके बारे में जानना चाहते है तो इसके लिए आपको हमारी आज की पोस्ट हिंदी में सीटी स्कैन क्या है शुरू से अंत तक पढना होगा तभी आपको इसकी पूरी जानकारी मिल पायेगी।

CT Scan Kya Hai

सिटी स्कैन का अविष्कार ब्रिटिश सर गॉडफ्रे हंसफील्ड और डॉ एलन कोर्मेक ने स्वतंत्र रूप में किया था। एक्स-रे एवं कंप्यूटर की सहायता से किये जाने वाले टेस्ट को सिटी स्कैन कहा जा सकता है जैसा की आप सभी जानते ही होंगे की पुराने समय में शारीरिक बिमारियों का पता लगाना कितना मुश्किल होता था।

लेकिन इस अविष्कार के होते ही इसमें कंप्यूटर के उपयोग से एक्स-रे मशीनों से मनुष्य के शरीर के क्रॉस-आंशिक चित्र बनाने का कार्य किया जाने लगा और एक टेस्ट के माध्यम से यह भी पता लगाया जाने लगा की बीमारी कितनी पुरानी है और कितनी बड़ी है। सिटी स्कैन का प्रयोग शरीर के मुख्य अंग जैसे- सिर, कंधो, दिल, पेट आदि को स्कैन करने में किया जा सकता है।

सीटी स्कैन का फुल फॉर्म “कंप्यूटेड टोमोग्राफी स्कैन” होता है

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: BDS Kya Hai? BDS Kaise Kare? – जानिए Dentist Doctor Kaise Bane की पूरी जानकारी हिंदी में!

CT Scan Kaise Hota Hai

सिटी स्कैन करने से पहले व्यक्ति को कुछ भी खाने पीने के लिए नही दिया जाता और सिटी स्कैन होते समय अगर उसने कोई लोहे की धातु या सोने के गहने जेवरात पहने हो तो उन्हें निकाल दिया जाता है। उसके बाद व्यक्ति को बड़े आकार की सिटी स्कैन मशीन के अंदर टेबल पर सुलाया जाता इस दौरान व्यक्ति को हिलना डुलना बिल्कुल नहीं होता है नहीं तो स्कैन का चित्र धुंधला हो सकता है इसलिए मरीज को अंत तक एक ही स्थिति में रहने को कहा जाता है।

सिटी स्कैन के द्वारा एक संकीर्ण एक्स-रे बीम का प्रयोग किया जाता है और वह व्यक्ति के शरीर के आस-पास घुमता है और शरीर के अलग-अलग भागों से छवियों की एक श्रृंखला तैयार करता है। शरीर के सभी भागो का क्रॉस सेक्शनल चित्र बनाने के लिए इसमें कंप्यूटर के द्वारा इस जानकारी को उपयोग किया है।

कई टुकड़ो में चित्र बनाने के बाद कंप्यूटर के द्वारा इस तरकीब को अपनाया जाता है। उसके बाद कंप्यूटर इन चित्रों को स्कैन करके 3डी इमेज के आकार में बदल दिया जाता है जिसे डॉक्टर्स आसानी से देख लेते है और इसमें शरीर के सभी अंगो का चित्र स्पष्ट दिखाई देता है।

CT Scan Kyu Hota Hai

सिटी स्कैन का उपयोग मुख्य रूप से चोटों और शरीर में हो रही बिमारियों का इलाज करने के लिए किया जाता है क्योंकि इसके द्वारा निकली रिपोर्ट्स से स्पष्ट हो जाता है की मरीज़ को क्या बीमारी है और शरीर का कौन सा हिस्सा किस कारण से प्रभावित है। सिटी स्कैन के द्वारा यह सभी टेस्ट करने में बहुत समय लिया जाता है और इन बिमारियों का टेस्ट लेने में मरीज़ के शरीर को CT Scan से Scan किया है जैसे –

  • मांसपेशियों के विकार और हड्डी फ्रैक्चर
  • ट्यूमर (कैंसर) के बारे में जानने के लिए
  • कैंसर रोग और हृदय रोग
  • रक्त वाहिकाओं और आंतरिक संरचनाओ का अध्ययन
  • आंतरिक चोंटे और आंतरिक रक्तस्राव की मात्रा का आंकलन

MRI Kya Hai

MRI मतलब यह एक ऐसी मशीन होती है जिससे मनुष्य के शरीर से जुड़े सभी भीतरी अंगों का फोटो लिया जाता है और यह पता लगाया जाता हैं की आपके शरीर में क्या बीमारी है। इस परीक्षण के बाद डॉक्टर्स आपको यह समाधान दे सकता है की आपको इलाज के लिए क्या प्रतिक्रिया देना चाहिए और MRI सिटी स्कैन से सम्बंधित MRI रेडिएशन का इस्तेमाल कभी भी नहीं करता।

जरूर पढ़े: BSF Kya Hai? BSF Ka Itihas Kya Hai – जानिए BSF Kaise Join Kare पूरी जानकारी हिंदी में!

MRI Scan Kyu Kiya Jata Hai

MRI स्कैन के द्वारा ह्रदय, लिवर, गर्भाशय, मस्तिष्क, हड्डियों, जोड़ों, किडनी और शरीर के अंदर के रोगों यानि पूर्ण शरीर की जांच की जा सकती है और उपकरणों को मरीज के शरीर में पहुचाये बिना ही उसके अंगों की स्थिति स्कैन चित्रों की सहायता से आसानी से  मिल जाती है। MRI स्कैन एक खास और मजबूत रिजल्ट देता है जिससे चिकित्सको को रोगों की पहचान करने और उनका इलाज करने में मदद मिलती है।

MRI Scan Kaise Hota Hai

  • सबसे पहले तो मरीज़ के हाथों की नस पर एक Galenline Contrast Dye को रखा जाता है जिसके द्वारा MRI मशीन से चिकित्सक शरीर के अंदर की संरचना को देखा जा सकता है।
  • उसके बाद मरीज को टेबल पर लेटाया जाता है और उसके पैरों पर एक बेल्ट लगा दिया जाता है जिससे मरीज कोई हलचल ना कर पाए आराम से लेटा रहे ताकि MRI छवि साफ आए और टेक्निशियन को जाँच करने में भी परेशानी ना हो।
  • MRI मशीन के अंदर एक प्रभावशाली चुम्बकीय स्थान होता है जिसके कारण मरीज थोड़ा विचलित और अटपटा सा महसूस करता है।
  • MRI स्कैनिंग में Impulsion बनने से MRI दृश्य या चित्र एक Layer के रूप में कंप्यूटर को भेजता है।
  • MRI कराते समय मरीज को मशीन के अंदर एक आवाज महसूस हो सकती है। क्योंकि MRI मशीन के द्वारा Layer रूप में एक छवि लेने के लिए चुम्बकीय ऊर्जा तैयार होती है। और आवश्यकता  पड़ने पर आंतरिक शोर गुल से बचने के लिए हैडफ़ोन, एयरप्लग या रुई का उपयोग हो सकता है।

एमआरआई पूर्ण रूप

MRI Ka Full Form होता है : MAGNETIC RESONANCE IMAGING

एमआरआई और सीटी स्कैन के बीच अंतर हिंदी में

तो चलिए जानते है MRI और CT Scan दोनों में क्या अंतर है।

  • MRI Scan के द्वारा शरीर के मुलायम अंगो और हड्डियों  की एक छवि बनाने के लिए चुंबकिय स्थान और रेडियो तरंगो का उपयोग किया जाता है जबकि CT Scan अन्य कणो पर ली गई एक्स-रे छवियों की श्रंख्ला का संयोजन है और यह चित्र बनाने के लिए उपयोग भी करता है।
  • MRI Scan को छवियों के विस्तार के रूप में बेहतर माना जाता है और CT Scan में एक्स-रे का उपयोग किया जाता है जबकी MRI Scan में इसका उपयोग नहीं होता है।
  • MRI Scan शरीर के आंतरिक अंगों के बारे में अनेक जानकारी प्रदान करते है जबकि CT Scan में मस्तिष्क, कंकाल और प्रजनन आदि प्रणालियों के विषय में जानकारी प्रदान करते है।
  • MRI Scan और CT Scan दोनों ही शरीर की हड्डियों की संरचनाओं को देख सकते है। जबकि MRI Scan केवल एक विस्तार प्रदान करता है मुख्य रूप से शरीर की हड्डियों के आसपास के मुलायम कणो को।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े: USSD Code Kya Hai? USSD Codes Se Banking Kaise Kare – जानिए USSD Code Se Paise Kaise Transfer Kare विस्तार में!

निष्कर्ष:

तो दोस्तों कैसी लगी आपको हमारी आज की पोस्ट CT Scan Kyu Kiya Jata Hai हमें Comment Box में Comment करके ज़रूर बताये आशा करते है की आपको MRI Scan Kya Hota Hai इस बारे में सब कुछ अच्छे से समझ में आया होगा।

हिंदी में सीटी स्कैन क्या है की जानकारी के लिये हमारी इस पोस्ट की मदद ज़रुर ले। एमआरआई स्कैन हिंदी में क्या है? आप इस पोस्ट के माध्यम से सब कुछ अच्छे से जान गये होंगे। तो आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें comment करके ज़रुर बताये।

इस पोस्ट की पूरी जानकारी आप अपने Friends को भी दे और सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट सीटी स्कैन हिंदी में ज़रूर शेयर करे। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक यह जानकारी पहुँच सके। हमारी पोस्ट हिंदी में MRI क्या है? में आपको कोई परेशानी है या आपके मन में कोई सवाल है तो इस पोस्ट के सम्बन्ध में Comment करके हमसे पूछ सकते है। हम आपकी अवश्य सहायता करेंगे।

अगर आप हमारी Website के Latest Update पाना चाहते है तो हमारी Hindi Sahayta की Website को Subscribe करना ना भूले। इससे आपको हमारी New पोस्ट के Latest Update मिलते रहेंगे तो Friends आज के लिए बस इतना ही फिर मिलेंगे आपसे ऐसी ही आवश्यक जानकारियाँ लेकर तब तक के लिए अलविदा आपका दिन मंगलमय रहे।

क्या आपको नीरज जीवनानी के आर्टिकल पसंद आयें? अभी फॉलो करें सोशल मीडिया पर!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *