B.Ed Kya Hai? – जानिए बीएड कोर्स की पूरी जानकारी।


अगर आप जानना चाहते हैं B.ed Kya Hai तो बी.एड. (Bachelor of Education) दो वर्षीय स्नातक कोर्स है, इसे शिक्षक प्रशिक्षण स्नातक कहना भी उचित होगा। आप चाहे प्राथमिक, माध्यमिक या उच्च शिक्षा स्तर के शिक्षक बनने के इच्छुक हों, पर्याप्त योग्यता अनिवार्य है। B.Ed. Course शिक्षक बनने के लिए Professional Degree है। बी.एड. कोर्स में अध्ययनरत छात्र प्रशिक्षु शिक्षक कहे जाते है।

विषयों की सूची

समाज में यह भ्रान्ति व्याप्त है की शिक्षक तो कोई भी बन सकता है, लेकिन शिक्षक वह नहीं होता जो बच्चों को सिर्फ जानकारी दे बल्कि एक शिक्षक पर बच्चों के व्यक्तित्व और उनके भविष्य का उत्तरदायित्व होता है।

बच्चों का विकास सिर्फ Knowledge Gain करने से संभव ही नहीं, इसके लिए शिक्षक का ‘शिक्षा जीवन दर्शन’, ‘शिक्षार्थी की मानसिक स्थिति’ और ‘शिक्षा द्वारा समाजिक आवश्यकताओं की पूर्ती’ के परिप्रेक्ष्य में संपूर्ण जानकारी होना तथा शिक्षण कौशल में निपुण होना नितांत आवश्यक है।

शिक्षक बनना बहुत सम्मान की बात होती है। हमारे देश में शिक्षक का पद पूजनीय माना जाता है, इसी कारण सरकार ने शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने के लिए 2019 में सरकारी तथा निजी विद्यालयों के लिए शिक्षक की न्यूनतम योग्यता बी.एड. प्रशिक्षण अनिवार्य कर दिया।

B.ed क्या है?

अगर आप Teaching Profession में Career बनाना चाहते है, तो आपको पता होना चाहिए कि B.Ed क्या है? और इस Profession से जुड़ी जानकारी होनी चाहिए। इस आर्टिकल में हम आप को आसान हिंदी भाषा में बताएँगे कि bed kya hai (What is B.Ed in Hindi), बी.एड. फुल फॉर्म क्या है (B.Ed Full Form), B.Ed Kitne Saal Ka Course Hai, (Information About B.Ed. Course) B.ed full form in hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी।

बी एड पैटर्न

इसके बिना आप Teaching Profession में अपना Career नहीं बना सकते। बी.एड.करने पर छात्रों को Teaching Skill सिखाई जाती है और प्रशिक्षण के द्वारा शिक्षण कला में पारंगत किया जाता है।

बी एड का पूरा फॉर्म

B.ed Full Form (बी एड फुल फॉर्म) बी.एड. का पूरा नाम ‘’शिक्षा में स्नातक” है। बीड फुल फॉर्म हिंदी में ‘शिक्षाशास्त्र में स्नातक’ कहते है।

दोस्तों अब आपको समझ आ गया होगा की बी.एड. क्या होता और बी एड का फुल फॉर्म क्या है? B.Ed. Course Details और B.Ed की पूरी जानकारी (B.Ed Karne Ke Liye Qualification) पाने के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

B.Ed Ke Bare Me Jankari

आप में से बहुत से लोग जानते होंगे की बी.एड. कितने साल का है, बी एड कोर्स दो साल का डिग्री कोर्स है। B.Ed Ki Fees वैसे तो College पर निर्भर करती है की आप कौन से College से B.Ed कर रहे हो Government या Private लेकिन सामान्यतः बीएड की फीस 20,000 से 50,000 रुपए तक होती है।

बी.एड. की पूरी जानकारी जानने के लिए बी.एड. प्रवेश परीक्षा से शुरू करते है।

B.Ed. Course में प्रवेश के इच्छुक छात्र Entrance Exam के द्वारा प्रवेश ले सकते है। Top Rank हासिल करने वाले छात्रों को पहले Counselling का मौका पहले मिलता है, जिससे वे अपनी वरीयता के अनुसार College का चुनाव कर सकते है। अधिकतर छात्र गवर्नमेंट कॉलेज के लिए प्रयासरत रहते है, इनमें कम फ़ीस में उत्तम शिक्षण व्यवस्था होती है।

बी.एड. कोर्स रेगुलर के साथ-साथ Distance Learning यानि IGNOU से भी किया जा सकता है।

प्रवेश परीक्षा देने के लिए कुछ निर्धारित मानकों को पूरा करना होगा जैसे –

आप बी एड.कोर्स के लिए तभी आवेदन कर सकते है, जब आप किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से कला विज्ञान या कॉमर्स से स्नातक हों बिना ग्रेजुएशन किए आप बी.एड. नहीं कर सकते। बी.एड. के लिए न्यूनतम स्नातक 50% अंकों से पास किया हो। आपकी आयु 19 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए।

एक अच्छा शिक्षक बनने के लिए आपको कई विषयों की Basic Knowledge होनी ज़रूरी है। बी.एड. सब्जेक्ट्स लिस्ट और बी.एड. की फ़ीस, स्थान तथा यूनिवर्सिटी मानकों के अनुसार होती है। बी.एड. में पढ़ाए जाने वाले मुख्य विषय निम्नलिखित है –

  • शिक्षा दर्शन ( Educational Philosophy)
  • शैक्षिक समाजशास्त्र
  • शिक्षा मनोविज्ञान एवं बाल विकास (Educational Psychology and Child Development)
  • मार्गदर्शन और परामर्श
  • विद्यालय प्रबंधन एवं नेतृत्व (Educational Leadership and Management)
  • भारत में शिक्षा व्यवस्था का विकास एवं चुनौतियाँ (Development of Education System in India and Its Challenges)
  • पाठ्यक्रम विकास और आकलन (Curriculum Development and Evaluation)
  • समग्र शिक्षा (Inclusive Education)
  • सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी का शिक्षा में प्रयोग (Information and Communication Technology, ICTE)

बीएड कोर्स (B.Ed Course) के लिए Minimum Qualification

बीएड कोर्स (B.Ed Course) के फायदे

निष्कर्ष

बी.एड. करने के अनेक फायदे है बी.एड. के बाद आप किसी भी सरकारी, सहायता प्राप्त या निजी स्कूल में पढ़ाने के योग्य हो जाते है। उच्च शिक्षा स्तर पर प्रशिक्षण पाने के लिए यानि एम.एड. करने के लिए आपकी बी.एड. होना ज़रूरी है। आप एक अच्छे प्रशिक्षित शिक्षक बन कर दूसरों के साथ-साथ अपना भी ज्ञान बढ़ा सकते है।

शिक्षा का निजीकरण होने से देश भर में अप्रशिक्षित शिक्षक बढ़ते गए जिन्हे न ही पर्याप्त शिक्षण विधियों का ज्ञान था और न ही शिक्षा के महत्व से भली-भाँती परिचित थे। हमारे समाज को ऐसे ऐसे जुझारू शिक्षकों की बहुत ज़रूरत है, जो सिर्फ पेशेवर शिक्षक बन कर न रह जाए बल्कि निस्वार्थ भाव से बच्चों के सर्वांगीण विकास की ज़िम्मेदारी ले सके।

वर्ष 2011 के बाद से भारत सरकार ने शिक्षकों के स्तर और गुणवत्तापरक शिक्षा के प्रसार के लिए बी.एड. के साथ टीईटी शिक्षक पात्रता परीक्षा (शिक्षक पात्रता परीक्षा) को उत्तीर्ण करना भी अनिवार्य किया है। सरकारी टीचर की नौकरी पाने के लिए यह परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य है।

दोस्तों, उम्मीद है आपको हमारा लेख B.Ed Kya Hai in Hindi पसंद आया होगा और इससे आपको बी.एड. का मतलब क्या होता है स्पष्ट हो गया होगा। इस पोस्ट को आप अपने परिवार तथा मित्रों से शेयर कर ये उपयोगी जानकारी उन तक पहुंचा सकते है। आप हमे कमेंट कर अपने सुझाव दे सकते है या लेख से संबंधित प्रश्न पूछ सकते है। हमारे लेख को अंत तक पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

यह पोस्ट भी जरूर पढ़े:

D.Ed Kya Hai? – जानिए डीएड कोर्स की पूरी जानकारी।

TET Exam Kya Hai? TET Exam Ki Taiyari Kaise Kare – जानिए TET Exam Kaun De Sakta Hai हिंदी में!

योगदान देने वाला

क्या आपको निखत इलियास के आर्टिकल पसंद आयें? अभी फॉलो करें सोशल मीडिया पर!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *