Artificial Intelligence Kya Hai? जानिए Artificial Intelligence in Hindi पूरी जानकारी


लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

अगर आप इस बात से अनजान है कि Artificial Intelligence Kya Hai? AI Kya Hai तो आपको टेंशन लेने की ज़रूरत नहीं क्योंकि इस पोस्ट में हम आपको Artificial Kya Hota Hai, Artificial Intelligence in Hindi Meaning, Artificial Intelligence Definition in Hindi की पूरी जानकारी उपलब्ध करवाएंगे।

विषयों की सूची

वर्तमान समय में Automatic चीजों और Automatic Machine का इस्तेमाल बहुत ज्यादा होने लग गया है और इनमें जिस तकनीक का उपयोग होता है उसे हम आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस (Al) कहते है। आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस की बात करे तो आर्टिफीसियल मतलब कृत्रिम जो किसी व्यक्ति के द्वारा बनाया जाता है और इंटेलिजेंस मतलब बुद्धिमत्ता जो खुद की सोचने की शक्ति रखता हो।

आप सभी मार्वल सिनेमेटिक यूनिवर्स की फिल्में तो देखते ही होंगे यदि नहीं भी देखी है तो आपने रजनीकांत की रोबोट और 2.0 तो देखी ही होगी। इस फिल्म में दर्शाया गया रोबोट चिट्टी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का एक बेहतरीन नमूना है। इस पोस्ट द्वारा हम आपको Artificial Intelligence In Hindi यानि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्‍या होता है की जानकारी प्रदान करने जा रहे है। तो आइये अब जानते है What is Artificial Intelligence in Hindi, Meaning of Artificial Intelligence in Hindi

Artificial Intelligence Kya Hai

Artificial Intelligence Kya Hai

कंप्यूटर विज्ञान में कृत्रिम बुद्धिमत्ता (AI) को मशीन इंटेलिजेंस के नाम से भी जाना जाता है। यह मशीनों के द्वारा प्रदर्शित एक इंटेलिजेंस होती है, जो मनुष्य के द्वारा दर्शायी जाने वाली प्राकृतिक इंटेलिजेंस से विपरीत होती है। बोलचाल की भाषा में, “कृत्रिम बुद्धिमत्ता” शब्द का उपयोग अक्सर मशीनों या कंप्यूटर का वर्णन करने के लिए किया जाता है जो ज्ञान से सम्बन्धित कार्यों की नकल करते है तथा मानव मन के साथ जुड़ते है, जैसे “सीखना” और “समस्या को हल करना”।

मानव के अंदर एक ऐसी Intelligence शक्ति है जिसकी मदद से वह अपने आप कुछ ना कुछ सीखता रहता है जैसे- किसी चीज़ को देखकर, किसी आवाज़ को सुनकर और किसी को टच या महसूस करके इससे उसे यह पता चल जाता है की उसे अब क्या करना है। ठीक इसी प्रकार Automatic Machine और रोबोटों के अंदर भी एक इंटेलिजेंस विकसित किया जाता है जिसे हम Artificial Intelligence कहते है।

क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी: SSL Certificate Kya Hai? SSL Kaise Kaam Karta Hai? – जानिए SSL Certificate Kaise Install Kare हिंदी में!

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इतिहास हिंदी में

वैसे तो प्राचीन समय से ही कृत्रिम शिल्पों के मिथकों, कहानियों और अफ़वाहों के साथ मास्टर कारीगरों की सोच से Artificial Intelligence History के बारे में जानकारी प्राप्त होती है परन्तु आधुनिक AI शास्त्रीय दार्शनिकों द्वारा शुरू की गयी। जिन्होंने मानव सोच को यांत्रिक हेरफेर के रूप में प्रदर्शित करने का प्रयास किया तथा इस कार्य का समापन 1940 के दशक में प्रोग्रामेबल डिजिटल कंप्यूटर के आविष्कार में हुआ, जो कि गणितीय तर्क पर आधारित एक मशीन थी।

कंप्यूटर में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है

AI कंप्यूटर विज्ञान की ही एक शाखा है इसके द्वारा एक ऐसी मशीन या रोबोट का निर्माण किया जा रहा है, जो एक व्यक्ति की तरह सोच सके और काम कर सके जैसे- खुद से कुछ ना कुछ सीखना, काम करने की प्लानिंग करना, किसी की आवाज़ से उसे पहचान लेना, और कोई समस्या आने पर उसे हल कर लेना यह होने के बाद एक मैकेनिकल रोबोट तैयार हो जायेगा जो बिल्कुल मनुष्य की तरह ही सोचता होगा। कंप्यूटर में सभी कार्य जैसे गणनाओं को करना, इंटरनेट पर सर्च करना, गेम खेलना, Artificial Intelligence Software आदि सभी कंप्यूटर में AI के लिए एक प्रकार की कृत्रिम बुद्धि परिभाषा है।

Artificial Intelligence Ke Upyog In Hindi

नीचे प्रदर्शित बिन्दुओ के आधार पर Advantages Of Artificial Intelligence को आसानी से समझा जा सकता है:

24/7 उपलब्धता

मशीनों को इंसानों की तरह लगातार ब्रेक और रिफ्रेशमेंट की आवश्यकता नहीं होती है। इसलिए इन्हे लंबे समय तक काम करने के लिए प्रोग्राम किया जा सकता है और यह बिना किसी ऊब या विचलन के अर्थात बिना थके लगातार काम करने में सक्षम होती है। मशीनों का उपयोग करके, हम उस तरह के परिणामों की अपेक्षा कर सकते है जिनकी हम मनुष्य से शायद उम्मीद भी नहीं कर सकते।

डे टू डे आवेदन

हमारी दैनिक ज़रूरतों में, स्मार्टफोन भी मनुष्य के लिए रोटी, कपड़ा और मकान के बाद जीने के लिए 4थी सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता बन जाता है। यदि आप स्मार्टफोन का उपयोग कर रहे है, तो इसका मतलब है कि आप AI का आनंद तो ले रहे है परन्तु आपको इसका ज्ञान नहीं है। इसके अलावा हम लॉन्ग ड्राइव और ट्रेकिंग के लिए GPS से मदद लेना भी बहुत पसंद करते है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का सर्वाधिक उपयोग वित्तीय संस्थानों और बैंकिंग क्षेत्रों में डाटा को व्यवस्थित और प्रबंधित करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा AI का उपयोग धोखाधड़ी का पता लगाने तथा स्मार्ट कार्ड आधारित लेन-देन के सिस्टम में भी किया जाता है।

डिजिटल सहायता

बहुत से उन्नत संगठनों ने इस टेक्नोलॉजी का उपयोग करके अपने ग्राहकों के साथ बातचीत करने के लिए मशीनों को लागू कर दिया है। जो कि एक डिजिटल सहायक है और यह मानव संसाधनों की आवश्यकता को कम करने में मदद करती है। रोबोट उपयोगकर्ता के इमोशंस की पहचान नहीं कर सकते है। यह वास्तव में केवल तार्किक रूप से सोचने के लिए प्रोग्राम किया गया है और यह उस मशीन को सिखाए गए अनुभव के आधार पर ही निर्णय लेते है।

रेपिटेटिव जॉब को संभालना

एक ही तरह के काम को बार-बार किया जाना बहुत ही थकान वाला होता है। AI एल्गोरिदम की मदद से इस तरह की नौकरियों को बहुत ही आसानी से संभाला जा सकता है। इन नौकरियों के लिए ज्यादा बुद्धिमत्ता की आवश्यकता नहीं होती है। मशीनें मनुष्यों की अपेक्षा बहुत तेजी से सोचती है और यह बेहतर परिणाम पाने के लिए मल्टी-टास्किंग कार्य को भी कर सकती है। इसके साथ ही इन मशीनों को खतरनाक कार्यो में भी उपयोग किया जा सकता है जहां मनुष्य के कार्य करने पर चोट लगने की संभावना हो। जब भी हम किसी मशीन को गेम खेलने या कंप्यूटर नियंत्रित रोबोट चलाने के लिए संचालित करते है, तो इसका अर्थ होता है कि हम वास्तव में AI मशीनों के साथ बातचीत कर रहे है।

चिकित्सा अनुप्रयोग

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के महान लाभों में से एक चिकित्सा का क्षेत्र भी है। चिकित्सक, रोगी के स्वास्थ्य से संबंधित आंकड़ों का आकलन करके AI की मदद से स्वास्थ्य देखभाल उपकरणों को चिकित्सा के लिए सूचित करते है। यह रोगियों पर होने वाली अलग-अलग दवाओं के दुष्प्रभावों को जानने में मदद और व्यक्तिगत डिजिटल देखभाल का कार्य भी कर सकती है। AI मानव मस्तिष्क की कार्य-क्षमता का अनुकरण कर सकती है, इसलिए मानसिक रूप से बीमार रोगियों के अवसाद से बाहर आने के लिए अक्सर इलाज में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस रोबोट का इस्तेमाल किया जाता है, जिससे वे वास्तविक दुनिया में भी सक्रिय रहते है।

खतरनाक अन्वेषण

कृत्रिम बुद्धिमत्ता और रोबोटिक्स विज्ञान की तकनीकी विकास में बहुत ही आकर्षक प्रगति पर है। इसके उपयोग से, हम बहुत सारे डाटा को संभाल सकते है। इन सभी जटिल मशीनों का उपयोग मनुष्य की सीमाओं को पार करने के लिए किया जाता है। ये मशीनें बिना किसी अंतराल के अधिक से अधिक ज़िम्मेदारी के साथ कठिन और सटीक कार्य कर सकती है।

जरूर पढ़े: मशीन लर्निंग क्या है और यह कैसे काम करती है? – Machine Learning Online Courses & Fees!

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस उदाहरण

आज के समय में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बहुत ही लोकप्रिय होता जा रहा है। बहुत से तकनीकी विशेषज्ञों का मानना है कि AI हमारा भविष्य है, वैसे तो वर्तमान में भी हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का पहले से ही बहुत ज्यादा उपयोग कर रहे है परन्तु भविष्य में इसके और अधिक आगे जाने की संभावनाएँ है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस अच्छी तरह से समझने के लिए नीचे इसके कुछ महत्वपूर्ण उदाहरण प्रदर्शित है:

महोदय मै

सीरी एप्पल के द्वारा उपलब्ध करवाया गया है, तथा यह पर्सनल असिसटेंट का सबसे बेहतरीन उदाहरण है। परन्तु यह सुविधा केवल आईफोन तथा आईपैड में ही उपलब्ध है। इसके द्वारा हमारी भाषा को समझने के लिए मशीन लर्निंग टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है। इसके अलावा इसके जैसी ही डिवाइस एलेक्सा, बिग्सबी और गूगल भी है।

टेस्ला

सिर्फ स्मार्टफोन ही नहीं ऑटोमोबाइल सेक्टर्स द्वारा भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का आज के समय में बहुत ज्यादा उपयोग किया जाने लगा है। अगर आप कार पसंद करते है तो आपको टेस्ला की जानकारी ज़रुर होगी। टेस्ला से कनेक्टेड होने के बाद कार में सेल्फ ड्राइविंग, टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन तथा प्रोडक्टिव कैपेब्लिटी जैसे फीचर्स ऑन हो जाते है।

Google AI

Google AI की मदद से आप बहुत सी जानकारी प्राप्त कर सकते जैसे- Education के लिए आपको पढ़ाई की बहुत सारी जानकारी मिल जाएगी। इसमें आपको अपनी योग्यता को बढ़ाने के लिए भी केटेगरी मिलती है, मज़ाक मस्ती या बातचीत करने के लिए भी इसमें बहुत सी अलग-अलग केटेगरी है साथ ही यहाँ पर आपको अपने काम को आगे कैसे बढ़ाया जाए उसके लिए भी अलग से केटेगरी मिल जाएगी।

घोंसला

Nest सबसे पुराने और प्रसिद्ध, AI स्टार्टअप की श्रेणी में आता है। सन 2014 में इसे गूगल द्वारा ख़रीद लिया गया है। इसके द्वारा प्रदान किया गया Nest Learning Thermostat हमारे प्रतिदिन के शेड्यूल और व्यवहार के आधार पर ऊर्जा को बचाने में मदद करता है। इस विधि के लिए Nest द्वारा Behavioral Algorithm का उपयोग किया जाता है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कोर्स

आज के समय में कृत्रिम बुद्धिमत्ता तकनीकी की लोकप्रियता दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है तथा इसके साथ ही इस क्षेत्र में रोज़गार की नयी तथा बहुत सारी संभावनाएं उभर कर आ रही है। यदि आप प्रोफेशनल Artificial Intelligence Future की तलाश कर रहे है तो इसके लिए नीचे प्रदर्शित Artificial Intelligence Course की जानकारी ली सकती है।

संगठन का नामपाठ्यक्रम का नाम
गौतम बुद्ध विश्वविद्यालयM.Tech आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोटिक्स में
जेवियर स्कूल ऑफ कम्प्यूटर साइंस एंड कम्प्यूटर, जेवियर यूनिवर्सिटी भुवनेश्वरM.Tech आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में
एमिटी यूनिवर्सिटी, गुरुग्रामM.Tech आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोटिक्स में
राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, श्रीनगरसर्टिफिकेट इन रोबोटिक प्रोग्रामिंग एंड मेंटेनेंस
चंडीगढ़ विश्वविद्यालयआर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग में एम.ई.
एजिस स्कूल ऑफ बिजनेस, डेटा साइंस, साइबर सिक्योरिटी एंड टेलीकम्युनिकेशनआईबीएम के साथ मिलकर एप्लाइड एआई, मशीन लर्निंग और डीप लर्निंग में पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, गोरखपुररोबोटिक्स में सर्टिफिकेट
IIT जोधपुर – भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IITJ)M.Tech आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में
PU – पूर्णिमा विश्वविद्यालयएआई और प्रोसेस ऑटोमेशन में बीसीए
SSOU – सिम्बायोसिस कौशल और मुक्त विश्वविद्यालयपोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन डेटा साइंस एंड आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस
iLEAD इंस्टीट्यूट ऑफ लीडरशिप, एंटरप्रेन्योरशिप एंड डेवलपमेंटएमएससी मानव कम्प्यूटिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में
उषा मार्टिन यूनिवर्सिटीआर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग में डिप्लोमा

यह पोस्ट भी पढ़े: Google Assistant Kaise On Kare? – जाने गूगल असिस्टेंट का उपयोग व इसे हिंदी में कैसे करे!

नूकसान को कृत्रिम बुद्धिमत्ता

जैसा की ऊपर हमने आपको बताया था कि, Artificial Intelligence मनुष्य और तकनीकी का भविष्य है इसके द्वारा वो सभी कार्य किये जा सकते है, जो की मनुष्यों के लिए स्वयं द्वारा कर पाना संभव नहीं है। वैसे तो भविष्य मे यह टेक्नोलॉजी हमारे लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होने वाली है परन्तु अगर यह गलत हाथों मे लग जाए जैसे आतंकवादी, नक्सलवादी इत्यादि, तो यह संपूर्ण मानव जाती के लिए एक बहुत बड़ा खतरा पैदा कर सकती है। हाल ही में सऊदी अरब की एक ऑयल फैक्ट्री में किया गया ड्रोन हमला इसका विनाशकारी उदाहरण है।

निष्कर्ष:

Artificial Intelligence Ke Janak जॉन मैकार्थी (सितम्बर 4, 1927 – अक्टूबर 24, 2011) को माना जाता है जो कि एक अमेरिकी कंप्यूटर वैज्ञानिक थे। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अनुप्रयोग में हेल्थ केयर, ऑटोमोटिव, फ़ाइनेंस तथा इकोनॉमिक्स, सरकारी काम-काज, गेम्स, मिलिट्री, आर्ट, ऑडिट, विज्ञापन आदि प्रमुख है। अगर आपको आर्टिफिशियल् इंटेलिजेंस क्या है इन हिंदी की जानकारी पसंद आयी हो तो इसे शेयर करना न भूले।

योगदान देने वाला

क्या आपको एडिटोरियल टीम के आर्टिकल पसंद आयें? अभी फॉलो करें सोशल मीडिया पर!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *