सड़क सुरक्षा नियम, Traffic Challan Fine Rates 2021


नए ट्रैफिक नियम पीडीएफ लिस्ट, New Traffic Rules In India, नया मोटर वाहन अधिनियम 2021, नए ट्रैफिक नियम 2021 की जानकारी हिंदी में आपको इस लेख में दी जाएगी। भारत में 1 सितम्बर 2019 से Motor Vehicle Act (संशोधन) को लागु कर दिया गया है। केंद्र सरकार द्वारा नए ट्रैफिक नियमो (नए यातायात नियम) और चालान या जुर्माने के राशि को बढ़ाया गया है।  अब मोटर व्हीकल एक्ट में कार्यान्वयन के बाद  ट्रैफिक नियमो को  तोड़ने पर वाहन चालकों को पहले की तुलना में जुर्माना कई गुना बढ़ा दिया गया है।

हम जानते हैं कि हमारे देश में अधिकतर मृत्यु सड़क हादसे में हो जाती हैं, जिसका कारण ट्रैफिक नियमों को तोडना  माना जाता है। सड़क पर बढ़ रहे हादसों को रोकने के लिए नए यातायात नियम केंद्र सरकार द्वारा लागू कर दिए गए हैं। अब देश के सभी लोगों को नए ट्रैफिक नियम का पालन करना होगा। इस लेख में हम आपको नए ट्रैफिक कानून की संशोधन की आवश्यकता, उद्देश्य के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

नया मोटर वाहन अधिनियम 2021

भारत में सबसे ज्यादा लोग ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करते हैं, जिसका भुगतान सड़क हादसे भुगतना पड़ जाता है। सरकार नहीं  चाहती कि हमारे देश में सड़क हादसे की दर में बढ़ोतरी हो। इस सभी समस्याओं को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा नया मोटर वाहन अधिनियम 2021 लागू किया गया है, जिसके माध्यम से सड़क पर होने वाले हादसों पर रोक लगायी जा सकेगी और मृत्यु दर में कमी आएगी।

पतंजलि डीलर/डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बने पूरी जानकारी

नए यातायात नियम

हमारे देश में यातायात नियम न्यू मोटर वाहन के अधिनियम, 2019 के अनुसार किया गया है। इस नए Motor Vehicle Act के अनुसार मानक से कमतर इंजन की गाड़ी बनाने वाली कंपनियों पर 500 करोड़ तक का जुर्माना लगाया जायेगा। सामान्यतः धारा-177 और नयी धारा -177 के तहत ट्रैफिक नियम का उलंघन करने पर 100 रुपए का चालान काटता था, परन्तु अब यह जुर्माना 500 रुपए कर दिया गया है।

सड़क सुरक्षा न्यू यातायात नियम 2021

  • नए ट्रैफिक कानून के अनुसार ड्राइविंग लाइसेंस नियमों को तोड़ने वाले लोगो पर 1 लाख रूपये का जुर्माना लगाया जायेगा।
  • यदि कोई सड़क पर तेज रफ्तार से गाड़ी चलता है, तो उस पर 1,000 से 2,000 रुपये का जुर्माना लगेगा।
  • नए ट्रैफिक नियम के अनुसार कोई कोई नाबालिक गाड़ी चलता हुआ पकड़ा गया तो उसे 25 हज़ार रूपये का जुर्माना देना होगा साथ ही उसकी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया जायेगा और नाबालिक का ड्राइविंग लाइसेंस 25 की उम्र तक नहीं बन पायेगा।
  • जो लोग ड्राइविंग करते समय मोबाइल पर बात करने वाले, ट्रैफिक जम्प करने वालो को, गलत दिशा में ड्राइव करने वालो को ,खतरनाक ड्राइविंग करने वालो को और बेवजह ट्रैफिक जाम करने वालो को नए यातायात नियम के अनुसार भारी जुर्माना देना होगा।

मोटर वाहन अधिनियम में संशोधन की आवश्यकता

मोटर वाहन 1989 अधिनियम में संशोधन किया गया है, जो 1 अक्टूबर 2020 से लागू कर दिया गया है। इन संशोधनों में कई सारे मुख्य बदलाव किए गए हैं जैसे कि अब आपको किसी भी प्रकार के भौतिक दस्तावेजों को हर जगह ले जाने की जरूरत नहीं है। आप अपने सभी दस्तावेज तथा ड्राइविंग लाइसेंस की सॉफ्ट कॉपी भी अपने पास रख सकते हैं। यह फैसला डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने के लिए किया गया है। मोटर वाहन अधिनियम में कई और संशोधन किए गए हैं जिसमें से कुछ मुख्य संशोधन निम्न प्रकार दिए गए हैं-

दस्तावेजों का भौतिक सत्यापन

नए सड़क सुरक्षा नियम ट्रैफिक कानून के अनुसार दस्तावेजों को भौतिक रूप से दिखाने की आवश्यकता  नहीं होगी और यदि कोई ट्रैफिक अधिकारी आपके ड्राइविंग लाइसेंस को रद्द करना चाहता है, तो वह वेब पोर्टल के माध्यम से ड्राइविंग लाइसेंस को रद्द कर सकता है।

चालक तथा ट्रैफिक अधिकारी की जानकारी

चालक का व्यवहार भी मोटर वाहन अधिनियम के अंतर्गत देखा जाएगा तथा पुलिस अधिकारी की पहचान भी पोर्टल में अपडेट की जाएगी।

वाहन निरीक्षण

यदि किसी भी ड्राइवर या वाहन का निरीक्षण किया जाएगा, तो उसका रिकॉर्ड भी वेब पोर्टल पर अपडेट किया जाएगा। यदि किसी अपराधी का ड्राइविंग लाइसेंस रद्द हो जाता है, तो अपराधी को डिजिटल पोर्टल पर रिपोर्ट करना आवश्यक है।

नए मोटर व्हीकल एक्ट के अंतर्गत ई चालान

वह सभी लोग जो ट्रैफिक नियमों को तोड़ेंगे, तो उन्हें मोटर व्हीकल एक्ट 1989 के अंतर्गत जुर्माना देना अनिवार्य होगा। आप आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से सभी ट्रैफिक नियमों को तोड़ने वाले लोगों के लिए ई चालान जारी कर दिया जाएगा।

डिजी लॉकर तथा एम परिवहन

डिजी लॉकर या फिर एम परिवहन के जरिये ड्राइविंग लाइसेंस और अन्य दस्तावेज जैसे पंजीकरण प्रमाण पत्र को स्टोर किया जा सकता है, जिससे कि आपके आपके दस्तावेजों की किसी भी प्रकार की हानि ना हो सके।

हैंडहेल्ड संचार उपकरण

कोई भी वाहन चालक किसी भी हैंडहेल्ड संचार उपकरण का उपयोग करके रूट नेविगेशन कर सकता है, लेकिन इसके लिए चालक का यह सुनिश्चित होना जरूरी है कि वाहन चालक का ध्यान ड्राइविंग पर है या नहीं।

ड्राइविंग से संबंधित दस्तावेजों की सॉफ्ट कॉपी

नए ट्रैफिक कानून के अनुसार वाहन चालक को अपने सभी दस्तावेजों को मोबाइल में स्टोर करके रखना आवश्यक है, जिससे उन्हें कोई भी दस्तावेज भौतिक रूप से अपने साथ रखने की आवश्यकता नहीं होगी। यदि ट्रैफिक पुलिस ड्राइविंग लाइसेंस या फिर अन्य दस्तावेज मांगती है तो वाहन चालक अपने मोबाइल सॉफ्ट कॉपी दिखा सकता है।

मुख्या विशेषता न्यू ट्रैफिक रूल्स

नामNew Traffic Rules इन हिंदी
आरम्भ की गईभारत सरकार द्वारा
नए ट्रैफिक नियम लागू की तिथि1 सितम्बर 2019
लाभार्थीआम जन
श्रेणीनई ट्रैफिक रूल से संबंधित जानकारी प्रदान

नए ट्रैफिक कानून 2021 का उद्देश्य

हम जानते हैं कि हमारे देश में अधिकतर लोग सड़क ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करते हैं, जिसके कारण भारत सबसे ज्यादा मृत्यु सड़क हादसे में होती है। देश में कानून पहले से ही लागू थे, परन्तु चालान की राशि काम होने के कारण कोई भी जुरमाना भर देता था, जिससे सड़क हादसे ज्यादा होते थे। इसी समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा नए यातायात नियम लागू किये गए हैं, जिसके माध्यम से सड़क दुर्घटनाएं कम हो सकेंगी।

नए ट्रैफिक कानून 2021 का उद्देश्य यह है कि देश में होने सबसे ज्यादा हादसों पर रोक लगायी जा सके। इन ट्रैफिक नियमों के माध्यम से अब जो भी व्यक्ति नियमों को तोड़ेंगे तो उन्हें कई गुना जुर्माना भरना होगा। नए ट्रैफिक कानून के अनुसार देश में सभी व्यक्ति यातायात नियमों का पालन करेंगे। इन नियमों के साथ-साथ सजा का भी प्रावधान किया गया है। नए ट्रैफिक नियम के माध्यम से सड़क दुर्घटना दर में कमी आएगी।

मोटर वाहन अधिनियम 2021, नए ट्रैफिक नियम चालान की दरें

अपराधपहले चालान या जुर्मानाअब चालान या जुर्माना
सामान्य (177)100 रूपये500 रूपये
रेड रेगुलेशन नियम का उल्लंघन (177A)100 रूपये500 रूपये
अथॉरिटी के आदेश की अवहेलना (179)500 रूपयेरुपये
अनाधिकृत गाड़ी बिना लाइसेसं चलाना (180)रुपये5000 रूपये
अयोग्यता के बावजूद ड्राइविंग (182)500 रूपये10000 रूपये
बिना लाइसेंस के गाड़ी चलाना (181)500रूपये5000 रूपये
ओवर साइज वाहन (182B)5000 रूपये
ओवर स्पीडिंग (183)400 रूपये1000 रूपये
खतरनाक तरीके से गाड़ी चलाना(184)1000 रूपये5000 रूपये
शराब पीकर गाड़ी चलाना (185)रुपये10000 रूपये
रेसिंग और तेज़ गति से गाड़ी चलाना (189)500 रूपये5000 रूपये
ओवर लोडिंग (194)2 हज़ार रूपये और 10000 रूपये प्रति टन अतिरिक्त20 हज़ार रूपये और 2 हज़ार रूपये प्रति टन
सीट बेल्ट (194B)100 रूपये1000 रूपये
बिना पर्मिट के गाड़ी चलाना (192A)5 हज़ार रूपये तक10 हज़ार रूपये तक
लाइसेंस कंडीशन का उल्लंघन (193)कुछ भी नहीं25 हज़ार रूपये से 1 लाख रूपये तक
पैसेंजर की ओवर लोडिंग (194A)कुछ भी नहीं1000 रूपये प्रति पेसेंजर
दोपहिया वाहन पर ओवर लोडिंग100 रूपये2 हज़ार रूपये और तीन महीने के लिए लाइसेंस रद्द
हेलमेट न पहनने पर100 रूपये1000 रूपये और तीन महीने के लिए लाइसेंस  रद्द
एमरजेंसी वाहन को रास्ता न देने पर (194E)कुछ भी नहीं 10000 रूपये
बिना इंशोरेंस के गाड़ी चलाने पर (196)1000 रूपये2000 रूपये
दस्तावेज़ों को लगाने की अधिकारियो की शक्ति  (206) कुछ भी नहीं183,184,185,189,190,194c,194D 194Eके तहत ड्राइविंग लाइसेंस को रद्द किया जायेगा
अधिकारियो को लागू करने से किये गए अपराध (210B)कुछ भी नहींसम्बंधित अनुभाग के तहत दो बार जुर्माना

नए ट्रैफिक नियमों को लागू कर उनमे संशोधन करने वाले राज्य

भारत में कई राज्य ऐसी है जिन्होंने नए ट्रैफिक नियमो को लागु तो किया लकिन कुछ समय बाद ही उनमे महत्वपूर्ण परिवर्तन कर दिए।

राज्य का नामसंशोधित ट्रैफिक जुर्माना
गुजरातभाजपा समर्थित सरकार ने नए ट्रैफिक नियमो को लागु किये जाने के कुछ दसमय बाद ही जुर्माने को कम करने 25-90 फीसदी कर दिया। यह निर्णय मानवीय और दयालुता के आधार पर लिया गया।
उत्तराखंडउत्तराखंड सरकार नाते ट्रैफिक नियमो को लागु किए जाने के कुछ संद ही बड़े परिवर्तन कर दिए। उदहारण के लिए वैध लाइसेंस के बिना ड्राइविंग करते पकडे जाने पर जुर्माना 10,000 रुपये से घटाकर 5,000 रूपये कर दिया गया।
कर्नाटककर्नाटक सरकार ने ट्रैफिक नियमो से सम्बंधित 18 अपराधों का जुर्माना 30% से घटाकर 50% कर दिया। उदाहरण के लिए, बिना सीटबेल्ट पहने गाड़ी चलाने पर लगने वाले जुर्माने को 1,000 रुपये से घटाकर 500 रूपये कर दिया गया है।
गोवाप्रारम्भ में गोवा सरकार द्वारा नए यातायात नियमो के कार्यान्वयन को स्थगित कर दिया गया था। इसके कुछ समय बाद कुछ अपराधो में संशोधन के साथ इसे लागु कलर दिया गया।
ओडिशाओडिशा में अधिकतर यातायात नियमों में बदलाव कर दिया गया है।
हरियाणाहरियाणा ने भी नए मोटर वाहन अधिनियम के तहत संशोधनों को लागू किये जाने के कुछ समय बाद ही संशोधन कर दिया। अब कई अपराधों में जुर्माने की राशि को काफी कम कर दिया गया है।

नए ट्रैफिक नियमों को होल्ड पर रखने वाले राज्य

तेलंगाना एक मात्र ऐसा राज्य है जिसने ट्रैफिक नियमो को लागु किया और उसके बाद उन्हें होड़ पर रख दिया। इसके पीछे तर्क उच्च दंड से नागरिको को होने वाले परशानियों को बताया गया है।

यह भी पढ़े – SMS के द्वारा टोल टैक्स की जानकारी, टोल प्लाजा रेट व अन्य जानकारी घर बैठे जाने

हम उम्मीद करते हैं की आपको नए ट्रैफिक नियम से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

पूछे गए प्रश्नों के उत्तर

नया मोटर वाहन अधिनियम 2019 क्या है?

तेज़ ड्राइविंग जैसे गंभीर अपराधों को रोकने के लिए और ट्रैफिक नियमों को तोड़ने के लिए ट्रैफिक पुलिस द्वारा लिये जाने वाले जुर्माने में वृद्धि की गई हैं।

क्या मोटर वाहन बिल में संशोधन आवश्यक है?

हाँ, क्योकि 30 साल पुराने कानून को बदलना एवं वाहन चालकों को जिम्मेदार बनाना बहुत आवश्यक है, जिससे यातायात के नियमों के प्रति लोगों को जागरूक किया जा सके।

नया एमवी अधिनियम क्या है?

सन 2019 का मोटर वाहन अधिनियम सन 1988 के लिए एक संशोधन है, जिसमें जुर्माना काफी अधिक बढ़ा दिया गया है, जिससे नियमों को तोड़ने की सम्भावना को कम किया जा सकेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *