(रजिस्ट्रेशन) हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन फॉर्म


Medha Protsahan Yojana Application Form 2021 | Registration under Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana | मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश आवेदन फॉर्म

हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 को  प्रदेश सरकार द्वारा  मेधावी छात्र छात्राओं को आर्थिक रूप से मदद करने के लिए शुरू की गयी है | इस योजना के अंतर्गत राज्य के गरीब और आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्गों (SC, ST, OBC, BPL, IRDP ) के विधार्थियो को कोचिंग प्रयोजन(For Coaching Purpose for Students ) के लिए सरकार द्वारा 1 लाख रूपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान(An incentive of Rs 1 lakh will be provided )  की जाएगी | एचपी मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 गरीब और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों (Economically Weaker Sections) के सभी छात्रों के लिए वरदान के रूप में कार्य करेगी  |

Medha Protsahan Yojana

Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana 2021

एचपी सरकार द्वारा  इस मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 के तहत कक्षा 12 वी के छात्र छात्राओं  के लिए  यूपीएससी और एसएससी ( UPSC ,SSC )  द्वारा आयोजित सभी प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं (Competitive Examinations) के लिए कोचिंग दिलाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी  और कॉलेज मेधावी छात्रों को 1 लाख रुपये तक की सहायता प्रदान करने और एनईईटी, आईआईटी-जेईई, एम्स, सीएलएटी, एएफएमसी परीक्षा( NIIT ,IIT – JEE , AIM ,CLAT AFMC ), विशेषज्ञ संकाय की तैयारी के लिए मेधा प्रोत्साहन योजना शुरू की गयी है। इस Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana 2021 के अंतर्गत इंटरमीडिएट स्तर के 350 छात्र छात्रों को तथा स्नातक स्तर के 150 अभ्यर्थियों को उनकी मेरिट के आधार पर चयनित किया जायेगा | इस योजना के अंतर्गत उच्चतर शिक्षा विभाग ,हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा मेधावी छात्रों को राज्य और राज्य से बाहर के संस्थानों में कोचिंग दिलाई जाएगी |

हिमाचल प्रदेश मेघा प्रोत्साहन योजना नियमों में संशोधन

हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत छात्रों को प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करने का प्रावधान है। इस योजना के अंतर्गत हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा विद्यार्थियों को ऑनलाइन कोचिंग प्राप्त करने के लिए भी पैसे दिए जाएंगे। कोरोनावायरस संक्रमण को देखते हुए सरकार द्वारा इस योजना के दिशा निर्देशों में संशोधन किया गया है। सभी पात्र विद्यार्थी 10 फरवरी 2020 तक ऑनलाइन संस्था का चयन करके आवेदन कर सकते हैं। इसी के साथ इस योजना के अंतर्गत बारहवीं कक्षा के तथा कॉलेज में पढ़ने वाले 500 छात्रों को कोचिंग प्रदान करने के लिए ₹100000 की धनराशि प्रदान की जाएगी।

इस योजना के अंतर्गत विद्यार्थियों द्वारा ऑनलाइन कोचिंग भी प्राप्त की जा सकती है तथा अपने पसंद के संस्थान से व्यक्तिगत रूप से कोचिंग भी प्राप्त की जा सकती हैं। इसके लिए उनको पहले से कोचिंग पैनल में शामिल होना अनिवार्य नहीं है। इस योजना के अंतर्गत केवल वही छात्र पात्र हैं जिनके परिवार की वार्षिक आय 2.5 लाख रुपय फिर उससे कम है।

मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश 2021

Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana 2021 के अंतर्गत इंटरमीडिएट कक्षा में पढ़ रहे सामान्य वर्ग के विधार्थियो द्वारा 10 +1 कक्षा में कम से कम 75 प्रतिशत अंक प्राप्त किये हो तथा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति ,पिछड़ा वर्ग ,आई आर डी पी, बीपीएल(SC , ST ,OBC , IRDP , BPL category ) आदि वर्गो के विधार्थियो द्वारा 10 +1 कक्षा में कम से कम 65 प्रतिशत अंक प्राप्त किये होना अनिवार्य है | इस योजना के तहत इंटरमीडिएट की कक्षा पास कर चुके विधार्थियो के मामले में क्र संख्या 2 के अनुरूप सामान्य वर्ग के विधार्थियो के 75 % अंक होने(Students of general category having 75% marks ) चाहिए और आरक्षित वर्ग के विधार्थियो के 65 % अंक(65% marks of reserved class students ) होने चाहिए | स्नातक स्तर के सामान्य वर्ग के  विधार्थियो की अंक की प्रतिशतता 50 और आरक्षित वर्ग के विधार्थियो की अंको की प्रतिशतता 45 होने चाहिए |

Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana 2021

योजना का नामहिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना
इनके द्वारा शुरू की गयीहिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा
लाभार्थीराज्य के विधार्थी
उद्देश्यकोचिंग प्रदान करना

हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन संस्थानों की चयन प्रक्रिया

  • सरकार द्वारा कोचिंग संस्था को तय करने के लिए कुछ दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत कोचिंग संस्थाओं में आवश्यक संख्या में शिक्षक होने अनिवार्य हैं।
  • यह शिक्षक नियमित या फिर दैनिक या फिर अंशकालिक वेतन पर हो सकते हैं। संस्था में आवश्यक आधारभूत ढांचा होना अनिवार्य है। जिसमें परिसर, पुस्तकालय आदि होने चाहिए। संस्थानों में जो कोचिंग कार्यक्रम संचालित किए जाएंगे उनमें संस्था को न्यूनतम 3 वर्ष का अनुभव होना अनिवार्य है।
  • यदि कोई संस्था ऐसी है जिसके अंतर्गत सफलता की दर काफी अधिक है तो ऐसी संस्था को 3 साल से कम काम करने पर भी पात्र माना जाएगा। वह सभी कोचिंग संस्थान जो प्रवेश परीक्षाओं के लिए कोचिंग दे रहे हैं और उनके छात्र प्रतिष्ठित संस्थानों में प्रवेश करने में सक्षम हो गए हैं उन्हें हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत प्राथमिकता प्रदान की जाएगी।
  • विभागीय वेबसाइट पर सभी छात्रों की सूची अपलोड कर दी गई है। सभी चिन्हित छात्रों को संस्था का चयन करना होगा एवं 10 फरवरी 2021 को 5:00 बजे तक [email protected] पर ईमेल करके सूचना प्रदान करनी होगी |

मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश 2021 का उद्देश्य

राज्य के जो लोग आगे उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रतियोगी परीक्षा देने के लिए कोचिंग लेना चाहते है लेकिन आर्थिक रूप से कमज़ोर होने कारण कोचिंग नहीं ले पाते है | इस समस्या को देखते हुए राज्य सरकार ने इस योजना को शुरू किया है इस योजना के अंतर्गत मेधावी छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओ के लिए  कोचिंग प्रदान  करने के लिए 1 लाख रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान करना | मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश 2021 के ज़रिये दी जाने वाली धनराशि से विधार्थी प्रतियोगिता की तैयारी के दौरान ,अपने भरण पोषण ,संस्थान की फ़ीस , किताबे ,कोचिंग सेण्टर की फीस आदि के लिए इस्तेमाल कर सकते है |इस योजना के ज़रिये छात्रों को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना |

मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 के मुख्य तथ्य

  • राज्य के स्कूल और कॉलेज के आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग के विधार्थियो को हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा 1 लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी |
  • इस हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 में 30 प्रतिशत सीटे छात्राओंके लिए आरक्षित रहेगी और अन्य सीटे में आरक्षण सरकार के नियमो के अनुरूप रहेगा |
  • सभी 12 वीं कक्षा के छात्रों को प्रवेश परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए उचित मार्गदर्शन की आवश्यकता है। इसलिए, सरकार उन्हें राज्य में या राज्य के बाहर कोचिंग प्राप्त करने में सहायता करेगी।
  • कॉलेज के छात्रों को नौकरी से संबंधित परीक्षाओं (Job-related Examinations) के लिए कोचिंग प्राप्त करने के लिए सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के तहत आवेदन करने वाले लाभार्थियों के परिवार की वार्षिक आय 2 .50 लाख रूपये से अधिक नहीं होनी चाहिए |
  • एचपी मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 के अंतर्गत जेईई, नीट, एफएमसी, एनडीए, सीएलएटी,यूपीएससी, एसएससी, बैंकिंग/ इंश्योरेंस और रेलवे क्षेत्र में नौकरी के लिए कोचिंग के लिए आवेदन कर सकते है |
  • इस योजना के अंतर्गत  कोचिंग सहायता के लिए राज्य सकरार ने 5 करोड़ रूपये का बजट आवंटित किया है |

HP Medha Protsahan Scheme 2021 के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक हिमाचल प्रदेश का स्थायी निवासी होने चाहिए |
  • इस योजना के तहत चयनित अभ्यर्थियों को संस्थान में सभी कक्षाओं में उपस्थित रहना अनिवार्य है |
  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 में आवेदन कैसे करे ?

राज्य
के जो इच्छुक लाभार्थी
इस योजना के तहत आवेदन
करना चाहते है तो वह
नीचे दिए गए तरीके को
फॉलो करे |

  • आपको बता कि इस योजना के तहत आवेदन की अंतिम तिथि 25 दिसम्बर 2019 से बढ़ाकर 15 जनवरी 2020 कर दी है | राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते है
  • तो उन्हें सबसे पहले Department Of Higher Education Himachal Pradesh – Shimla की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन पत्र पीडीएफ को डाउनलोड करना होगा |
  • उसके बाद आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे नाम ,पता ,पैन कार्ड नंबर ,मोबाइल नंबर आदि भरनी होगी
  • इसके बाद   उम्मीदवार अपना आवेदन निदेशक, उच्च शिक्षा, हिमाचल प्रदेश, शिमला के कार्यालय में भेज सकते हैं- 171001 या ईमेल के माध्यम से। [email protected]
  • योजना का पूरा विवरण निदेशक उच्च शिक्षा हिमाचल प्रदेश की वेबसाइट www.educationhp.org पर उपलब्ध है।

संपर्क जानकारी

हमने अपने इस लेख के माध्यम से आपको हिमाचल प्रदेश मेंधा प्रोत्साहन योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कर दी है। यदि आप अभी भी किसी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके या फिर ईमेल लिखकर अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर तथा ईमेल आईडी कुछ इस प्रकार है।

महत्वपूर्ण डाउनलोड

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *