पैन कार्ड क्या है | पैन कार्ड कैसे बनता है


Pan card kya hai. पैन कार्ड क्या है? पैन कार्ड कैसे बनता है? दोस्तों आज हम बताएँगे कि पैन कार्ड ऑनलाइन आवेदन करें कैसे करें आज के समय में सब कुछ बहुत ही आसान हो गया है हम इंटरनेट क़े माध्यम से घर बैठे बहुत से काम कर लेते है जैसे हम Aadhar card का पता बदलना, पैसे भेजना, फिर से दाम लगाना करना और ट्रेन का टिकट बनवाना और भी बहुत से काम है.

pan card kya hai

पण कार्ड आज़ क़े समय में हर भारतीय नागरिक के पास होना चाहिए क्यूँकि पैन कार्ड एक इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम है जिसके द्वारा किसी भी व्यक्ति या कम्पनी को कर से सम्बंधित सभी जानकारी पैन नंबर के द्वारा दर्ज की जाती है आपको बता दु कि कोई भी व्यक्ति/कम्पनी दो कर भरने के लिए एक ही पैन कार्ड का उपयोग नही कर सकता।

पैन कार्ड क्या है (What is Pan Card in Hindi)

पैन (स्थायी खाता संख्या) पैनकार्ड सभी भारत में सभी कर भरने वाले को दिया गया एक पहचान संख्या है पण कार्ड में 10-alphanumeric number दिया जाता है जो भारतीय आयकर विभाग से मिलता है

पैनकार्ड भारतीय आयकर अधिनियम, १९६१ के द्वारा भारत में टुकड़े टुकड़े में कार्ड क़े रूप में बंता है यह भारतीय आयकर विभाग द्वारा केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) की देखरेख में जारी किया जाता है और यह पहचान का एक महत्वपूर्ण प्रमाण भी है।

पैन कार्ड आपके एटीएम कार्ड क़े जैसा ही होता है इसमें आपका नाम, पिता का नाम, जनम तारीक, आपकी फ़ोटो, Sign और स्थायी खाता संख्या आदि छपे होते है

पैन कार्ड की पात्रता (पैन कार्ड किस-किस को जारी किया जाता है)

पण कार्ड किसी भी व्यक्तियों, कंपनियों, भारतीयों या भारत में कर का भुगतान करने वाले किसी भी व्यक्ति को जारी किया जाता है।

Pan card कितने प्रकार के होते है | हिंदी में पैन कार्ड का प्रकार

  1. व्यक्ति
  2. कंपनी
  3. न्यास
  4. समाज
  5. विदेशियों
  6. फर्म/साझेदारी (एलएलपी)

पैन कार्ड दस्तावेज़ लागू करें (पैन कार्ड के लिय कौन -कौन से डॉक्युमेंट्स चाहिए)

पैन कार्ड के लिए दो तरह के दस्तावेज़ की जरूरत होती है। पते का प्रमाण (पीओए) और पहचान का प्रमाण (तब फिर)। निम्नलिखित दस्तावेजों में से किसी भी दो क़े मानदंड को पूरा करना चाहिए

  1. Individual-POI/ POA- Aadhaar, Passport, Voter ID, Driving Licence
  2. कंपनी-पंजीकरण का प्रमाणपत्र कंपनी रजिस्ट्रार द्वारा जारी किया गया
  3. ट्रस्ट-ट्रस्ट डीड कॉपी या चैरिटी कमिश्नर द्वारा जारी रजिस्ट्रेशन नंबर का सर्टिफिकेट कॉपी।
  4. सहकारी समिति के रजिस्ट्रार या चैरिटी कमिश्नर से पंजीकरण संख्या का सोसायटी-प्रमाण पत्र
  5. विदेशी-पासपोर्ट, भारत सरकार द्वारा जारी पीआईओ/ओसीआई कार्ड, आवासीय देश का बैंक स्टेटमेंट, भारत में एनआरई बैंक स्टेटमेंट की कॉपी
  6. फर्म/साझेदारी-फर्मों के रजिस्ट्रार द्वारा जारी पंजीकरण प्रमाण पत्र/सीमित देयता भागीदारी और साझेदारी विलेख

Pan card बनवाने में कितने पैसे लगते है (The cost of pan card)

पैन कार्ड की लागत-110 रुपये
यदि पैन कार्ड भारत से बाहर भेजा जाना है।-1,020 रुपये (लगभग) अगर आप किसी Agent क़े द्वारा बनवाते हो तो 200 रुपये तक भी लग सकते है

पण कार्ड लागू कितने प्रकार से कर सकते है

Online Pan Card Kaise Apply Kare in Hindi

  1. NSDL या UTIITSL वेबसाइट पर जाएँ
  2. फॉर्म भरें, जमा करें और प्रसंस्करण शुल्क का भुगतान करें
  3. पैन कार्ड दिए गए पते पर भेजा जाएगा

Offline Pan Card Apply Kaise Apply Kare in Hindi

  1. आपको अधिकृत पैन कार्ड केंद्र से आवेदन पत्र प्राप्त करना है
  2. आवेदन पत्र भरना है और जो दस्तावेज़ ज़रूरत है उन्हें संलग्न करें करना है फिर फीस क़े साथ जमा करना है
  3. कुछ दिन बाद पैन कार्ड आपके दिए गये पते पर पहुँच जाएगा।

Pan Card में Update कैसे करें

पण कार्ड की अपडेट करें आप बहुत ही सरल तरीक़े से कर सकते है

  • आपको एनएसडीएल वेबसाइट पर जाना है और पैन चयन अपडेट करें को चुनते हैं करना है
  • फिर “भूल सुधार” को चुनते हैं कर के अपडेट करें करना है

इसमें आपको एक Documents की Copy कि ज़रूरत होगी।

Pan Card गुम हो जाए तो क्या करें (Lost Pan Card?)

अगर आपने अपना पैन कार्ड खो दिया है, तो चिंता करने की बात नही है आप ऑनलाइन या ऑफलाइन डुप्लीकेट पैन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते है। एनएसडीएल या UTIITSL वेबसाइट पर लॉग इन करें करें, विदेशी नागरिक के मामले में भारतीय नागरिक के लिए फॉर्म 49-A भरें या अपने पैन कार्ड की डुप्लीकेट कॉपी के लिए भुगतान ऑनलाइन करें। पैन कार्ड आपको 45 दिनों के भीतर भेज दिया जाएगा।

पैन कार्ड में क्या-क्या होता है?

पैन कार्ड में पहचान और आयु प्रमाण जैसी जानकारी होती है इसमें केवाईसी (अपने ग्राहक को जानें) क़े अनुसार पूरी जानकारी का पालन किया जाता है

Pan Card की Detail इस प्रकार है.

  • कार्ड धारक का नाम-व्यक्ति/कंपनी
  • कार्ड धारक क़े पिता का नाम-व्यक्तिगत कार्डधारकों के लिए लागू
  • जन्म तिथि-कार्ड धारक की जन्मतिथि किसी व्यक्ति या पंजीकरण की तारीख के मामले में कंपनी या फर्म के मामले में उल्लिखित है।
  • पैन नम्बर- यह एक 10 अंक का अक्षरांकीय संख्या है और प्रत्येक चरित्र कार्डधारक की अलग-अलग सूचना का प्रतिनिधित्व करता है।
  • पहले तीन पत्र-पूरी तरह से वर्णमाला में हैं और से साथ से तक वर्णमाला के तीन पत्र हैं।
  • चौथा पत्र-यह करदाता की वर्ग का प्रतिनिधित्व करता है। विभिन्न संस्थाएं और उनके संबंधित वर्ण निम्नानुसार हैं

ए-व्यक्तियों का संघ
B-व्यक्तियों का शरीर
सी-कंपनी
एफ-फर्म
जी-सरकार
एच-हिंदू अविभाजित परिवार
एल-स्थानीय प्राधिकरण
जे-कृत्रिम न्यायिक व्यक्ति
पी-व्यक्तिगत
एक ट्रस्ट के लिए व्यक्तियों का टी-एसोसिएशन

  • पाँचवा पत्र-पाँचवाँ पत्र व्यक्ति के उपनाम का पहला अक्षर है
  • शेष पत्र-बचे हुए चरित्र यादृच्छिक हैं। पहले 4 वर्ण संख्या हैं जबकि अंतिम एक वर्णमाला है।
  • व्यक्ति क़े हस्ताक्षर – पैनकार्ड वित्तीय लेनदेन के लिए आवश्यक व्यक्ति के हस्ताक्षर के प्रमाण के रूप में भी कार्य करता ह
  • व्यक्ति की फोटो – पण कार्ड व्यक्ति के फोटो पहचान प्रमाण के रूप में कार्य करता है। कंपनियों और फर्मों के मामले में कार्ड पर कोई तस्वीर मौजूद नहीं होती है।

सामान्य प्रश्न

Pan Card की Validity कितने दिन की होती है

पण कार्ड की वैधता जीवनकाल क़े लिए होती है

यह भी पढ़ें-

Share जरूर करें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *