(पंजीकरण) राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन


मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना राजस्थान आवेदन, Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana लागू, राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और अन्य जानकारी आपको इस लेख में दी जाएगी। भारत सरकार समय-समय पर किसानों के लिए नई-नई योजनाएं एवं सुविधाएं शुरू करती रहती है। इन योजनाओं को शुरू करने के पीछे सरकार का उद्देश्य किसानों को खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना है एवं उन्हें अपने कार्य में किसी समस्या का सामना ना करना पड़े इसके लिए सरकार उनकी सहायता करती रहती है। ऐसे ही कई योजनाएं राजस्थान सरकार द्वारा भी शुरू की गई है। आज हम आपको राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई ऐसी ही एक योजना के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana के नाम से जाना जाता है।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना का सबसे बड़ा लाभ यह है कि यदि किसानों को कृषि गतिविधियों के दौरान किसी हादसे का सामना करना पड़ता है और इससे उनकी मृत्यु हो जाती है या उनको किसी आशिक स्थाई विकलांगता का सामना करना पड़ता है तो ऐसी स्थिति में उन्हें सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। सरकार द्वारा Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 के तहत ₹5000 से लेकर ₹200000 तक के वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021

राजस्थान सरकार ने राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना का शुभारंभ किया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी ने 24 फरवरी 2021 को वित्तीय वर्ष 2021 22 की घोषणा करते हुए Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana Rajasthan की घोषणा की थी। इस योजना के तहत खेती की गतिविधियों के दौरान यदि किसानों को किसी हादसे का सामना करना पड़े तो ऐसी स्थिति में सरकार द्वारा उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना

आज हम यहां आपको अपने इस लेख में Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जैसे कि Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 क्या है? इसका उद्देश्य विशेषताएं पात्रता मानदंड महत्वपूर्ण दस्तावेज लाभ एवं आवेदन प्रक्रिया आदि। तो यदि आप भी राजस्थान राज्य से संबंध रखते हैं और खेती से जुड़े हुए हैं तो यहां आप राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021  से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए हमारे इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक योजना योजना की मुख्य विशेषताएं

योजना का नामराजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना
आरम्भ की गईराजस्थान सरकार द्वारा
वर्ष2021
आर्थिक सहायता राशि₹5000 से लेकर ₹200000 तक
लाभार्थीराजस्थान के किसान
पंजीकरण प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यकिसी दुर्घटना की स्थिति में किसानों को आर्थिक मदद
श्रेणीराजस्थान सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटएचटीटीपी://www.agriculture.rajasthan.gov.in/

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021 पंजीकरण

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021 का लाभ लेने के लिए आपको सबसे पहले योजना के तहत आवेदन करना होगा। आपको योजना के तहत आवेदन करने के लिए किसी भी सरकारी कार्यालय के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं होगी क्योंकि सरकार ने आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन उपलब्ध करा दी है। इसलिए आप घर बैठे आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। यह सुविधा आपका समय और पैसा दोनों की बचत करेगी और इसके साथ ही ऑनलाइन सुविधा प्रणाली में पारदर्शिता लाने में भी सहायक सिद्ध होगी। सरकार ने Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 के लिए 2000 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया है।

Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 के तहत प्रदान की जाने वाली आर्थिक सहायता

परिस्थितिआर्थिक सहायता
मौत₹ 200000
2 अंगों में विकलांगता (या तो 2 हाथ या 2 पैर या 2 आंख या 1 हाथ और 1 पैर)₹ 50000
रीड की हड्डी का टूटना, सिर की चोट के कारण कोमा में जाना₹ 50000
पुरुष या महिला के सिर के पूरे हिस्से के बालों की डी स्कैल्पइंग₹ 40000
पुरुष या महिला के सर के कुछ हिस्से के बालों की डी स्कैल्पइंग₹ 25000
1 अंग में विकलांगता ( या हाथ या पैर या आंख या टखना)₹ 25000
यदि 4 उंगलियां कट जाती हैं₹ 20000
यदि 3 उंगलियां कट जाती हैं₹ 15000
यदि 2 उंगलियां कट जाती है₹ 10000
यदि 1 उंगली कट जाती है₹ 5000
दुर्घटना के कारण फ्रैक्चर5000

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना कालानुकर्मिक क्रम में लाभार्थी

  • पति या पत्नी: लाभार्थी की मृत्यु हो जाने की स्थिति में विकलांगता हो जाने की स्थिति में लाभार्थी के पति या पत्नी को लाभ की राशि प्रदान की जाएगी।
  • बच्चे: यदि लाभार्थी के पति या पत्नी अनुपस्थित है तो ऐसी स्थिति में लाभार्थी के बच्चों को लाभ की राशि प्रदान की जाएगी।
  • वारिस: पति या पत्नी, बच्चे, माता-पिता, पुत्र या पुत्री एवं बहन के ना होने की स्थिति में यदि लाभार्थी का कोई वारिस, वारिस अधिनियम के अंतर्गत है तो ऐसी स्थिति में लाभ की राशि उस वारिस को प्रदान की जाएगी।
  • पोते तथा पोती: लाभार्थी के पति या पत्नी, बच्चे एवं माता-पिता के ना होने की स्थिति में लाभ की राशि लाभार्थी के पोते तथा पोती को प्रदान की जाएगी।
  • बहन: यदि लाभार्थी के कोई अन्य रिश्तेदार नहीं है एवं उसकी कोई अविवाहित/ विधवा या आश्रित बहन लाभार्थी के साथ रहती है तो ऐसी स्थिति में लाभ की राशि लाभार्थी की बहन को प्रदान की जाती है।
  • माता पिता: यदि लाभार्थी के बच्चे एवं पति या पत्नी अनुपस्थित है तो ऐसी स्थिति में लाभ की राशि लाभार्थी के माता-पिता को प्रदान की जाएगी।

ध्यान दें: आकस्मिक मृत्यु या स्थाई विकलांगता की स्थिति में पंजीकृत किसान का पुत्र या पुत्री या फिर पति/ पत्नी राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के तहत पात्र लाभार्थी होंगे। इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी की आयु 5 वर्ष से 70 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana के तहत लाभ प्राप्त करने की प्रक्रिया

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के तहत यदि कृषि गतिविधियों के चलते किसान की मृत्यु हो जाती है या फिर उसे आशिक या स्थाई विकलांगता आ जाती है तो ऐसी स्थिति में सरकार द्वारा उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। आकस्मिक मृत्यु की स्थिति में आवेदक आत्मिक किसान का उत्तराधिकारी होगा और विकलांगता की स्थिति में आवेदक से विकलांग व्यक्ति होगा। लाभार्थी को Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 का लाभ लेने के लिए आवेदन पत्र के साथ सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करके संबंधित विभाग में जाकर जमा करवाना होगा। यदि कोई व्यक्ति दुर्घटना होने के 6 महीने के बाद आकर अपना आवेदन जमा करवाता है तो ऐसी स्थिति में उसे इस योजना के तहत लाभ प्रदान नहीं किया जाएगा। इसलिए यदि आप इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको हादसे के 6 महीने के अंदर ही योजना के तहत अपना आवेदन जमा करवाना होगा।

Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana 2021 का उद्देश्य

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021 को शुरू करने के पीछे सरकार का मुख्य उद्देश्य कृषि गतिविधियों के दौरान होने वाली दुर्घटनाओं की स्थिति में किसानों को वित्तीय सहायता देना है। इस योजना के तहत यदि किसान कृषक गतिविधियों के दौरान किसी प्रकार की दुर्घटना का सामना करते हैं तो ऐसी स्थिति में उन्हें सरकार द्वारा ₹5000 से लेकर ₹200000 तक के वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। ताकि यदि कृषक के कोई चोट लगी है तो वैसे अपना इलाज करवा सकें और यदि कृषक की मृत्यु हो चुकी है तो उनके परिवार के लोग अपना जीवन यापन कर सके। राजस्थान सरकार का Rajasthan Mukhyamantri Krishak Sathi Yojana को शुरू करने के पीछे मुख्य उद्देश्य राजस्थान के किसानों को आत्मनिर्भर बनाना तथा उन्हें दुर्घटना के कारण होने वाले आर्थिक तंगी से लड़ने में सहायता प्रदान करना है।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021 आवेदन प्रक्रिया

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना के तहत आवेदन करने के लिए आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको अपने जिले के कृषि विभाग में जाना होगा।
  • कृषि विभाग के कार्यालय से आपको राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना 2021 के लिए आवेदन पत्र लेना होगा।
  • अब इस आवेदन पत्र को प्राप्त करके इस में पूछे गए सभी जानकारी साफ एवं स्पष्ट शब्दों में भरे जैसे आपका नाम, मोबाइल नंबर, एड्रेस आदि।
  • फॉर्म को पूरी तरह से भरने के बाद इस फॉर्म के साथ सभी आवश्यक दस्तावेजों को अटैच करें। अब इस संपूर्ण आवेदन पत्र को कृषि विभाग के संबंधित अधिकारी को जाकर जमा करवा दें एवं अधिकारी द्वारा आपके जमा किए गए दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा।
  • सत्यापन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद लाभ की राशि किसानों के खाते में पहुंचा दी जाएगी।

यह भी पढ़े – (फॉर्म) राजस्थान वृद्धावस्‍था पेंशन योजना 2021: ऑनलाइन पंजीकरण, Old Age Pension

हम उम्मीद करते हैं की आपको राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *