(पंजीकरण) नाबार्ड योजना 2021 | डेयरी फार्मिंग स्कीम ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एप्लीकेशन फॉर्म


Nabard Yojana Apply, डेयरी फार्मिंग स्कीम 2021 ऑनलाइन आवेदन, Dairy Farming Scheme, Nabard Yojana 2021 बैंक सब्सिडी और अन्य जानकारिया आपको इस लेख में दी जाएँगी। आप जानते हैं केंद्र सरकार समय-समय पर देश के लोगों को रोजगार प्रदान करने के लिए नई नई योजनाएं बनाती रहती है। इसी तरह अभी हाल ही में केंद्र सरकार ने नाबार्ड योजना नाम की एक नई योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना का उद्देश्य देश के लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना है।इस योजना के तहत सरकार देश के ग्रामीण क्षेत्रों में रह रहे लोगों को डेरी फॉर्म को व्यवस्थित करने के लिए बहुत कम ब्याज दर पर बैंक द्वारा लोन उपलब्ध कराएगी।

डेयरी फार्मिंग स्कीम 2021 के तहत पशुपालन विभाग का उद्देश्य सभी जिलों में आधुनिक डेयरी स्थापित करना है। तो यदि आप भी ग्रामीण क्षेत्रों से संबंधित है और Nabard Yojana के लिए संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इस लेख में हम आपको सभी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं, जैसे नाबार्ड डेयरी योजना क्या है? इसके लाभ, योजना का उद्देश्य, पात्रता मानदंड तथा ऑनलाइन आवेदन की पूरी प्रक्रिया पूर्वी ना इसलिए हमारे इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें।

Nabard Yojana 2021 Latest Update

केंद्र सरकार ने नाबार्ड योजना का शुभारंभ देश के डेयरी फार्म इन उद्योगों को संरचना में लाने और रोजगार के अवसरों को बढ़ाने के लिए किया है। इस योजना में ग्रामीण लोग, डेयरी फार्मिंग के उद्योगों को संरचना में लाने के लिए बैंकों से कम ब्याज दर पर लोन प्राप्त कर सकते हैं। Nabard Yojana 2021 का उद्देश्य देशभर के सभी जिलों में डेयरी फार्म स्थापित करना है ताकि रोजगार के अवसरों में वृद्धि हो सके। इसके साथ ही अभी हाल ही में वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण जी के द्वारा Dairy Farming Scheme के लिए एक नई घोषणा की गई है।

इस घोषणा के अनुसार इस योजना में किसानों को 30000 करोड रुपए के अतिरिक्त वित्तीय सहायता दी जाएगी। इस सहायता को देने का उद्देश्य कोरोना वायरस के कारण किसानों पर आई आपदा को कम करना और उन्हें राहत पहुंचाना है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पहले ही नाबार्ड योजना 2021 के लिए 90000 करोड रुपए का बजट तय किया गया था, जिसमें अब अतिरिक्त 30000 करोड़ रुपए जोड़ दिए गए हैं। यह पैसे कोऑपरेटिव बैंक्स के द्वारा सभी सरकारों को प्रदान किए जाएंगे, जो कि इन पैसों से लगभग तीन करोड़ किसानों को लाभ पहुंचाएगी।

डेयरी फार्मिंग स्कीम 2021

डेयरी फार्मिंग स्कीम 2021 एक ऐसी स्कीम है जो ग्रामीण क्षेत्रों के बेरोजगार लोगों को स्वरोजगार उपलब्ध कराने और आसानी से अपना व्यापार चलाने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए बनाई गई है। यह योजना रोजगार के अवसर को भी बढ़ावा देगी। योजना के संचालन के लिए पशुपालन एवं मत्स्य पालन विभाग पूर्ण रुप से सहयोग करेंगे।योजना के तहत ग्रामीण लोगों को बैंक से कम ब्याज दर पर ऋण प्रदान किया जाएगा ताकि वह दूध उत्पादन के लिए डेयरी फॉर्म की स्थापना कर सकें। इस योजना के अंतर्गत दूध उत्पादन से लेकर गाय-भैंस की देखरेख, उनकी रक्षा, घी निर्माण आदि सभी कुछ मशीनरी के द्वारा किया जाएगा। योजना का लाभ लेने के लिए सभी इच्छुक लोगों को नाबार्ड योजना 2021 के तहत आवेदन करना होगा।

NABARD Yojana

Nabard Yojana 2021 का उद्देश्य

जैसा कि आप सभी जानते हैं ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की आय का साधन अधिकतम पशुपालन एवं खेती होती है। पशु पालन में अधिकतर वे गाय-भैंसों कोपालकर दुग्ध उत्पाद बेचने का कार्य करते हैं। ऐसे में यह लोग अपने कार्य को काफी अव्यवस्थित ढंग से संचालित करते हैं और अच्छे से मुनाफा नहीं कमा पाते। इस बार सरकार ऐसे लोगों के लिए नाबार्ड योजना 2021 नाम की नई योजना की शुरुआत करने जा रही है। इस योजना का उद्देश्य डेरी फॉर्म उद्योग को व्यवस्थित ढंग से संचालन करना एवं सुचारु ढंग से चलाना है। यह एक बहुत ही अच्छा व्यवसाय है परंतु धन की कमी के कारण लोग इसे अच्छे से शुरू नहीं कर पाते हैं। यही कारण है कि अब सरकार इन लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करने जा रही है।

केंद्र सरकार ऐसे लोगों को जो अपने डेरी उद्योग को व्यवस्थित ढंग से सुचारू करना चाह रहे हैं उनके लिए एक नई डेयरी फार्मिंग योजना की शुरुआत कर चुकी है। इस योजना के तहत लाभार्थियों को बैंक से कम ब्याज दर या बिना ब्याज के लोन उपलब्ध कराया जाएगा ताकि वह अपना व्यवसाय व्यवस्थित रूप से शुरू कर सकें और अन्य लोगों को भी रोजगार के अवसर उपलब्ध करा सके। Nabard Yojana 2021 का उद्देश्य दूध के उत्पादन को बढ़ावा देना और देश की बेरोजगारी दर में कमी लाना है। इसके साथ ही सरकार किसानों की आय को बढ़ाने के लिए बड़े पैमाने पर निरंतर प्रयास एवं कार्य करती जा रही है और साथ ही इनके कार्य को बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास करती रहती है।

नाबार्ड योजना के अंतर्गत बैंक सब्सिडी

  • डेयरी फार्मिंग स्कीम 2021 के तहत मिल्क प्रोडक्ट्स बनाने की यूनिट की शुरुआत करने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है।
  • यदि आप दुग्ध उत्पाद की प्रोसेसिंग के लिए उपकरण खरीदना चाहते हैं तो आप इस यह भी नाबार्ड डेयरी योजना 2021 के तहत खरीद सकते हैं।
  • यदि आप कोई 13.20 लाख रुपए की मशीनरी खरीदते हैं तो आपको 13.30 लाख रुपए की कैपिटल सब्सिडी मिलेगी और ऐसे में एससी एसटी कैटेगरी के लोगों को 4.40 लाख रुपए की सब्सिडी उपलब्ध कराई जा सकती है।
  • नाबार्ड के डीडीएम से मिली जानकारी के अनुसार योजना की राशि बैंक द्वारा अनुमोदित की जाएगी और 25% लाभार्थी द्वारा ली जाएगी। यदि आप योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आप सीधे बैंक में जाकर इस योजना के लिए जानकारी प्राप्त कर सकते हैं एवं आवेदन कर सकते हैं।
  • 5 गायों के तहत डेयरी फॉर्म शुरू करने के लिए आपको उनकी लागत का सबूत प्रदान करना होगा। इसमें सरकार 50% सब्सिडी प्रदान करेगी और 50% किसानों को अलग-अलग स्टोर में बैंकों को भुगतान करना होगा।

नाबार्ड योजना 2021 फार्मिंग योजना

पहली योजना – लाल सिन्धी, साहिवाल, राठी, गिर इत्यादि जैसी देसी दूध देने वाली गायें/ हाइब्रिड गायें/ 10 दुधारू पशुओं जेसे के भैंसों के लिए छोटे डेयरी यूनिट की स्थापना  करना

निवेश 2 से 10 जानवरों की डेयरी खोलने के लिए 10 वर्षों तक के लिए 5 लाख रुपए

सब्सिडीदस पशु वाली डेरी पर 25% आम नागरिकों के लिए एवं sc-st किसानों के लिए 33.33%, पूंजी सब्सिडी सीमा, 1.25 लाख रुपए आम नागरिकों के लिए अनुसूचित जाति एवं जनजाति से संबंधित किसानों के लिए 1.67 लाख रुपए। 2 पशुओं की इकाई के लिए अधिकतम अनुमति पूंजी 25 हजार रुपए है जो कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति के किसानों के लिए 33300 रुपए है। सब्सिडी आकार के आधार पर प्रोरेट आधार पर प्रतिबंध होगा।

दूसरी योजना – बछिया बछड़ों के पालन – 20 बछड़ों के लिए ऊपर – पार नस्ल, स्वदेशी मवेशियों और वर्गीकृत भैंसों दुधारू नस्लों का विवरण

निवेश 5 से 20 बछड़ों की इकाई के लिए 8000000 रुपए।

सब्सिडी 20 वर्षों तक की एक यूनिट खोलने के लिए आम लोगों को 25% की सब्सिडी और एससी एसटी वर्ग के लोगों को 33.33% की सब्सिडी प्रदान की जाएगी। आम नागरिकों को यह सब्सिडी 125000 रुपए तक की पूंजी पर दी जाएगी और एससी एसटी कैटेगरी को  160000 रुपए तक की पूंजी मिल सकती है। 5 वचनों की यूनिट खोलने पर अधिकतम ₹30000 की सब्सिडी प्रदान की जाएगी और वही एससी एसटी कैटेगरी के लोगों को ₹40000 की सब्सिडी दी जाएगी।

तीसरी योजना – वर्मीकंपोस्ट और खाद (दुग्ध पशुओं के साथ इकाई के साथ नहीं जोड़ा जायेगा।

निवेश 20 हजार रुपए तक

सब्सिडी इस योजना के तहत 4.50 लाख रुपए का निवेश करने पर व्यक्ति को 25% की सब्सिडी मिलेगी वहीं अनुसूचित जाति एवं जनजाति के आवेदक 6 लाख रुपए तक की पूंजी पर 33.33% की सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं।

चौथी योजना – दूध परीक्षकों/ दूध निकालने की मशीनों पर खरीद/ अधिक मात्रा में दूध होने पर उसे ठंडा रखने के लिए फ्रिज (जिसकी क्षमता 2000 लीटर तक हो)

निवेश इस योजना में निवेश की राशि 18 लाख रुपए तक है।

सब्सिडी आम नागरिकों को सब्सिडी के तहत व्यय का 25% एवं अनुसूचित जातियों और जनजातियों को 33.33% उपलब्ध होगा। इसके साथ ही आम नागरिक अपने निवेश पर लाख रुपए प्राप्त करेंगे एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों को 6 लाख रुपए दिए जाएंगे।

पांचवी योजना – स्वदेशी दूध उत्पादों का उत्पादन करने के लिए डेयरी प्रसंस्करण के उपकरण की खरीद

निवेश इस योजना के तहत न्यूनतम निवेश राशि 12 लाख रुपए है।

सब्सिडी इस योजना में आमला के 25 परसेंट की सब्सिडी के अनुसार 3 लाख रुपए तक की पूंजी लोन के तहत प्राप्त कर सकता है। और वही अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोग 33.33% की सब्सिडी के साथ 4 लाख रुपए तक की पूंजी प्राप्त कर सकते हैं।

छठी योजना – डेयरी उत्पाद परिवहन सुविधाएँ और शीत श्रृंखला स्थापना

निवेश इस योजना के तहत निवेश की न्यूनतम राशि 24 लाख रुपए है।

सब्सिडी यहां आम नागरिकों के लिए सब्सिडी की राशि 25% है और वही एससी एसटी कैटेगरी से संबंधित लोगों को 33 पॉइंट 3 30% की सब्सिडी प्रदान की जाएगी निवेश के लिए सरकार अधिकतम 750000 रुपए  तक का लोन उपलब्ध कराएगी। एससी एसटी कैटेगरी के व्यक्ति 10 लाख रुपए तक का लोन प्राप्त कर सकते हैं।

सातवीं योजना – दूध और दुग्ध उत्पादों के लिए शीत भंडारण सुविधा।

निवेश ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को इस योजना में कम से कम 30 लाख रुपए का निवेश करना होगा।

सब्सिडी इस योजना में सरकार चिकित्सालय खोलने पर कुल खर्च का 25% देगी। मोबाइल होने पर सरकार ₹45000 की सब्सिडी एवं स्थिर होने पर ₹60000 तक की सब्सिडी प्रदान करेगी। अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोग कुल खर्च का 33.33%  हिस्सा सरकार द्वारा प्राप्त करेंगे। जिसमें मोबाइल होने की स्थिति में सरकार ₹80000 तक एवं स्थिर होने की स्थिति में ₹60000 तक की सब्सिडी राशि प्रदान करेगी।

आठवीं योजना –निजी पशु चिकित्सा क्लिनिक की स्थापना

निवेश मोबाइल क्लीनिक के लिए आपको 2 पॉइंट 40 लाख रुपए एवं सिर्फ लेने के लिए 1 पॉइंट 80 लाख रुपए का निवेश करना होगा।

सब्सिडी आम नागरिकों को व्यय का 25% एवं अनुसूचित जातियों एवं जनजातियों के किसानों को 3:33% सब्सिडी प्रदान की जाएगी। मोबाइल क्लीनिक के लिए आम नागरिकों को ₹45000 और अनुसूचित जाति एवं जनजाति के किसानों के लिए ₹60000 की राशि दी जाएगी। फिर देने के लिए आम नागरिक को ₹7000 की पूंजी सब्सिडी एवं अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए ₹80000 की राशि प्रदान की जाएगी।

नवी योजना – डेयरी मार्केटिंग आउटलेट / डेयरी पार्लर

निवेश इस योजना के लिए निवेश राशि ₹56000 होगी

सब्सिडी इस योजना में आम नागरिकों के लिए सब्सिडी 25% तथा sc-st किसानों के लिए 33.33% होगी। जहां आम नागरिकों को ₹14000 की सीमा के रूप में समाप्त किया जाएगा वहीं अनुसूचित जातियों और जनजातियों के लिए ₹18600 दिए जाएंगे।

Dairy Farming Scheme के लाभार्थी

  • असंगठित क्षेत्र
  • उद्यमी
  • कंपनियां
  • किसान
  • गैर सरकारी संगठन
  • संगठित समूह

Nabard Yojana के तहत लोन देने वाली संस्थाएं

  • व्यवसायिक बैंक
  • क्षेत्रीय बैंक
  • राज्य सहकारी बैंक
  • राज्य सहकारी कृषि और ग्रामीण विकास बैंक
  • अन्य संस्थान जो नाबार्ड से पुनर्वित्त के लिए पात्र हैं

नाबार्ड योजना 2021 की पात्रता

  • इस योजना के तहत किसानों, व्यक्तिगत उद्यमियों, गैर-सरकारी संगठनों, कंपनियों, असंगठित और संगठित क्षेत्र समूहों आदि को लाभ मिल सकता है।
  • इस योजना के तहत कोई भी व्यक्ति केवल एक बार लाभ ले सकता है।
  • इस योजना के तहत, एक ही परिवार के एक से अधिक सदस्य सहायता प्राप्त कर सकते है और इसके लिए उन्हें विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग बुनियादी ढांचे के साथ अलग-अलग इकाइयां स्थापित करने के लिए सहायता दी जाती है। ऐसी दो परियोजनाओं के बीच की दूरी कम से कम 500 मीटर होनी चाहिए।
  • सभी घटकों के लिए एक व्यक्ति इस योजना के तहत सहायता प्राप्त कर सकता है, लेकिन प्रत्येक घटक के लिए वह केवल एक बार पात्र होगा।

नाबार्ड योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

नाबार्ड योजना 2021 के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आप नीचे दी गई आसान चरण दर चरण प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको National Bank For Agriculture And Rural Development Nabard  की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जायेगा।
Nabard Yojana
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “Information Centre (सूचना केंद्र)” के विकल्प पर क्लिक करना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।
Dairy Farming Scheme
  • यहां आपको योजना के आधार पर पीडीएफ फॉर्मेट में एप्लीकेशन फॉर्म के लिंक दिखाई देंगे। अपनी योजना के फॉर्म के लिंक पर क्लिक करें और एक नया पेज खुल जाएगा।
  • इस पेज पर आप अपना एप्लीकेशन फॉर्म देख सकते हैं इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी ध्यान पूर्वक भरे और आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें।
  • अंत में इस फॉर्म को सम्मिट का बटन दबाकर समिट करें। इस प्रकार आपके ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

Nabard Yojana 2021 ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया

यदि आप नाबार्ड योजना के लिए ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आप नीचे दिए गए चरणों का पालन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको यह तय करना होगा कि आप किस प्रकार के डेरी फॉर्म खोलना चाहते हैं।
  • यह तय कर लेने के बाद कि आप किस प्रकार के डेरी फॉर्म की शुरुआत करना चाहते हैं आपको जिले के नाबार्ड ऑफिस में जाना होगा।
  • यदि आपको एक छोटा सा डेरी फॉर्म शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आप नजदीकी बैंक में जाकर भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • यहां आपको एक सब्सिडी फॉर्म दिया जाएगा इस फॉर्म को भर कर आप अप्लाई कर सकते हैं।
  • यदि आप एक बड़ी राशि का लोन लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपको नाबार्ड में अपने प्रोजेक्ट रिपोर्ट को जमा भी करवाना होगा।

Contact Information

हमने यहां आपकी सुविधा के लिए नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी इस लेख में प्रदान की है। यदि अभी भी आपको इस योजना से संबंधित कोई प्रश्न है या आप योजना से संबंधित किसी समस्या का सामना कर रहे हैं तो आप नीचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर या ईमेल आईडी के माध्यम से अधिकारियों को संपर्क कर सकते हैं। आशा करते हैं कि संपर्क करके आपकी समस्या का समाधान अवश्य हो जाएगा। हेल्पलाइन डिटेल्स कुछ इस प्रकार है।

यह भी पढ़े – (पंजीकरण) PMEGP लोन योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

हम उम्मीद करते हैं की आपको नाबार्ड योजना डेयरी फार्मिंग स्कीम से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *