खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म


Khelo India Scholarship Scheme | खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना आवेदन फॉर्म | खेलो इंडिया स्कॉलरशिप योजना ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म पीडीऍफ़

भारत सरकार ने खेलो इंडिया प्रोग्राम के तहत अखिल भारतीय स्पोर्ट्स छात्रवृत्ति योजना को शामिल किया है। इस खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना के तहत हर वर्ष खेलों में प्रतिभावान खिलाड़ियों में से चुने गए 1000 खिलाड़ियों को छात्रवृत्ति की सुविधा दी जाएगी। चुना गया हर एथलीट 1 वर्ष में ₹500000 तक की छात्रवृत्ति प्राप्त करेगा। यह छात्रवृत्ति केवल 1 वर्ष के लिए नहीं है चुनिंदा लाभार्थियों को 8 साल तक छात्रवृत्ति की सुविधा प्रदान की जाएगी। हर वर्ष एक हजार युवा अथिलीट इस योजना के तहत चुने जाएंगे ताकि उन्हें हर संभव सुविधा प्रदान की जा सके और इसके साथ ही बेहतर प्रशिक्षण दिया जाए। खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना 2021 के अंतर्गत 734 खिलाड़ियों को चुना गया है जो सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त प्रशिक्षण केन्द्रो में प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे। वह सभी खिलाड़ी जो Khelo India Scholarship Scheme के तहत चुने जाएंगे उन्हें दैनिक खर्चे इलाज एवं अन्य आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए सालाना ₹120000 की राशि प्रदान की जाएगी। यह राशि उन्हें चार भागों में हर 3 महीने के अंतराल पर प्रदान की जाएगी। इतना ही नहीं यह सभी चुनिंदा खिलाड़ी खेलो इंडिया से मान्यता प्राप्त अकादमियों में प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे और इन्हें प्रशिक्षण के साथ रहने और टूर्नामेंट के खर्च के लिए भी सहायता प्रदान की जाएगी।

खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना 2021

भारत सरकार ने देश के खिलाड़ियों की प्रतिभा को एक नए मुकाम तक पहुंचाने के लिए खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना को लॉन्च किया है। सरकार ने यह महत्वपूर्ण कदम ओलंपिक में भारत की रैंकिंग को सुधारने की कोशिश करने के लिए उठाया है। इस योजना को शुरू करने के पीछे सरकार का सबसे बड़ा उद्देश्य ग्रामीण इलाकों के खिलाड़ियों को प्रोत्साहन के साथ-साथ सुविधाएं प्रदान करना है ताकि वे खेलों में आकर बढ़ सके। यदि खेलों की बात करें तो खेलों के क्षेत्र में भारत एक बहू प्रतिभाशाली देश है परंतु मुख्य रूप से क्रिकेट और हॉकी ही ऐसे खेल है जहां भारत को उच्च स्थान प्राप्त है। हालांकि और भी कई ऐसे खेल है जहां खिलाड़ियों का प्रदर्शन काफी अच्छा है परंतु उनके लिए उचित व्यवस्था ना होने के कारण वे अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं उन्हें अच्छा प्रदर्शन करने के लिए काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।

खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना
  • इन्हीं सभी समस्याओं को देखते हुए भारतीय एथलीट की सहायता करने के लिए सरकार ने खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना 2021 की शुरुआत की है।
  • इस योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों को स्कॉलरशिप के रूप में वित्तीय राशि प्रदान की जाएगी जिसके द्वारा वे अपनी कोचिंग एवं प्रशिक्षण में सुधार ला सकते हैं।
  • योजना के बारे में विस्तार पूर्वक जानने के लिए हमारे इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें क्योंकि इस लेख में हम आपको Khelo India Scholarship Scheme से संबंधित सभी जानकारी जैसे योजना के लाभ, विशेषताएं, पात्रता मानदंड, रजिस्ट्रेशन फॉर्म एवं अन्य सभी जानकारी विस्तारपूर्वक बताएंगे।

खेलो इंडिया स्कॉलरशिप योजना की मुख्य विशेषताएं

योजना का नामखेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना
आरम्भ की गईभारत सरकार के द्वारा
वर्ष2021
लाभार्थीभारतीय एथलीट
पंजीकरण प्रक्रियाऑनलाइन
लाभप्रशिक्षण केन्द्रो में प्रशिक्षण की सुविधा
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.mygov.in/

खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना मुख्य तथ्य

  • खेलो इंडिया यूथ गेम की सफलता को देखते हुए सरकार ने इसका दूसरा चरण आरंभ कर दिया है। केंद्र सरकार ने खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू कर दी है। खेल के क्षेत्र को बढ़ाते हुए इस बार सरकार ने प्रतिभागियों को दो श्रेणियों में बांट दिया है जो इस प्रकार है
    • पहली अंडर-17
    • दूसरी अंडर 21
  • इस बार कॉलेज और यूनिवर्सिटी के छात्र भी खेलो इंडिया यूथ गेम में भाग ले सकते हैं।
  • महाराष्ट्र में आयोजित एक प्रोग्राम में खेल मंत्री श्री राज्यवर्धन सिंह जी ने बताया कि खेलो इंडिया यूथ गेम 2019 में दिल्ली में ना होकर पुणे के श्री शिव छत्रपति कांपलेक्स में 9 जनवरी से 20 जनवरी तक आयोजित की जाएंगी। इन खेलों में उन्नतीस प्रदेश और सात केंद्र शासित क्षेत्रों से 10,000 से ज्यादा प्रतिभागी भाग लेंगे।
  • पिछले साल की तरह इस वर्ष भी स्टार स्पोर्ट्स पर रोजाना 8 घंटे इन खेलों का सीधा प्रसारण दिखाया जाएगा।
  • पिछले वर्ष खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना के तहत सरकार द्वारा 15000 प्रतिभागियों को चुना गया था जिन्हें ₹500000 की इनाम राशि के साथ ट्रेनिंग भी प्रदान की गई थी।
  • इस योजना को शुरू करने के पीछे सरकार का उद्देश्य देश में छुपी हुई प्रतिभा को आगे लाकर उन्हें और अधिक प्रतिभाशाली बनाना है। ताकि यह सभी प्रतिभागी अंतरराष्ट्रीय स्तर की गेम्स जैसे कॉमन वेल्थ, एशियन गेम्स और यूथ ओलंपिक जैसे खेलों में जीतकर मेडल ला सकें।
  • गत वर्ष लगभग 35000 युवा खिलाड़ी इस राष्ट्रीय खेल में भाग ले चुके हैं। परंतु वर्ष 2019 में इन खिलाड़ियों की संख्या 3 गुना थी जिस अनुसार 10,000 से अधिक प्रतिभागी इन खेलों में हिस्सा ले चुके हैं।

योजना का बजट

अब तक केंद्र सरकार ने इस योजना के लिए 500 करोड़ रुपए का बजट इस योजना को व्यवस्थित रूप से शुरू करने के लिए प्रदान किया है। इस राशि में से 130 करोड़ रुपए की राशि स्टेडियम और प्रशिक्षण केंद्रों में खेल संबंधी उपकरण जुटाने एवं रखरखाव करने के लिए निर्धारित की गई है। बाकी की बची राशि में से 230 करोड़ रुपए देश में विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन करने में लगाए जाएंगे। इस राशि में से 100 करोड़ रुपए प्रतिभा को ढूंढने वाली संस्थाओं को दिए जाएंगे ताकि वे खेल प्रतिभा संबंधी प्रतियोगिताओं का आयोजन कर सके। यदि बजट के विस्तार पूर्वक बात करें तो सरकार ने 1756 करोड़ रुपए वर्ष 2017 से लेकर 2020 तक खर्च करने की योजना बनाई है। सरकार ने खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना की शुरुआत ग्रामीण गरीब एवं पिछड़े क्षेत्रों के खिलाड़ियों को खेलों में प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए की है। इस योजना के द्वारा सरकार पूरे देश की प्रतिभा को विश्व में सबसे ऊपर पहुंचाने की कोशिश कर रही है।

  • ऐसी योजना की सहायता से उन खिलाड़ियों को खेलों में आगे बढ़ाने में मदद की जाएगी जो क्षमता होने के बावजूद भी पैसे यहां साधन की कमी के कारण खेलों में पीछे रह जाते हैं।
  • सरकार का कहना है कि इस योजना के द्वारा खेलों में भारत की विश्व स्तरीय रैंकिंग तालिका को ऊपर लाने में सहायता मिलेगी।
  • यह योजना देश के सभी क्षेत्रों की प्रतिभा को हो जाएगी एवं उसके विकास में सहायता करेगी। इतना ही नहीं इस योजना के द्वारा महिलाओं को भी खेलने का प्रोत्साहन मिलेगा एवं वे भी अपने क्षेत्र में विभिन्न खेलों में भाग ले सकेंगे।

खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना के लाभ एवं विशेषताएं

खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना के तहत मिलने वाले लाभ एवं इस योजना की विशेषताएं कुछ इस प्रकार है।

  • इस योजना की शुरुआत सरकार द्वारा वर्ष 2017 में की गई थी। परंतु वर्ष 2017-18 से वर्ष 2019-20 तक सरकार ने इसे और भी बढ़ावा दिया। यही कारण है कि अब इस योजना में केवल एथलीट को ही नहीं बल्कि देश में खेल को ही एक नए ढांचे में परिवर्तित करने की कोशिश की जा रही है।
  • भारत में केवल कुछ ही खेल ऐसे हैं जिनमें खिलाड़ियों का प्रदर्शन अच्छा है परंतु अन्य बहुत से खेलों में खिलाड़ियों का भविष्य काफी कम दिखाई देता है। यदि ग्रामीण क्षेत्रों की बात करें तो बहुत कम लोग ग्रामीण क्षेत्रों से खेलों में अपना करियर बनाने में सफल होते हैं। यही कारण है कि देश भर में सभी खिलाड़ी अपनी प्रतिभा को पूरी तरह से आगे नहीं बढ़ा पाते। इन सभी के चलते देश की छवि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सुधारने के लिए सरकार ने एथलीटों को बेहतर सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से खिलाड़ियों को खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना के लाभ प्रदान करना शुरू किया है।
  • इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों की संख्या अभी हाल ही में भारतीय खेल मंत्रालय द्वारा निर्धारित की गई है जिसमें 1000 खिलाड़ी शामिल है। इन 1000 खिलाड़ियों में वे सभी खिलाड़ियों को चुना जाएगा जो खेलों में जीतने की क्षमता रखते हैं ताकि इस सहायता के द्वारा हुए अच्छा प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने हुनर को एक नया मुकाम दे सके।
  • यह स्कॉलरशिप देने के पीछे सरकार का मुख्य उद्देश्य उन सभी खिलाड़ियों को उनके खाद्य संबंधी शारीरिक आपूर्ति एवं खेल संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करना है। इस योजना के तहत हर वर्ष एक खिलाड़ी पर ₹500000 तक की राशि खर्च की जाएगी।
  • वह सभी खिलाड़ी जो देश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने प्रतिभा को उजागर करने का दमखम रखते हैं इस योजना के तहत उन्हें लाभ प्रदान किया जाएगा। सरकार ऐसे खिलाड़ियों को वित्तीय लाभ भी प्रदान करेगी जो देने के पीछे उनका मुख्य उद्देश्य एथलीट को प्रमोट करना एवं खेलों की अहमियत को पूरे देश में फैलाना है।
  • यह योजना महिला खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से भी शुरू की गई है। इस योजना के तहत महिलाओं को बचपन से ही खेलों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। लड़की को भी लड़के के समान ही अपनी प्रतिभा को निखारने का अवसर मिलेगा। इसके साथ ही हमारे देश की बच्चियों को इस योजना के द्वारा एक नई पहचान मिलेगी।
  • मंत्रालय द्वारा 20 ऐसे विश्वविद्यालयों का चयन किया जाएगा जिनमें खेल प्रशिक्षण के साथ-साथ शिक्षा संबंधी पाठ्यक्रम भी उपलब्ध होंगे। इसके पीछे सरकार का उद्देश्य खिलाड़ियों को दोनों तरफ से लाभ पहुंचाना है।
  • देश में बहुत से ऐसे प्रतिभाशाली युवा है जो अपनी आर्थिक स्थिति के कारण अपनी प्रतिभा से हटकर अपने करियर की ओर कदम बढ़ा लेते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसा होने की संभावना अधिक होती है। ऐसे में देश के काम आने वाली यह प्रतिभा कहीं दब कर रह जाती है और यह सभी नौजवान अपने भविष्य में खेलों में कुछ अच्छा करने का अवसर खो देते हैं। यही कारण है कि सरकार ने इस योजना की शुरुआत की है ताकि सभी नौजवानों को अपने सही रास्ते का चुनाव करने में सहायता हो सके।
  • केंद्र सरकार ऐसे विद्यालयों का चुनाव करें कि जो अपने यहां से अधिक से अधिक बेहतर खिलाड़ियों को देश के लिए तैयार करेंगे।
  • सरकार इस योजना को गांव-गांव तक पहुंचाना चाहती है। इसके लिए सरकार ने टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया है ताकि खेलो इंडिया स्कॉलरशिप योजना को पूरे देश के कोने कोने तक आसानी से पहुंचाया जा सके।
  • आधुनिक जीपीएस पत्नी के चलते किसी भी स्पोर्ट्स केंद्र की लोकेशन को ढूंढना बहुत ही आसान हो गया है। इसलिए जो भी खिलाड़ी प्रशिक्षण लेना चाहता है वह अपने पास के केंद्र में जाकर के संबंधी प्रशिक्षण प्राप्त कर सकता है।
  • केंद्र सरकार ने अभी हाल ही में स्पोर्ट्स फॉर एक्सीलेंस एवं स्पोर्ट्स फॉर ऑल नाम के दो वाक्यों का प्रचार किया है। इनके चलते सब खेलो सब बढ़ो सोच को आगे बढ़ाते हुए सरकार देश में खेल के स्तर को सुधारने का निरंतर प्रयास कर रही है।

खेलो इंडिया स्कॉलरशिप योजना 2021 पात्रता मानदंड

खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना के लिए पात्र लाभार्थियों को निम्नलिखित पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा।

  • स्कॉलरशिप का लाभ लेने के लिए आवेदक की आयु 8 वर्ष से लेकर 18 वर्ष के बीच होनी चाहिए। इस योजना के लिए पात्र नहीं माने जाएंगे।
  • केवल वही लोग इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं जो खेलों से जुड़े हुए हैं अर्थात जो किसी के में पार्टिसिपेट करते हैं और उस खेल से जुड़ी अपनी प्रतिभा में सुधार लाना चाहते हैं।
  • Khelo India Scholarship Scheme के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक ग्रामीण क्षेत्रों, पिछड़े क्षेत्रों रिया सुविधाओं से वंचित क्षेत्रों का निवासी होना चाहिए एवं सबूत के लिए आवेदक के पास उसका निवास प्रमाण पत्र होना आवश्यक है।
  • योजना का लाभ लेने के लिए एक आवेदक को केवल एक ही खेल का चुनाव करना होगा। अर्थात जो भी आवेदक इस योजना के तहत आवेदन करेगा वह केवल एक ही खेल में प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकता है।

खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना 2021 ऑनलाइन पंजीकरण

यदि आप खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए नीचे दिए गए चरणों को ध्यान पूर्वक देखें।

  • सबसे पहले आपको खेलो इंडिया छात्रवृत्ति की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको “यहां रजिस्टर करें” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
रजिस्ट्रेशन फॉर्म
  • इस पेज पर आपको अपनी कैटेगरी का चयन करना होगा। कैटेगरी का चयन करने के बाद प्रोसीड का बटन दबाएं और एक नया पेज खुल जाएगा।
  • इस पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिखाई देगा इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी ध्यान पूर्वक दर्ज करें और सेव एंड कंटिन्यू का बटन दबाएं इस प्रकार आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म के तीन चरणों को पूरा करना होगा और सभी जनों को पूरा करने के बाद सेव का बटन दबाएं।
  • अंत में फॉर्म में भरे गए सभी जानकारी एक बार दोबारा चेक करें और सभी आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करने के बाद इस फॉर्म को सबमिट करें।
  • इस प्रकार आपके ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

यह भी पढ़े – (पंजीकरण) प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, रजिस्ट्रेशन फॉर्म

हम उम्मीद करते हैं की आपको खेलो इंडिया छात्रवृत्ति योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *