ऑनलाइन आवेदन, UP Caste Certificate


उत्तर प्रदेश Jaati परमान पत्र Apply Online, Jati Praman Patra बनाने की प्रक्रिया, Uttar Pradesh Caste Certificate Application Form 2021, UP Jaati Parman Patra Form 2021, यूपी जाति प्रमाण पत्र आवेदन फॉर्म भरने की प्रक्रिया की जानकारी आपको इस लेख में दी जाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा Jati Praman Patra बनाने की प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया गया है। इस ऑनलाइन प्रणाली के माध्यम से उत्तर प्रदेश के नागरिक ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर  खुद से जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर  सकते हैं।

यह जाति प्रमाण पत्र राजस्व विभाग द्वारा बनवाया जाता है, जिससे राज्य के जो भी नागरिक अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति और पिछड़े वर्ग के लोग इसे बनवा सकते हैं। केंद्र सरकार तेज़ी से डिजिटल इंडिया स्कीम के तहत नागरिको तक प्रत्येक सुविधा का लाभ डिजिटल माध्यम से पहुंचाने के लिए लगातार कार्य कर रही है। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में डिजिटल माध्यम से प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने के लिए एक ई सती आधिकारिक वेबसाइट की शुरुआत की है। इस लेख में हम आपको यूपी जाति प्रमाण पत्र के ऑनलाइन आवेदन, लाभ एवं आवश्यक दस्तावेजों के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

UP Jati Praman Patra Online

उत्तर प्रदेश में बहुत से नागरिक यह सोचते हैं कि आखिर भारत में रहते हुए UP Jati Praman Patra की आवश्यकता क्यों होती है। आपको बता दे कि भारत के संविधान में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग तथा अति पिछड़ा वर्ग से सम्बन्ध रखने वाले नागरिको को समाज की मुख्य धारा से जोड़कर विकास के अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आरक्षण की प्रक्रिया को अमल में लाया गया है।

इस यूपी जाति प्रमाण पत्र की सहायता से अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग तथा अति पिछड़ा वर्ग से सम्बंधित युवा नौजवान लड़के और लड़किया सरकारी नौकरियों, विश्विद्यालयों में आरक्षण के द्वारा लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त भी इस श्रेणी के युवा नौजवान लड़के और लड़कियों के लिए केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा विशेष योजनाओ की शुरुआत की जाती है।

उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना

उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र क्या है?

हमारे देश में बहुत से वर्ग जैसे- अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग और अति पिछड़ा वर्ग सम्मिलित हैं, जिसके लिए संविधान में इन वर्गों के लिए आरक्षण शामिल है। इन्ही वर्ग के नागरिकों को ही आरक्षण का लाभ उठाने के लिए राज्य सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र को शुरू किया गया है। यह प्रमाण पत्र इन वर्गों की पहचान का प्रमाण है, जिससे ये नागरिक मिलने वाले आरक्षण का लाभ उठा सकें।

यदि आप भी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग अथवा अति पिछड़ा वर्ग से सम्बन्ध रखते है तो आप बिना जाति प्रमाण पत्र के आरक्षण का लाभ प्राप्त नहीं कर सकते हैं। इस प्रकार पिछड़े वर्ग से सम्बन्ध रखने वाले युवा नौजवान लड़के लड़किया इस प्रमाण पत्र के माध्यम से सरकारी योजनाओ तथा प्रतिष्ठित संस्थानों में एडमिशन में आरक्षण का लाभ प्राप्त कर सकते है।

UP Caste Certificate की आवश्यकता (उद्देश्य)

भारतीय संविधान में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति ,अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगो को समाज के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने तथा सामान रूप से उन्नन्ति करने के अवसर प्रदान करने के उदेश्य से आरक्षण प्रदान किया गया है, जिसकी पहचान के लिए Jati Praman Patra होना आवश्यक है। इसके माध्यम से अनुसूचित जाति/जनजाति के लोगो को विशेष प्रोत्साहन तथा लाभ निश्चित किये जाते है।

सरकार द्वारा SC/ST/OBC वर्ग के लिए नौकरियों, स्कूल एडमिशन तथा शैक्षिक संस्थाओ में विशेष छूट प्रदान की जाती है, जिसका लाभ केवल यूपी प्रमाण पत्र के माध्यम से ही लिया जा सकता है। सरकार द्वारा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लोगो को आरक्षण का लाभ विशिष्ट प्रमाण पत्र प्रदान करने के उद्देश्य से Jati Praman Patra जारी किये जाते है।

उत्तर प्रदेश SC, ST, OBC प्रमाण पत्रों के लाभ

  • इस यूपी जाति प्रमाण पत्र के द्वारा ही अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग के युवाओ को आर्थिक आधार पर जाति प्रमाण पत्र के माध्यम से आरक्षण प्रदान किया जाता है।
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी UP Jati Praman Patra विभिन्न छात्रवृत्तियो तथा सरकारी नौकरियों में आरक्षण का लाभ लेने हेतु आवश्यक है।
  • प्रदेश सरकार द्वारा Jati Praman Patra की आवेदन प्रक्रिया को पूरी तरह से ऑनलाइन कर  दिया गया है, जिसके बाद अब नागरिको को सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।
  • आप जाति प्रमाण पत्र के माध्यम से विभिन्न प्रकार की सरकारी योजनाओ में छूट का लाभ ले सकते है साथ ही आप आरक्षण भी प्राप्त कर सकते है।
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग से सम्बंधित लोगो के लिए जाति प्रमाण पत्र बहुत ही महत्वपुर्ण दस्तावेज़ है|
  • इस दस्तावेज़ के माध्यम से उत्तर प्रदेश के नागरिकों को राज्य सरकारी सेवाओं और स्कूल /कॉलेजोया विश्विद्यालयों आदि में प्रवेश लेने के लिए इस्तेमाल कर सकते है।
  • इस यूपी जाति प्रमाण पत्र के माध्यम सरकारी योजनाओ, सरकारी नौकरियों में छूट और आरक्षण जैसे विभिन्न यूपी सरकारी सेवाओं, शैक्षिक संस्‍थाओं में कोटा, कुछ नौकरियों में आवेदन करने के लिए ऊपरी आयु सीमा की छूट आदि का लाभ उठाने में सहायता करता है।
  • यदि छात्र कॉलेज या स्कूल में कोई स्कॉलरशिप लेना चाहते हैं तब भी जाति प्रमाण पत्र के ज़रिये प्राप्त कर सकते है।

Jati Praman Patra के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • वोटर ID कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • पेन कार्ड
  • स्वप्रमाणित घोषणा पत्र

उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

उत्तर प्रदेश के जो इच्छुक नागरिक उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र फॉर्म के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो उनको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा-

  • सबसे पहले आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको “नवीन उपयोगकर्ता पंजीकरण ” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल जायेगा।
  • इस फॉर्म में आपको पूछी गयी जानकारी का विवरण जैसे- आवेदक का नाम, जन्मतिथि, उम्र, लिंग जिला, मोबाइल नंबर मेल आईडी कैप्चा कोड आदि दर्ज करके “सुरक्षित करे” के बटन पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा।
  • अब आपको OTP के माध्यम से होम पेज पर लॉगिन करना होगा।
  • इसके बाद आपको होम पेज पर लॉगिन फॉर्म में आपको पूछी गयी जानकारी का विवरण जैसे- यूज़र नाम, पासवर्ड, सुरक्षा कोड, OTP आदि दर्ज करके सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपको “आवेदन भरे” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आपको जाति प्रमाण पत्र का विकल्प चयन कर लेना है। इसके बाद आपके सामने जाति प्रमाण पत्र हेतु आवेदन फॉर्म खुल जायेगा।
  • अब आपको फॉर्म में पूछी गयी जानकारी का विवरण जैसे- नाम, पता, मोबाइल नंबर, जनपद आदि दर्ज कर देना है।
  • इसके बाद आपको आवशयक दस्तावेज और फोटो अपलोड कर देना है।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको “दर्ज करे” के बटन पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपका फॉर्म सबमिट हो जायेगा।
  • इसके बाद आपको अपने फॉर्म का प्रिंट आउट निकाल कर भविष्य के लिए सुरक्षित कर लेना है।
  • आप जाति प्रमाण जारी होने के बाद आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर सूचित कर दिया जायेगा।

उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र ऑफलाइन आवेदन कैसे करे?

  • सबसे पहले आपको अपने जिले की तहसील में जाना होगा।
  • अब आपको तहसील से आपको जाति प्रमाण पत्र का आवेदन पत्र लेना होगा।
  • इसके बाद आपको आवेदन पत्र में पूछे गए सभी महत्वपूर्ण जानकारी का विवरण दर्ज कर देना है।
  • अब आपको आवेदन फॉर्म के साथ सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को संलग्न करना होगा।
  • इसके बाद आपको यह आवेदन फॉर्म तहसील में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार आपका जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन सफल हो जायेगा।

जाति प्रमाण पत्र ऑनलाइन सत्यापन

  • सबसे पहले आपको ई डिस्ट्रिक्ट, राजस्व परिषद, या फिर यूपी ऑनलाइन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको प्रमाणपत्र सत्यापन वाले बॉक्स मे अपना आवेदन संख्या दर्ज कर देनी है।
  • आवेदन संख्या दर्ज  करने के बाद आपको खोजे के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने जानकारी प्रदर्शित हो जाएगी।

ध्यान दें: उत्तर प्रदेश राजस्व विभाग की ओर से जिन नागरिकों के जाति, आय प्रमाण पत्र 2015 से पहले के बने थे, अब उनका ऑनलाइन सत्यापन नहीं होगा। अब 2015 से पहले बने प्रमाण पत्र सत्यापन के लिए तहसील जाना होगा। प्रमाण पत्रों का सत्यापन संबन्धित जिले के सक्षम अधिकारी अपने अभिलेखों के आधार पर करेंगे।

हेल्पलाइन नंबर

हमारी वेबसाइट माध्यम से आपको यूपी जाति प्रमाण पत्र से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कर दी है। यदि इसके बाद भी आपको किसी भी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है, तो आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके अपनी सभी समस्याओं का समाधान कर सकते हैं। आप निम्न हेल्पलाइन नंबर तथा ई मेल आईडी के माध्यम से सहायता प्राप्त कर सकते हैं-

यह भी पढ़े – उत्तर प्रदेश ग्राम प्रधान, पंचायत /सरपंच चुनाव 2020 कब है? पात्रता, योग्यता पूरी जानकारी

हम उम्मीद करते हैं की आपको जाति प्रमाण पत्र से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

पूछे गए प्रश्नों के उत्तर

उत्तर प्रदेश
जाति
प्रमाण
पत्र
की
वैधता
कितनी
होती
है?

प्रदेश
सरकार द्वारा कुछ बदलावों के बाद इसकी
वैधता को 1 साल कर दिया गया
है। यदि आपने तत्काल सुविधा के द्वारा जाति
प्रमाण पत्र प्राप्त किया है तो इसके
वैधता 6 माध निर्धारित है।

अनुसूचित जाति/जनजाति
के
लिए
जाति
प्रमाण
पत्र
आवेदन
की
प्रक्रिया
क्या
है?

इस
श्रेणी के लिए आवेदन
प्रक्रिया में कोई बदलाव नहीं किये गए है आप
उपरोक्त लेख में दिए गए चरणों के
द्वारा ऑनलाइन आवेदन जमा करा है।

कितने दिनों
में
जाति
प्रमाण
पत्र
प्राप्त
किया
जा
सकता
है?

यह
पूरी तरह से आपके द्वारा
दिए गए दस्तावेजों के
सत्यापन पर निर्भर करता
है। इसके लिए कोई समय निश्चित नहीं है।

इस प्रमाण
पत्र
के
आवेदन
के
लिए
कौन-कौन
से
दस्तावेज
आवश्यक
है?

इसके
लिए आपका आधार कार्ड, पैन कार्ड तथा वोटर आईडी कार्ड अनिवार्य रूप से आवश्यक है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *