ऑनलाइन आवेदन, मजदूर भत्ता योजना


उत्तर प्रदेश मजदूर भत्ता योजना (UP Majdur Bhatta Yojana Apply Online), यूपी मजदूर भत्ता योजना फॉर्म, Majdur Bhatta Yojana in Hindi, यूपी प्रवासी श्रमिक भरण पोषण योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की जानकारी आपको इस लेख में प्रदान की जाएगी। उत्तर प्रदेश एक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण के समय में दिहाड़ी मजदूरो के लिए उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना (यूपी मजदूर भत्ता योजना) की शुरुआत की है।

इस योजना के तहत 15 लाख से अधिक दिहाड़ी मजदूरों तथा निर्माण क्षेत्र रिक्शा वाले, खोमचे वाले, रेहड़ी वाले, फेरी वाले, निर्माण कार्य करने वाले) के 20.37 लाख श्रमिकों को प्रति व्यक्ति 1,000 रुपये भत्ता (Allowance of Rs 1,000 per person) दिए जाने की बात कही गयी है। इस योजना के माध्यम से श्रमिकों की दैनिक भरण-पोषण की समस्याओ को कम करने की कोशिश की जाएगी। यहाँ इस लेख में हम आपको मजदूर भत्ता योजना ऑनलाइन आवेदन प्रकिया तहा लाभों के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

योगी मजदूर योजना- Yogi Majdur Yojana

प्रदेश सरकार द्वारा श्रम विभाग के अंतर्गत 15 लाख पंजीकृत मजदूरों को 1000 -1000 रूपये (Rs. 1000 -1000 to 15 lakh registered laborers) की धनराशि के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए बहुराष्ट्रीय कंपनियों के द्वारा अपने कर्मचारियों को घर से ही काम करने की छूट प्रदान की है।

UP Majdur Bhatta Yojana

कोरोना वायरस के संक्रमण के समय में मजदूरों के पास आय का कोई साधन उपलब्ध न होना की स्थिति में उत्तर प्रदेश में यूपी मजदूर भत्ता योजना के तहत नगर विकास के 16 लाख दिहाड़ी सफाई कर्मचारी ,58000 ग्राम सभाओ में 20 -20 मजदूर लिए जाने का फैसला लिया गया है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि सीधे लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किये जायेगे ।

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना

आप सभी जानते है की भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण तेइ से फैलता जा रहा है। इस स्थिति में दूसरे राज्यों में कार्य कर रहे श्रमिकों की प्रदेश में वापसी का सिलसिला बना हुआ है। इस मजदूर को प्रदेश में लौटने के बाद भरण-पोषण की समस्याओ का सामना करना पड़ रहा है। इस समस्या के समाधान के लिए यूपी श्रमिक भरण पोषण योजना की शुरुआत की गयी है।

माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा मुख्यमंत्री भरण पोषण योजना के अंतर्गत प्रेस ब्रीफिंग में  8,17,55,000 रुपए की धनराशि जारी की गई है। इस योजना के तहत 11 लाख से अधिक श्रमिकों के बैंक खाते में 1000 रूपये की सहायता राशि पहुंचाई गयी है। यह सहायता राशि श्रमिकों के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम स्थान्तरित की गयी है। इसके साथ ही मनरेगा और श्रम विभाग में पंजीकृत निर्माण श्रमिक एवं दिहाड़ी मजदूरों को एक माह का निशुल्क राशन भी मुहैया करवाया जा रहा है।

यूपी श्रमिक भावांतर भुगतान योजना के तहत हस्तांतरित निधि

प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते समय उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने बताया है कि जो दैनिक कार्य करने वाले विभिन्न श्रेणियों के मजदूर (रिक्शा चालक , खोमचे वाले, रेहड़ी वाले, फेरी वाले, निर्माण कार्य करने वाले ,ई-रिक्शा चालक और पोर्टर्स ) हैं, उन सभी मजदूरों को उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना 2020 के अंतर्गत अभी तक 8,17,55,000 रुपए की धनराशि प्रदान की गयी है। इसी प्रकार उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 11 लाख से अधिक निर्माण श्रमिकों के बैंक खाते में ₹1000 की आर्थिक सहायता प्रदान की है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा वीडियो कांफ्रेंस के जरिये यह भी बताया गया है कि राज्य में 1.65 करोड़ से ज्यादा लोगों को अन्त्योदय योजना, मनरेगा और श्रम विभाग में पंजीकृत निर्माण श्रमिक एवं दिहाड़ी मजदूरों को एक माह के लिए निशुल्क राशन भी प्रदान किया जायेगा, जिससे वे अपनी आजीविका को आगे बढ़ा सकें। इसी प्रकार में श्रम विभाग के अंतर्गत पंजीकृत 20.37 लाख श्रमिकों के भरण-पोषण के लिए डीबीटी के माध्यम से लाभार्थी के खाते में 1000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है।

Highlights of Yogi Majdur Yojana

योजना का नाममजदूर भत्ता योजना
आरम्भ की गईमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा
लाभार्थीप्रदेश के श्रमिक
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यश्रमिकों को भरण-पोषण के लिए आर्थिक मदद
लाभ1,000 की वित्तीय सहायता
श्रेणीउत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटuplabour.gov.in/

Uttar Pradesh Majdur Bhatta Yojana 2021 का उद्देश्य

आप सभी जानते है की भारत में कोरोना वायरस (COVID 19) के बढ़ते संक्रमण चलते मजदूरो का दूसरे राज्यो से पलायन का सिलसिला बना हुआ है। इस स्थिति में प्रदेश में लौटने वाले मजदूरों को काम नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में किसानो को भरण-पोषण की समस्याओ का सामना करना पड़ रहा है। इन सभी समस्याओ को देखते हुए मजदूर भत्ता योजना (Majdur Bhatta Yojana) की शुरुआत की गयी है।

इस योजना के अंतर्गत राज्य के गरीब दिहाड़ी मजदूर और निर्माण श्रमिक (रिक्शा वाले, खोमचे वाले, रेहड़ी वाले, फेरी वाले, निर्माण कार्य करने वाले) को यूपी सरकार द्वारा 1000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इसके साथ ही श्रमिकों के परिवार को 20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल सरकार मुफ्त में प्रदान किया जायेगा। इस प्रकार यह योजना श्रमिकों की समस्याओ को हल करने में मददगार साबित होगी।

योगी मजदूर योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • उत्तर प्रदेश सरकार की यह योजना में कोरोना वायरस (COVID 19) के बढ़ते संक्रमण के बीच श्रमिकों की भरण-पोषण सम्ब्नधि समस्याओ को हल करने का कार्य करेगी।
  • इस योजना के तहत पीडीएस के माध्यम से राज्य के बीपीएल परिवारों को 20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल सरकार मुफ्त में देगी।
  • लगभग 35 लाख मजदूरों को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मजदूर भत्ता योजना के तहत वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • उत्तर प्रदेश श्रम विभाग के तहत पंजीकृत मजदूरों को इस योजना के तहत लाभान्वित करने का कार्य किया जायेगा।
  • इस योजना में लाभार्थी श्रमिक को सहायता राशि का वितरण सीधे डीबीटी के माध्यम से किया जायेगा।
  • गरीब दिहाड़ी मजदूर और निर्माण श्रमिक (रिक्शा वाले, खोमचे वाले, रेहड़ी वाले, फेरी वाले, निर्माण कार्य करने वाले) को यूपी सरकार द्वारा 1000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • किसी भी प्रकार के भष्टाचार से बचने के लिए लाभार्थी को सहायता राशि सीधे बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर की जाएगी।
  • केवल उन मजदूरों को Uttar Pradesh Majdur Bhatta Yojana के तहत लाभान्वित किये जायेगा जो श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत हैं।
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बारे ने जानकारी देते हुए बताया की हमने मजदूर वर्ग के लोगो, ठेले वालो को तत्काल उपलब्ध कराने का फैसला लिया है।
  • इस बारे ने मुख्यमंत्री ने जानकारी देते हुए कहा की हमने प्रदेश में आइसोलेशन वार्ड बनाए हैं। इस वायरस से घबराने की नहीं, चुनौतियों से लड़ने की जरूरत है।

Yogi Majdur Yojana 2021 पात्रता मानदंड

इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको दिए गए पात्रता मानदंडों को अनिवार्य रूप से पूरा करना होगा।

  • केवल श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पन्जिक्र मजदूर को ही इस योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा।
  • वह पंजीकृत मजदूर जो उत्तर प्रदेश के स्थायी निवासी हैं केवल वह ही इस योजना के तहत आवेदन के लिए पात्र हैं।
  • आपके पास श्रम विभाग, नगर विकास या ग्राम सभाओं में से किसी का भी कोई पंजीकृत सर्टिफिकेट या दस्तावेज न होने की स्थिति में आप आवेदन नहीं कर पाएंगे।

योगी मजदूर भत्ता योजना में ऑफलाइन आवेदन कैसे करे?

उत्तर प्रदेश श्रम भत्ता योजना के लिए आपको ऑफलाइन मोड में आवेदन करना होगा, इसके लिए आपको दिए गए आसान से चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको अपने नगर निगम, नगर पालिका, नगर निकाय में जाकर आवेदन प्रपत्र को प्राप्त कर लेना है।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन प्रपत्र नगर निगम, नगर पालिका, नगर निकाय द्वारा प्रदान किये जायेंगे।
  • पटरी दुकानदार/ वेंडर, रिक्शा/ इक्का/ तांगा चालक, टेम्पो/ ऑटो/ ई रिक्शा चालक, दैनिक दिहाड़ी मजदूर/ मंडियो मे पल्लेदारी करने वाले / ठेलिया चलाने वाले, अन्य दैनिक कार्य करने वाले व्यक्ति आदि इस श्रेणी/वर्गों संबद्ध मे संलग्न प्रारूप पर उपलब्ध आवश्यकतानुसार वंचित संकलित सूचनाए ऑनलाइन फीड करने के लिए प्रत्येक नगर निगम मे नामित नोडल अधिकारी, नगर पालिका परिसद/ नगर पंचायत मे अधिशासी अधिकारी उत्तरदायी होंगे।
  • सभी जिलाधिकारियों के द्वारा ऑनलाइन फीड प्राप्त करने के लिए अपर जिलाधिकारी स्तर के एक अधिकारी को जिला स्तर पर नोडल अधिकारी तथा तहसील स्तर पर एक अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित किये जाएगा।
  • नगर निगम के स्तर पर नगर आयुक्त एवं जिला स्तर पर अधिकारी द्वारा स्थानीय निकाय क्षेत्र में दैनिक जीवन यापन करने वाले व्यक्तियों के विषय में सूचना प्रपत्र भरा जायेगा।
  • प्रष्ट 2 में अंकित श्रेणियों के अनुसार नगरीय स्थानीय निकायो मे पंजीकृत/ सत्यापित पटरी दुकानदार/ वेन्द्र्स की उपलब्ध सूची, रिक्शा चालक/इक्का, तांगा चालक की नगरीय स्थानीय निकायो मे उपलब्ध पंजीकृत सूची का प्रयोग किया जा सकता है।
  • दिहाड़ी मजदूरों के लिए श्रमिक अड्डों पर व्यक्तियों से सूचनाओं को एकत्रित करके सूचनाओ का संकलन किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त दैनिक रूप से जीवन यापन करने वाले अन्य व्यक्तियों के पंजीकृत संगठनो से भी संपर्क कर वांछित सूचनाए प्राप्त की जा सकती है।
  • इन सभी वांछित सूचनाओं को  निर्देशक ,स्थानीय निकाय द्वारा ऑनलाइन पोर्टल जल्दी जारी कर ऑनलाइन ऑनलाइन पोर्टल पर यूज़र आईडी एवं पासवर्ड जल्दी सभी जनपदों के जिलाधिकारियों को उपलब्ध कराया जायेगा। इस कार्यवाही को आगामी 15 दिनों के भीतर पूरा कर लिया जायेगा।

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

वह सभी इच्छुक श्रमिक जो इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं उन्हें दिए गए आसान से चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको उत्तर प्रदश श्रम विभाग (Labour Department) की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जायेगा।
मजदूर भत्ता योजना आवेदन
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको ऑनलाइन पंजीकरण और नवीनीकरण के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने कंप्यूटर और मोबाइल स्क्रीन पर एक नया पेज खुल जायेगा।
Majdur Bhatta Yojana Form
  • इस पेज पर आपको लॉगिन फॉर्म दिखाई देगा। आपको इस फॉर्म में “अभी पंजीकरण करें” के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा। इस पेज पर आपको “नया पंजीकरण” के बटन पर क्लिक कर देना है।
मजदूर भत्ता योजना रजिस्ट्रेशन
  • इसके बाद आप यूपी निवेश मित्र की आधिकारिक वेबसाइट पर रेडिरेक्ट हो जायेंगे। यहाँ आपको यूपी योगी मजदूर भत्ता योजना का लाभ लेने के लिए Entrepreneur Login सेक्शन में यहां रजिस्टर करें के बटन पर क्लिक कर देना है।
मजदूर भत्ता योजना
  • आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा। इस फॉर्म में आपको सभी आवश्यक जानकारियों जैसे: – नाम , मोबाइल ,आधार नंबर आदि को दर्ज कर देना है।
  • सभी जानकारियों को दर्ज करने के बाद आप अपने द्वारा दर्ज जानकारी की जांच के पश्चात् Submit के बटन पर क्लिक कर दे।

महत्वपूर्ण डाउनलोड

दैनिक मजदूरी जीवन यापन सूचना प्रपत्र पीडीएफ

यह भी पढ़े – उत्तर प्रदेश विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2021 फ्री ट्रेनिंग व टूल किट स्कीम

हम उम्मीद करते हैं की आपको श्रमिक भरण पोषण, मजदूर भत्ता योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

पूछे गए प्रश्नों के उत्तर

यूपी लेबर भत्ता से जुडी आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

यूपी लेबर भत्ता से जुडी आधिकारिक वेबसाइट- http://uplabour.gov.in है। आप इस वेबसाइट पर जाकर सभी प्रकार की जानकारी एकत्रित कर सकते हैं।

उत्तर प्रदेश मजदुर भत्ता योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को कितने रूपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी?

यूपी मजदुर भत्ता योजना के अनुसार लाभार्थियों को हर महीने 1000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

इस योजना के तहत मिलने वाली आर्थिक सहायता कैसे लाभार्थियों तक पहुंचाई जाएगी?

इस योजना के अनुसार लाभार्थियों के खाते में हर महीने आर्थिक सहायता पहुंचाई जाएगी, जिसके आपके पास बैंक खाता होना आवश्यक है और साथ ही खाता आपके आधार से लिंक होना भी अनिवार्य है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *