उत्तर प्रदेश भू नक्शा 2021 देखे | भूलेख नक्शा, ऑनलाइन मैप, शजरा रिपोर्ट

 UP Bhu Naksha 2021 | उत्तर प्रदेश भू नक्शा ऑनलाइन मैप | शजरा रिपोर्ट  देखें | उत्तर प्रदेश भूलेख नक्शा 2021 | UP Bhu Naksha in Hindi | यु पी भू नक्शा

राज्य सरकार द्वारा लोगों की सुविधा के लिए जमीन भू नक्शा को ऑनलाइन कर दिया है। जिससे उन्हें किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। अब जमीन का रिकॉर्ड ऑनलाइन आप अपनी जमीन का सारा नक्शा, जिसे भू नक्शा कहते हैं ऑनलाइन देख सकते हैं | आगे इस लेख में आप भू नक्शा सम्बंधित पूरी जानकारी का विस्तार में अध्ययन कर पाएंगे।

उत्तर प्रदेश भू नक्शा

UP Bhu Naksha 

लेख UP Bhu Naksha Online Service
जिलाउत्तर प्रदेश के सभी जिलों के लिए
विभागउत्तर प्रदेश राजस्व परिषद
वर्तमान वर्ष2021
ऑफिसियल वेबसाइटClick Here
संपर्क व हेल्पलाइन[email protected], 0522-2217145

UP Bhu Naksha का उद्देश्य

  • इस योजना से ये भी पता चल सकेगा की भूमि खेती योग्य है या नहीं। और किस जमीन पर कौन सी फसल अच्छी हो सकती है।
  • यूपी भूलेख नक्शा के उपयोग से किसान अपनी जमीन पर कृषि लोन भी ले सकते हैं।
  • किसान अच्छी पैदावार के लिए जमीन का प्रकार देख सकते हैं।
  • जमाबंदी नक़ल, मैप रिपोर्ट ऑनलाइन देखी जा सकती है।
  • उत्तर प्रदेश में जमीनी जानकारी डिजिटल होने के बाद धोखा धड़ी में कमी आएगी ।
  • अब आप आसानी से अपनी जमीन का व्योरा ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।
  • अब उत्तर प्रदेश भू नक्शा ऑनलाइन सुविधा के कारण आप घर बैठे अपने खेत, जमीन, या गावं का नक्शा देख सकते हैं। और रिपोर्ट डाउनलोड करना भी आसान हो गया है।

उत्तर प्रदेश भूलेख नक्शा के लाभ

  • अब आप अपनी जमीन का मैप नक्शा ऑनलाइन ले सकते हैं।
  • यदि आपको खाता संख्या और खसरा संख्या पता है, तो प्लाट की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।
  • अब जमीन के कागजात के लिए पटवारखाने के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।
  • जमीन के मालिक का नाम से भी आप जमीनी भू नक्शा प्राप्त कर सकते हैं।

उत्तर प्रदेश ऑनलाइन भू नक्शा देखें

जैसा की आप जानते ही हैं, की भू नक्शा जमीन का नक्शा होता है। खसरा नंबर से जमीन का पूरा नक्शा देख सकते हैं आगे आप इस लेख में भू नक्शा से जुड़ी हुई पूरी जानकारी निकालने की प्रक्रिया को विस्तार पूर्वक जान पाएंगे। जिससे आप अपने खेत के मैप, या किसी जमीन के मैं आपको अपने कंप्यूटर या मोबाइल या उसका प्रिंट आउट लेकर उसे अपने पास सुरक्षित रख सकते हैं। अतः नीचे दी गई प्रक्रिया से आप अपनी जमीन का व्योरा ऑनलाइन निकल सकते हैं।

भू नक्शा देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राजस्व विभाग द्वारा बनाये गए भू नक्शा पोर्टल पर जाना होगा। इस वेबसाइट में जाएं– Click Here
  • आधिकारिक वेबसाइट के खुलने के पश्चात आपको नीचे दिए गए विकल्पों का चयन करना होगा जो कि निम्न प्रकार से है–
    • राज्य – क्यों किया उत्तर प्रदेश की प्रक्रिया है इसलिए आपको राज्य का चयन नहीं करना पड़ेगा।
    • जिला – आपको जिस जिले का भू नक्शा देखना है उसका चयन करें।
    • तहसील – जिले के अंतर्गत आने वाली तहसील का चयन करें।
    • गांव – जिस गांव में आपको जमीन की जानकारी चाहिए उसका चयन करें।

ऊपर दी गई जानकारी का कैसे चयन करना है यह नीचे दी गई फोटो में आप देख सकते हैं-

उत्तर प्रदेश भू नक्शा

  • अब आपके सामने गांव का नक्शा आपके सामने आ जाएगा। आप इसमें अपना खाता / खेत /प्लाट खसरा नंबर देखना है।
  • नक्शा में अपने खाता संख्या में क्लिक करें।
  • अपना खाता संख्या वार जानकारी के चयन के बाद खातेदार का नाम और उसका पूरा विवरण, क्षेत्र का नक्शा सामने आ जायेगा।

उत्तर प्रदेश भू नक्शा

  • अब आप किसी भी जमीन का खेत जमीन का मैप / खसरा मेप देखके उसके डाउनलोड या प्रिंट कर सकते हैं।

UP Bhu Naksha डाउनलोड या प्रिंट करें

जैसे की ऊपर बताया गया है की नक्शा ऑनलाइन कैसे निकालें। जब आप अपना नक्शा निकल लेते हैं तो उसमे आपको Map Report का विकल्प मिलेगा। इसमें क्लिक करते ही नया पेज खुलकर आएगा। अब जैसे नीचे फोटो में बताया गया है उस प्रकार से आप इसको डाउनलोड करके प्रिंट कर लें।

उत्तर प्रदेश भू नक्शा

उत्तर प्रदेश भू नक्शा

१. यह प्रति मात्र जानकारी के लिए है l २. इसका न्यायालय में साक्ष्य के रूप में उपयोग नहीं किया जा सकता है l ३. भू-नक्शा की प्रमाणित प्रति के लिए कृपया जनपदीय अभिलेखागार से सम्पर्क करें l

उत्तर प्रदेश भूलेख नक्शा मोबाइल पर कैसे निकाले ?

भूमि नक्शा को मोबाइल एप (भू नक्शा एप्स) के द्वारा भी निकाला जा सकता है, या आप ऊपर दी गई प्रक्रिया से UP Bhu Naksha को सरकार की आधिकारिक वेबसाइट से निकाल सकते हैं। मोबाइल या कंप्यूटर में निकालने की प्रक्रिया एक जैसी है। बस अंतर यह है कि मोबाइल में सारी जानकारी देखने में थोड़ा सा टाइम लग जाता है।

उत्तर प्रदेश भूलेख नक्शा २०२१० देखने के लिए आपको खसरा नंबर होना जरूरी है, या आप भू स्वामी के नाम से भी ऐसे ढूंढ सकते हैं।  उत्तर प्रदेश भू नक्शे में आपको अलग रंग दर्शाए गए हैं जो कि आपकी भूमि के बारे में बताते हैं इसकी हम आपको नीचे दे रहे हैं कृपया ध्यान से देखें!

Land Type (भूमि प्रकार)Land Description (भूमि की जानकारी)
6-2Uncultivated land – स्थल, सड़कें, रेलवे,भवन और ऐसी दूसरी भूमियां जोअकृषित उपयोगों के काम में लायी जाती हो।
6-3कब्रिस्तान और श्मशान (मरघट) , ऐसेकब्रस्तानों और श्मशानों को छोड़ करजो खातेदारों की भूमि या आबादी क्षेत्र में स्थित हो।
5-1arable land (कृषि योग्य भूमि) – नई परती (परतीजदीद)
5-3-गकृषि योग्य बंजर – स्थाई पशुचर भूमि तथा अन्य चराई की भूमियाँ ।
5-3-ककृषि योग्य बंजर – इमारती लकड़ी केवन।
6-4जो अन्य कारणों से अकृषित हो ।
1ऐसी भूमि, जिसमें सरकार अथवा गाँवसभा या अन्य स्थानीय अधिकारिकी जिसे1950 ई. के उ. प्र. ज. वि.एवं भू. व्य. अधि.की धारा 117 – क के अधीन भूमि का प्रबन्ध सौंपा गया हो , खेती करता हो ।
1-कभूमि जो संक्रमणीय भूमिधरों केअधिकार में हो।
6-1Uncultivated land – जलमग्न भूमि ।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

UP Bhu Naksha ऑनलाइन कैसे देखें ?

उत्तर प्रदेश राजस्व विभाग की आधिकारिक वेबसाइट http://upbhunaksha.gov.in/ मैं जाकर आप जिला तहसील और गांव को चयन करके खसरा नंबर के द्वारा भू नक्शा डाउनलोड कर सकते हैं। अथवा आप upbhulekh.gov.in के द्वारा खाता विवरण में जाकर खाता संख्या को लिखकर वेबसाइट में जाकर मैप देख सकते हैं।

खेत का नक्शा देखने की प्रक्रिया क्या है?

इसे देखने के लिए आप अपने खेत का खसरा नंबर लेकर राजस्व विभाग (UP Naksha) की आधिकारिक वेबसाइट upbhulekh.gov.in में जाकर खाता विवरण से भी नक्शा निकाल सकते हैं।

उत्तर प्रदेश भू नक्शा  पोर्टल से क्या क्या जानकारी ली जा सकती है?

सरकार द्वारा चलाई जा रही इस सुविद्या के द्वारा आप अपनी भूमि का पूरा विवरण देख सकते हैं | और इसके साथ यह भी देख सकते हैं, की किस जमीन का मालिक कौन है, और इसके अलावा आप जमीन का प्रकार, शजरा, इत्यादि भी जान सकते हैं।

उत्तर प्रदेश भू नक्शा पोर्टल के किसी प्लाट की जानकारी कैसे ली जा सकती है?

यदि आप प्लाट खरीद या बेच रहे हैं, या इसमें अपनी जमीन या किसी और की जमीन का मालिकाना हक देखना चाहते हैं। तो इसके लिए आपके पास कुछ जानकारियां जैसे की खाता संख्या और खसरा संख्या का पता होना अनिवार्य है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *